Saturday, August 8, 2015

Bay village in Jhunjhunu became the first 100% covered Sukanya Samriddhi Scheme village in Rajasthan

आज का दौर बेटियों का है। बेटियाँ समाज में नित नये मुकाम हासिल कर रही हैं। बेटियों की समृद्धि और खुशहाली में ही समाज का भविष्य टिका हुआ है। इसीलिए बेटियों की उच्च शिक्षा और उनके विवाह में सुविधा के लिए 10 वर्ष तक की बेटियों हेतु डाकघरों में सुकन्या समृद्धि योजना आरंभ की गयी है। उक्त उद्गार राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के निदेशक डाक सेवाएं श्री कृष्ण कुमार यादव ने झुंझुनू के नवलगढ़ स्थित बाय गाँव में सुकन्या समृद्धि योजना के लिये 7 अगस्त को आयोजित मेले में व्यक्त किये।


मुख्य अतिथि के रूप में अपने सारगर्भित सम्बोधन में राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के निदेशक डाक सेवाएं श्री कृष्ण कुमार यादव ने 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' के अंतर्गत बालिकाओं  के राष्ट्र निर्माण पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए कहा कि सुकन्या समृद्धि योजना सिर्फ निवेश का एक माध्यम नहीं है, बल्कि यह बालिकाओं के उज्ज्वल व समृद्ध भविष्य से भी जुड़ा हुआ हैं। इस योज़ना के आर्थिक के साथ साथ सामाजिक आयाम महत्वपूर्ण हैं। इसमे जमा धनराशि पूर्णतया बेटियों के लिए ही होगी, जो उनकी शिक्षा, कैरियर  एवं विवाह में उपयोगी होगी। श्री यादव ने कहा कि 21 वीं  सदी में बेटियों की भूमिका अहम हो गई हैं और सुकन्या समृद्धि योज़ना बेटियों के सपनों को पूरा करने का सशक्त माध्यम हैं। उन्होने कहा कि.हर बेटी को उसके जन्म पर अभिभावकों द्वारा सुकन्या समृद्धि खाता उपहार स्वरूप देकर नई परम्परा का सूत्रपात करना चाहिये।

इस अवसर पर झुञ्झुनू मण्डल के अधीक्षक डाकघर श्री के॰ एल॰ सैनी ने कहा कि यह स्कीम 10 साल तक की बच्चियों के लिए है। इसमें एक वित्तीय वर्ष में न्यूनतम 1,000 और अधिकतम डेढ़ लाख रूपये तक जमा किये जा सकते हैं। इस योजना में खाता खोलने से मात्र 14 वर्ष तक धन जमा कराना होगा। ब्याज दर 9.2 प्रतिशत हैं और जमा धनराशि में आयकर छूट का भी प्रावधान है।
    
कार्यक्रम की विशिष्ठ अतिथि श्रीमति तारा पूनिया, सरपंच बाय ग्राम पंचायत ने इस योजना की भूरि-भूरि प्रशंसा कर लोकप्रिय एवं कल्याणकारी योजना बताया तथा कहा कि बालिकाओं के आर्थिक सशक्तिकरण की दिशा में उठाया गया यह प्रयास एक मील का पत्थर साबित होगा। उन्होने कहा कि यह अत्यन्त ही सौभाग्य की बात हैं कि इस गाँव की 10 वर्ष तक की समस्त योग्य बालिकाओं के सुकन्या खाते खोलकर, उनका गाँव राजस्थान का प्रथम “सम्पूर्ण सुकन्या समृद्धि योजना ग्राम” बन गया हैं।    

इस दौरान बाय गाँव  की समस्त कुल 215 बालिकाओं के खाते खोले गये। इसके बाद झुंझुनू का बाय गाँव बना राजस्थान का प्रथम सम्पूर्ण सुकन्या समृद्धि योजना गाँव बन गया है। उपस्थित बच्चियों व उनके अभिवावकों को निदेशक डाक सेवाएं श्री कृष्ण कुमार यादव ने पासबुकें व उपहार देकर उनके सुखी व समृद्ध भविष्य की कामना की। इस अवसर पर डाक निदेशक के.के.यादव ने सरपंच श्रीमती तारा पूनियां के प्रयासों की सराहना की और आशा व्यक्त की कि बेटियों के लिए ऐसे प्रयास अन्य गांवों में भी किये जायेंगे। श्री यादव ने श्रीमती पूनियां को स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित भी किया।

        स्वागत संभाषण  झुञ्झुनू मण्डल के अधीक्षक डाकघर श्री के॰ एल॰ सैनी द्वारा, आभार ज्ञापन सहायक अधीक्षक डाकघर  श्री जी॰ एन॰ कनवाड़िया द्वारा एवं कार्यक्रम का संचालन श्री एस॰के॰ पोरवाल द्वारा किया गया। इस अवसर पर क्षेत्रीय कार्यालय जोधपुर के सहायक अधीक्षक पुखराज राठौड़ , निरीक्षक डाक राजेन्द्र सिंह भाटी, नवलगढ़ उप मंडल के निरीक्षक आर.पी.कुमावत, श्री अनिल मीणा, ब्रांच पोस्टमास्टर, बाय तथा डाक विभाग के तमाम अधिकारी-कर्मचारियों के साथ ग्रामवासी, स्कूली बच्चे और उनके अभिभावक व अध्यापक भी शामिल हुए।


















झुंझुनू का बाय गाँव बना राजस्थान का प्रथम सम्पूर्ण सुकन्या समृद्धि योजना गाँव।
साभार : दैनिक भास्कर, 8 अगस्त 2015 



बेटियाँ कर रही हैं मुकाम हासिल। 
साभार : राजस्थान पत्रिका, 8 अगस्त 2015 

Post a Comment