Tuesday, April 21, 2015

बेटियों को आर्थिक आजादी की जरूरत : जन्मदिन पर दें सुकन्या समृद्धि खाते का उपहार

भारत सरकार की लोकप्रिय एवं कल्याणकारी सुकन्या समृद्धि योजना  को प्रोत्साहित  करने हेतु एक मेला का आयोजन डाक विभाग के आरएमएस कार्यालय में किया गया। मेले का शुभारम्भ कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्री कृष्ण कुमार यादव, निदेशक डाक सेवाएं राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर एवं आमंत्रित विशिष्ठ अतिथि श्रीमती  भगवती देवी, प्राचार्य राजकीय उम्मेद कन्या सेकेंडरी स्कूल, डॉक्टर मोहन मकवाना, एसोसिएटेड प्रोफेसर एवं ज्ञानेश उपाध्याय, स्थानीय  सम्पादक राजस्थान पत्रिका के कर कमलों द्वारा दीप प्रज्जवलन कर किया गया। श्री कृष्ण कुमार यादव, निदेशक डाक सेवाएं ने बालिकाओं को पासबुकों का वितरण मौके पर ही किया।
इस अवसर पर अपने सारगर्भित सम्बोधन में राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के निदेशक डाक सेवाएं श्री कृष्ण कुमार यादव  ने 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' के अंतर्गत बालिकाओं  के राष्ट्र निर्माण पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए कहा कि सुकन्या समृद्धि योजना सिर्फ निवेश का एक माध्यम नहीं है, बल्कि यह बालिकाओं के उज्ज्वल व समृद्ध भविष्य से भी जुड़ा हुआ हैं। इस योज़ना के आर्थिक के साथ साथ सामाजिक आयाम महत्वपूर्ण हैं। इसमे जमा धनराशि पूर्णतया बेटियों के लिए ही होगी, जो उनकी शिक्षा, कैरियर  एवं विवाह में उपयोगी होगी। श्री यादव ने कहा कि 21 वीं  सदी में बेटियों की भूमिका अहम हो गई हैं और सुकन्या समृद्धि योज़ना बेटियों के सपनों को पूरा करने का सशक्त माध्यम हैं। उन्होने कहा कि.हर बेटी को उसके जन्म पर अभिभावकों द्वारा सुकन्या समृद्धि खाता उपहार स्वरूप देकर नई परम्परा का सूत्रपात करना चाहिये।

रेल डाक सेवा, जोधपुर के अधीक्षक श्री जेठमल जीनगर  ने अपने उदबोधन में बताया कि आरएमएस के इतिहास में यह पहला मौका है कि जहाँ इस प्रकार का बचत मेला का आयोजन हुआ है। मेले के दौरान तमाम नये समृद्धि खातों का लक्ष्य अर्जित हुआ है। एक सुकन्या समृद्धि खाता संख्या 16400071  सुश्री श्रेष्ठा  मकवाना के नाम खुला है, जो सर्वाधिक राशि रु॰ 21000/-  से  खुला है। 

कार्यक्रम के विशिष्ठ अतिथि श्रीमति भगवती देवी प्राचार्या एवं डॉ0 मोहन मकवाना, एसोसिएटेड प्रोफेसर, एस. एन. मेडिकल कॉलेज ने योजना की भूरि-भूरि प्रशंसा कर लोकप्रिय एवं कल्याणकारी योजना बताया तथा डाक विभाग द्वारा मेला आयोजन कर सेवा का महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर रहे है। विशिष्ठ अतिथि श्री ज्ञानेश उपाध्याय, स्थानीय  सम्पादक, राजस्थान पत्रिका ने अपने उद्बोधन में कहा कि बालिकाओं के आर्थिक सशक्तिकरण की दिशा में उठाया गया यह प्रयास एक मील का पत्थर साबित होगा। 

श्री पेमाराम मेवाड़ा प्रधान अभिलेख अधिकारी ने अतिथियों का स्वागत किया तथा श्री जीवनराम जाट पर्यवेक्षक ने धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम का  संचालन श्री दीपक कुमार कार्यालय पर्यवेक्षक मण्डल कार्यालय आरएमएस ने किया। इस अवसर पर डाक विभाग के तमाम अधिकारी-कर्मचारियों के साथ स्कूली बच्चे और उनके अभिभावक व अध्यापक भी शामिल हुए।



Post a Comment