Friday, July 11, 2014

डाकघरों में उमड़ी प्रशिक्षु शिक्षक भर्ती (टीईटी) अभ्यर्थियों की भीड़

 डाकघरों  के माध्यम से टीईटी (प्रशिक्षु शिक्षक भर्ती) के प्रत्यावेदनों को भेजने के लिये अभ्यर्थियों की भीड उमड रही है। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में टीईटी (प्रशिक्षु शिक्षक भर्ती) अभ्यर्थियों को ऑनलाइन संशोधन का प्रत्यावेदन भरने के बाद उसकी फोटो कॉपी डाक से या फिर खुद संबंधित डायट पर जमा करना है। कई जिलों में आवेदन करने के कारण अभ्यर्थी अपना प्रत्यावेदन स्पीड पोस्ट से भेज रहे हैं। एक-एक अभ्यर्थी 20 से लेकर 40 स्पीड पोस्ट बुक कर रहे हैं। ऐसे में डाकघरों में अभ्यर्थियों की भारी भीड़ उमड़ रही है। आवेदकों  की सुविधा हेतु काउंटर्स की संख्या बढ़वाने से लेकर कार्य-समय तक डाकघरों में बढ़ा दिया गया है।  गौरतलब है कि अभ्यर्थियों को गलती सुधरवाने के लिए अपना प्रत्यावेदन 15 जुलाई तक संबंधित डायट केंद्रों पर भेजना है। 

इसके मद्देनजर इलाहाबाद परिक्षेत्र के निदेशक डाक सेवायें  कृष्ण कुमार यादव ने स्थिति की समीक्षा की और इलाहाबाद परिक्षेत्र के सभी प्रधान डाकघरों में अतिरिक्त काउन्टर खोले जाने के निर्देश दिये। चूँकि एक-एक अभ्यर्थी औसतन 20 से 40 तक स्पीड पोस्ट एक साथ बुक करा रहेे हैं, ऐसे में अभ्यर्थियों की डाकघरों में स्पीड पोस्ट व रजिस्ट्री बुकिंग के लिये बढती भीड को देखते हुए डाक विभाग ने काउन्टर आवर्स के दौरान पुलिस विभाग को पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था मुहैया कराने के लिये भी कहा है। श्री यादव ने कहा कि आवेदक अपने प्रत्यावेदन भेजने के लिये  किसी भी डाकघर से स्पीड पोस्ट बुक करा सकते हैं।  

डाक निदेशक  कृष्ण कुमार यादव ने आवेदकों से यह भी अपील की है कि मात्र प्रधान डाकघरों की बजाय अन्य उप डाकघरों से भी स्पीड पोस्ट एवं रजिस्ट्री की बुकिंग करायें। उन्होंने स्पष्ट किया कि प्रधान डाकघर ही नहीं बल्कि अन्य उपडाकघरों में बुक की गयी स्पीड पोस्ट डाक भी उसी दिन बिना किसी देरी के रेल डाक सेवा को भेज दी जाती है ताकि अगले गंतव्य के लिए वह रवाना हो सके। 

निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि आवेदकों को असुविधा न हो, इसके लिये सिविल लाइन्स स्थित इलाहाबाद प्रधान डाकघर में स्पीड पोस्ट व रजिस्ट्री बुकिंग के लिये 7  काउन्टर खोले गये हैं, जिसमें से एक सिर्फ महिलाओं के लिये है। ये काउन्टर सुबह 08 .00 बजे से शाम 9 .00 बजे तक कार्य करेंगे। अकेले इलाहाबाद में पिछले तीन दिनों में एक लाख से ज्यादा स्पीड पोस्ट बुक किये जा चुके हैं। जहाॅंँ सामान्य दिनों में शहर के डाकघरों में स्पीड पोस्ट की काउन्टर पर औसतन बुकिंग प्रतिदिन 5,000 होती है, वहीं 11  जुलाई को 60,000 से ज्यादा स्पीड पोस्ट बुक किये गये। आने वाले दिनों में इसकी और भी बढने की सम्भावना है। 

****************************************************************


समाज में शिक्षक का स्थान बड़ा ऊँचा है, पर शिक्षक बनने से पहले उन्हें तमाम अनुभवों से गुजरना पड़ता  है। इस समय उत्तर प्रदेश के पोस्ट ऑफिसेज में टीईटी (प्रशिक्षु शिक्षक भर्ती) अभ्यर्थी ऑनलाइन संशोधन का प्रत्यावेदन भरने के बाद उसकी फोटो कॉपी स्पीड पोस्ट से भेज रहे हैं।  एक-एक अभ्यर्थी 20 से लेकर 40 स्पीड पोस्ट बुक कर रहे हैं। ऐसे में डाकघरों में अभ्यर्थियों की भारी भीड़ उमड़ रही है। इन अभ्यर्थियों में से ही कुछेक 'भावी शिक्षक' बनेंगे !!


नारी-सशक्तीकरण समय की जरुरत है।  इसका सबसे सशक्त माध्यम सेवाओं में उनकी भागीदारी है। अपने भारत में शिक्षा व्यवस्था में काफी महिलाएं कार्यरत हैं। उत्तर प्रदेश में तमाम ऐसे प्राइमरी स्कूल मिल जायेंगे, जहाँ सारा दारोमदार शिक्षिकाओं पर ही है। ऐसे में डाकघरों  के माध्यम से प्रशिक्षुु शिक्षक चयन (बीटीसी) के प्रत्यावेदनों को भेजने के लिये महिला अभ्यर्थियों की भी काफी भीड उमड रही है। 


Post a Comment