Thursday, April 24, 2014

‘ग्रामीण डाक जीवन बीमा‘ में पूरे उत्तर प्रदेश में इलाहाबाद परिक्षेत्र अव्वल : 1 अरब 22 करोड़ 8 का बीमा

इलाहाबाद डाक परिक्षेत्र ने वित्तीय वर्ष 2013-14 में ‘ग्रामीण डाक जीवन बीमा‘ में पूरे उत्तर प्रदेश में सर्वाधिक व्यवसाय कर कीर्तिमान स्थापित किया है। डाक विभाग ग्रामीण क्षेत्र के लोगों  को बीमा कवरेज देने हेतु 1995 से ‘ग्रामीण डाक जीवन बीमा‘ सेवा दे रहा है। इलाहाबाद परिक्षेत्र के निदेशक डाक सेवाएं कृृष्ण कुमार यादव ने बताया कि गत वित्तीय वर्ष में इलाहाबाद परिक्षेत्र ने ग्रामीण लोगों  का 1 अरब 22 करोड़ 8 लाख रूपये का बीमा किया। श्री यादव ने बताया कि परिक्षेत्र में वर्तमान में 1,45,596 ग्रामीण लोगों का बीमा किया जा चुका है, जिनकी  कुल बीमित राशि लगभग 7 अरब 73 करोड़ है। ग्रामीण डाक जीवन बीमा का फोकस ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों पर है, जिनमें शिक्षा मित्र, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, किसान, मजदूर, प्राईवेट कर्मचारी इत्यादि शामिल हैं। 

 डाक निदेशक कृृष्ण कुमार यादव ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2013-14 में ’डाक जीवन बीमा’ के अन्तर्गत भी लोगों का 1 अरब 41 करोड़ 86 लाख रूपये का बीमा किया गया। इसके तहत वर्तमान में सरकारी/अर्द्ध सरकारी/सरकारी नियंत्रण वाली संस्थाओं के कर्मी बीमा के पात्र हैं। श्री यादव ने कहा  कि डाकघर की बीमा योजनाओं में निवेश की सुरक्षा पर सरकार की गांरटी, धारा 80 सी के तहत आयकर में छूट, कम प्रीमियम और अधिक बोनस, पाॅलिसी पर लोन की सुविधा, देश के किसी भी डाकघर में प्रीमियम जमा करने की सुविधा और 6 महीने के अग्रिम प्रीमियम पर 1 फीसदी की छूट, 12 माह अग्रिम जमा पर 2 फीसदी की छूट दी जाती है। जमा प्रीमियम पर किसी तरह का किसी प्रकार के एजेन्ट कमीशन का भार प्रस्तावक पर नहीं पड़ता है। 

इस वित्तीय वर्ष के बारे में चर्चा करते हुए डाक निदेशक कृृष्ण कुमार यादव ने कहा कि डाक विभाग ने इसके लिए जहाँ विभिन्न कार्यालयों व गाँवों में मेले लगाकर लोगों को जागरूक किया वहीं 105 गाँवों को सम्पूर्ण डाक बीमा ग्राम के रूप में शत-प्रतिशत अंगीकृत किया गया है। नये वित्तीय वर्ष के लिए अभी से अधिकाधिक लोगोें को बीमा कवरेज के तहत लाने पर भी उन्होंने जोर दिया।









Post a Comment