Wednesday, December 24, 2014

डाक विभाग और स्नैपडील में हुआ करार : अब आनलाइन बुक होंगी बनारसी साडि़याँ, स्पीड पोस्ट से होगी तत्काल डिलिवरी

बनारसी साडि़याँँ पूरी दुनिया में मशहूर हैं। चाहे शादी-ब्याह का अवसर हो या अन्य कोई त्योहार, इन्हें खरीदने हेतु लोग दूर-दूर से आते हैं। कई बार वे मन मसोस कर भी रह जाते हैं कि, काश बनारसी साड़ी उन्हें मात्र एक क्लिक पर वाजिब दाम में उपलब्ध हो जाए। इसी प्रकार बुनकर भी चाहते हैं कि बिना किसी बिचैलिये के उनके काम की सराहना हो और उन्हें अपनी मेहनत का वाजिब मूल्य भी मिल सके।

इसी के मद्देनजर डाक विभाग अब बनारसी साड़ी के बुनकरों को एक प्लेटफार्म मुहैया कराएगा। इलाहाबाद परिक्षेत्र के निदेशक डाक सेवाएँ श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि डाक विभाग द्वारा बनारसी साड़ी के विक्रय हेतु मेसर्स स्नैपडील डॉट कॉम के सहयोग से एक आनलाइन पोर्टल की शुरुआत की जा रही है, जिसमें बुनकरों एवं फुटकर विक्रेताओं को सीधे उपभोक्ताओं के संपर्क में लाने के लिए प्लेटफार्म उपलब्ध कराया जाएगा। 'सुशासन दिवस' के अवसर पर 25 दिसंबर को आरम्भ हो रही इस योजना के अंतर्गत कोई भी व्यक्ति या फर्म बनारसी साड़ी व अन्य सम्बंधित उत्पादों  के ऑनलाइन विक्रय हेतु वाराणसी प्रधान डाकघर में अपने आपको पंजीकृत करा सकता है। श्री यादव ने बताया कि, पंजीकृत व्यक्ति/फर्म स्नैपडील डॉट कॉम के साथ मिलकर वस्तु का विक्रय मूल्य तय करेंगे एवं विक्रय हेतु वस्तु का विवरण (फोटोग्राफ एवं वस्तु के मूल्य सहित) स्नैपडील डॉट कॉम वेबसाइट पर उपलब्ध कराया जाएगा। जिससे देश-विदेश के किसी भी कोने में बैठा व्यक्ति उक्त वेबसाइट के माध्यम से अपने पसंद की बनारसी साड़ी हेतु अग्रिम भुगतान कर आनलाइन आर्डर कर सकेगा। उक्त आर्डर की प्राप्ति पर पंजीकृत व्यक्ति/फर्म एवं डाकघर को एक संदेश वेबसाइट के माध्यम से प्राप्त होगा जिसके उपरांत पंजीकृत व्यक्ति/फर्म उपभोक्ता की पसंद की उक्त वस्तु को डाकघर में लाकर स्पीड पोस्ट सेवा के माध्यम से उपभोक्ता को प्रेषित करेगा। स्पीड पोस्ट से भेजने पर त्वरित और सुनिश्चित वितरण की गारंटी रहेगी। 

डाक निदेशक श्री यादव ने कहा कि, यह भारतीय डाक विभाग की एक महत्वाकांक्षी योजना है और इसके तहत बुनकरों से कोई भी शुल्क नहीं लिया जायेगा।   इस योजना का उद्देश्य बुनकरों/कलाकारों  को अधिक से अधिक लाभ दिलाना एवं उपभोक्ताओं को उचित कीमत पर वास्तविक वस्तु उपलब्ध करना है।
                                                         *******************

















Post a Comment