Saturday, May 9, 2015

राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र के सौंवें सीबीएस डाकघर का जोधपुर स्थित नंदन वन डाकघर में उद्घाटन

 राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र के 100वें सीबीएस (कोर बैंकिंग सोल्यूशन) डाकघर का उद्घाटन जोधपुर डाक मण्डल स्थित नन्दनवन उपडाकघर में राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र की पोस्टमास्टर जनरल श्रीमती शिउली बर्मन और निदेशक डाक सेवाएँ श्री कृष्ण कुमार यादव द्वारा शिलापट्ट का अनावरण एवं फीता काटकर 08 मई 2015 को किया गया।  उद्घाटन पश्चात् अब यह डाकघर कोर बैंकिंग सोल्यूशन के अन्तर्गत फिनाॅकल साॅफ्टवेयर पर काम करेगा और मुम्बई स्थित सेन्ट्रल सर्वर से सीधे जुड़ जायेगा जिसके फलस्वरूप ग्राहकों को अब आॅनलाइन सेवा की सुविधा प्राप्त होगी।  इस अवसर पर डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने इलाहाबाद जीपीओ स्थित अपने खाते से यहाँ पैसे निकालकर सीबीएस लेनदेन की पुष्टि भी की।

इस अवसर पर राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र की पोस्टमास्टर जनरल श्रीमती शिउली बर्मन ने कहा कि डाक विभाग अपनी महत्वाकांक्षी परियोजना आईटी माॅडर्नाइजेशन प्रोजेक्ट के तहत् स्वयं को तकनीकी क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाते हुये ग्राहकों को वर्तमान परिप्रेक्ष्य के मद्देनज़र उच्च कोटि की सेवायें मुहैया करवाने के लिए कटिबद्ध है।  श्रीमती बर्मन ने बताया कि सीबीएस से जुड़ने के बाद खाताधारकों को भविष्य में आॅनलाइन बैंकिंग, मोबाईल बैंकिंग, नेट-बैंकिंग और एटीएम सुविधा इत्यादि का लाभ मिल सकेगा तथा माइग्रेशन के पश्चात् अब सभी खाते 10 नंबरों के हो जायेंगे और सभी ग्राहकों को कम्प्यूटराइज्ड पासबुक मिलेगी। श्रीमती बर्मन ने बताया कि शीघ्र ही बचे हुये डाकघरों का भी सीबीएस माइग्रेशन किया जायेगा, जिसके फलस्वरूप शहरी क्षेत्र के साथ-साथ ग्रामीण एवं दूर-दराज इलाकों में स्थित लोगों को भी सीबीएस के तहत् मिलने वाली सुविधाओं का फायदा मिल सकेगा।  


राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र के निदेशक डाक सेवाएं श्री कृष्ण कुमार यादव ने अपने सम्बोधन में कहा कि नन्दनवन उपडाकघर, राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र का सीबीएस से जुड़ने वाला 100वाँ डाकघर है।  उन्होंने बताया कि राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र में 14 और राजस्थान परिमण्डल में 32 डाकघरों के सीबीएस से जुडने के बाद राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र में कुल 109 डाकघर और पूरे राजस्थान में कुल 415 डाकघर आज सीबीएस से जुड़ जायेंगे। श्री यादव ने बताया कि सीबीएस के बाद नन्दनवन डाकघर में स्थित 26 हजार से ज्यादा खाताधारक लाभान्वित होंगे, जिनमें खाताधारकों के 55 करोड़ से ज्यादा रूपये जमा हैं।  श्री यादव ने इस अवसर पर कहा कि सीबीएस से जुड़ने पर अब बचत अभिकर्ताओं को भी सहूलियत होगी और वे पोर्टल पर जाकर घर बैठे लोगों का पैसा जमा कर सकेंगे और तद्नुसार उत्पन्न कोड डाकघर आकर बताने पर, वह लिंक हो जायेगा।  यही नहीं अब अभिकर्ताओं का कमीशन उनके डाकघर बचत खाता में सीधे जायेगा। 

कार्यक्रम में प्रवर डाक अधीक्षक जोधपुर श्री पी.आर. कडेला, सहायक निदेशक श्री कान सिंह राजपुरोहित, सहायक अधीक्षक डाकघर श्री तरूण कुमार शर्मा एवं विनय कुमार खत्री, डाक निरीक्षक श्री राजेन्द्र सिंह भाटी, सुदर्शन सामरिया, उपडाकपाल डी.एस. भाटी, एनआईएसजी प्रोजेक्ट एक्जीक्यूटिव श्री मनोज पानिग्राही सहित तमाम अधिकारी, कर्मचारी, बचत बैंक अभिकर्तागण एवं नागरिक उपस्थित थे।





Post a Comment