Saturday, June 11, 2016

DIGITAL INDIA : बैंक की तरह काम करेगा डाक विभाग, डाकियों को मिलेंगे मूविंग एटीएम

केन्द्र सरकार डाक विभाग के अंतर्गत भारतीय डाक भुगतान बैंक (पोस्टल पेमेंट बैंक) की स्थापना करने जा रही है। राजस्थान में इस योजना के तहत जोधपुर, जयपुर, अजमेर, बीकानेर, अलवर, सवाई माधोपुर, टोंक व दौसा सहित कुल 8 स्थानों का चयन किया गया है। जोधपुर में शास्त्रीनगर प्रधान डाकघर में पेमेंट बैंक मार्च 2017 से कार्य करने लगेगा।

पोस्टल पेमेंट बैंक ग्रामीण इलाकों में बैंकिंग सुविधाएं उपलब्ध कराएगा। इसके लिए अधिकारियों और कर्मचारियों की अलग से नियुक्ति होगी। इस योजना के तहत देश भर में सितंबर 2017 तक 670 शाखाओं में पेमेंट बैंक शुरू किए जाएंगे। डाक विभाग देश में पोस्टल पेमेंट बैंक के साथ 5 हजार एटीएम भी स्थापित करेगा। अभी डाक विभाग के देश में 900 से अधिक एटीएम हैं। इन एटीएम का उपयोग बैंक के खाताधारक भी कर सकेंगे।

डाकियों को मिलेंगे हैण्ड हैल्ड डिवाइस
डाक विभाग की ओर से ग्रामीण सूचना व संचार प्रौद्योगिकी कार्यक्रम लागू किया जाएगा, यह अलवर जिले से शुरू होगा। इसके अंतर्गत डाकियों को शीघ्र ही हैंड हेल्ड डिवाइस और मोबाइल दिए जाएंगे। ये डिवाइस मूविंग एटीएम की तरह काम करेंगे। कोई भी ग्रामीण इस डिवाइस से पैसा निकाल व जमा कर सकेगा। साथ ही विभिन्न तरह के बिलों का भुगतान व ऑनलाइन शॉपिंग की जा सकेगी।


बैंक जैसा बैंक होगा
पोस्टल पेमेंट बैंक में लोगों को अलग से खाता खोलना पड़ेगा। इसमें एक व्यक्ति अधिकतम 1 लाख रुपए रख सकेगा। बैंक से यह दो मामले में भिन्न होगा। एक तो पेमेंट बैंक से लोन नहीं मिलेगा, दूसरा यह क्रेडिट कार्ड जारी नहीं करेगा। पोस्टल पेमेंट बैंक से डाक विभाग देश भर के सुदूर ग्रामीण हिस्सों तक अपने 1.50 लाख डाकघरों के जरिये पहुंच बनाएगा।

-कृष्ण कुमार यादव, निदेशक डाक सेवाएं, राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर


Post a Comment