Thursday, December 25, 2014

डाक विभाग की पहल : सुशासन दिवस पर शुरू की गयी बनारस के बुनकरों को देश भर से ऑनलाइन जोड़ने की योजना

डाक विभाग बनारसी साड़ी के बुनकरों को अपने उत्पादों की बिक्री के लिए ऑनलाइन प्लेटफार्म मुहैया कराएगा ताकि उनके काम की सराहना हो और उन्हें अपनी मेहनत का वाजिब मूल्य भी मिल सके। पिछले दिनों प्रधानमंत्री मोदी जी ने भी बनारस में ऐसी ही इच्छा व्यक्त की थी। इस सेवा का शुभारम्भ 25 दिसम्बर, 2014 को 'सुशासन दिवस' दिवस के अवसर पर विशेश्वरगंज स्थित वाराणसी प्रधान डाकघर में मुख्य अतिथि के रूप में इलाहाबाद क्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री एस० एफ०रिज़वी द्वारा,श्री कृष्ण कुमार यादव निदेशक डाक सेवाएं इलाहाबाद क्षेत्र की अध्यक्षता में आयोजित एक कार्यक्रम में किया गया। इससे पूर्व दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम में संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री श्री रविशंकर प्रसाद ने ऑनलाइन पोर्टल को औपचारिक रूप से लांच किया, जिसके पश्चात् वाराणसी प्रधान डाकघर में पोस्टमास्टर जनरल इलाहाबाद एवं डाक निदेशक ने ऑनलाइन आर्डर द्वारा बुक की गयी प्रथम वाराणसी साडी को यहाँ से स्पीड पोस्ट द्वारा बुक करा कर इसके क्रियान्वयन के शुभारम्भ की घोषणा की।

इस अवसर पर श्री एस०एफ० रिज़वी, पोस्टमास्टर जनरल इलाहाबाद क्षेत्र ने कहा कि डाक विभाग द्वारा बनारसी साड़ी के विक्रय हेतु मेसर्स स्नैपडील डॉट कॉम के सहयोग से एक आनलाइन पोर्टल की शुरुआत की गई है, जिसमें बुनकरों एवं फुटकर विक्रेताओं को सीधे उपभोक्ताओं के संपर्क में लाने के लिए प्लेटफार्म उपलब्ध कराया गया है। यह डाक विभाग की एक महत्वाकांक्षी योजना है और इस योजना का उद्देश्य बुनकरों/कलाकारों  को अधिक से अधिक लाभ दिलाना एवं उपभोक्ताओं को उचित कीमत पर वास्तविक वस्तु को देश के किसी भी कोने में, डाक विभाग के व्यापक नेटवर्क का उपयोग कर, वितरण सुनिश्चित करना है।स्पीड पोस्ट से भेजने पर त्वरित और सुनिश्चित वितरण की गारंटी रहेगी। श्री रिजवी ने कहा कि इस योजना के अंतर्गत कोई भी व्यक्ति या फर्म बनारसी साड़ी व अन्य सम्बंधित उत्पादों  के ऑनलाइन विक्रय हेतु वाराणसी प्रधान डाकघर में अपने आपको पंजीकृत करा सकता है। 

इस अवसर पर इलाहाबाद परिक्षेत्र के निदेशक डाक सेवाएँ श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि विश्व प्रसिद्ध बनारसी साड़ियों के ऑनलाइन व्यवसाय से काशी के साड़ी बुनकरों की कला अंतर्राष्ट्रीय फलक पर उभर कर सामने आएगी, जिससे आर्थिक समृद्धि के साथ ही साड़ी बुनकरों की प्रतिभा को भी सम्मान मिलेगा। श्री यादव ने कहा कि पंजीकृत व्यक्ति/फर्म स्नैपडील डॉट कॉम के साथ मिलकर वस्तु का विक्रय मूल्य तय करेंगे एवं विक्रय हेतु वस्तु का विवरण (फोटोग्राफ एवं वस्तु के मूल्य सहित) स्नैपडील डॉट कॉम वेबसाइट पर उपलब्ध कराया जाएगा। जिससे देश-विदेश के किसी भी कोने में बैठा व्यक्ति उक्त वेबसाइट के माध्यम से अपने पसंद की बनारसी साड़ी हेतु अग्रिम भुगतान कर आनलाइन आर्डर कर सकेगा।इससे बनारसीसाड़ियों की पहुँच जहाँ सहजता से सब तक हो सकेगी वहीँ बनारस की ख्याति में भी इजाफा होगा।

अतिथियों का स्वागत करते हुए प्रवर अधीक्षक डाकघर, वाराणसी पूर्वी मंडल श्री राजकिशोर ने कहा कि बनारस भारत की आध्यत्मिक एवं सांस्कृतिक राजधानी है और इस महत्वाकांक्षी योजना के शुरू होने से बनारसी साड़ियों की विश्व बाजार में मजबूत पैठ बनेगी।

इस अवसर पर अधीक्षक डाकघर, वाराणसी पश्चिम मंडल श्री एच० जी० वर्मा; सीनियर पोस्टमास्टर, वाराणसी प्रधान डाकघर, ओ० पी० सिंह, सहित डाक विभाग के तमाम अधिकारी कर्मचारी, स्नेपडील डॉट कॉम के प्रतिनिधि, पंजीकृत फर्मों के मालिक, बुनकर आदि लोग उपस्थित रहे।

***********************************














Post a Comment