Sunday, February 8, 2015

प्रधानमंत्री मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में डाक विभाग ने लगाया उत्तर प्रदेश में अपना पहला एटीएम : वाराणसी कैण्ट प्रधान डाकघर में संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने किया उद्घाटन

कोर बैंकिंग के बाद डाक विभाग ने अपने ग्राहकों को उन्नत सेवाएं उपलब्ध कराने की दिशाा में एक कदम और आगे बढ़ाते हुए अब ए.टी.एम. की सौगात दी है। उत्तर प्रदेश डाक परिमंडल  के पहले डाक ए.टी.एम. का शुभारम्भ वाराणसी कैण्ट प्रधान डाकघर में 08 फरवरी को श्री रवि शंकर प्रसाद,  संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री, भारत सरकार द्वारा एक भव्य कार्यक्रम में किया गया। इस अवसर पर श्री रवि शंकर प्रसाद द्वारा फीता काट कर एवं शिलापट्ट का अनावरण कर ए.टी.एम. सुविधा के शुभारम्भ की घोषणा की गयी।इस अवसर पर संचार मंत्री ने डाक विभाग को बैंकिंग लाइसेंस दिए जाने की  बात करते हुए कहा कि इस वर्ष के अंत तक उत्तर प्रदेश में कुल 88 एटीएम लगा दिए जायेंगे।

इस अवसर पर श्री रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि डाक विभाग भारत के सबसे पुराने विभागों में से है और इसका व्यापक नेटवर्क तमाम नये अवसर भी खड़ा करता है। उन्होंने कहा कि देश में जितने भी संगठन वित्तीय सेवाएं मुहैया कराते हैं, उनमें डाक विभाग की ही सबसे ज्यादा पहुँच ग्रामीण क्षेत्रों और पिछड़े एवं दूर-दराज के इलाकों में है। ऐसे में देश के सामाजिक-आर्थिक विकास में डाक विभाग की अहम भूमिका है। सरकार की प्राथमिकताओं में वित्तीय समावेश की अहमियत को रेखांकित करते हुए उन्होंने कहा कि देश के ग्रामीण क्षेत्रों में अभी भी डाक विभाग इसमें प्रमुख भूमिका निभाता है और ग्रामीण क्षेत्रों में व्यापक पहुँच की बदौलत ही सरकारी योजनाओं के एक बड़े हिस्से को डाकघरों के जरिए ही सुलभ कराया जा रहा है।  उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि ग्रामीण इलाकों में डाक विभाग कामन सर्विस सेंटर के रूप में अच्छी भूमिका निभा सकते हैं और इसके लिए ग्रामीण शाखा डाकघरों को भी हाईटेक किया जायेगा। 

संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री श्री रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि डाक विभाग में नई टेक्नालाॅजी का समावेश करने हेतु आईटी माॅडर्नाइजेशन प्रोजेक्ट चलाया जा रहा है।  इसके तहत आने वाले समय में ग्रामीण क्षेत्रों के सभी शाखा डाकघरों में भी काम आॅनलाइन होना शुरू हो जाएगा।  उन्होंने  कहा  कि भारतीय डाक विभाग का नेटवर्क विश्व में सबसे बड़ा नेटवर्क है और मुझे लगता है कि संचार क्रान्ति के बाद डाकघरों की यह नेटवर्किंग दूसरी बड़ी क्रान्ति होगी। श्री प्रसाद ने इस बात पर जोर दिया कि  आने वाले समय में डाक विभाग के सम्मुख जो चुनौतियाँ आ रही हैं उन्हें देखते हुए डाक विभाग में अब ई-कामर्स और अन्य नये व्यवसायों की ओर ध्यान देना होगा।  

  इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के रूप में  श्री राकेश भार्गव, दूरसंचार सचिव, भारत सरकार, श्री श्याम देव राय चौधरी, विधायक शहर दक्षिणी, श्री रविन्द्र नाथ जायसवाल, विधायक शहर उत्तरी, श्री आर एम श्रीवास्तव, मण्डलायुक्त वाराणसी मंडल भी उपस्थित रहे।  

कार्यक्रम के आरम्भ में उ.प्र. डाक परिमंडल की चीफ पोस्टमास्टर जनरल डाॅ सरिता  सिंह ने संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री श्री रविशंकर प्रसाद जी का स्वागत करते हुए डाक सेवाओं के क्षेत्र में उत्तर प्रदेश की अहमियत को रेखांकित किया। उन्होंने कहा कि बचत बैंक और बचत पत्रों से प्राप्त राजस्व के क्षेत्र में उत्तर प्रदेश भारत का सर्वाधिक राजस्व अर्जित करने वाला परिमण्डल है। 


आभार ज्ञापन इलाहाबाद क्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल कर्नल एस.एफ. रिजवी द्वारा किया गया।  कार्यक्रम का  संचालन निदेशक डाक सेवाएं, इलाहाबाद परिक्षेत्र  श्री कृष्ण कुमार यादव द्वारा किया गया।


Post a Comment