Thursday, October 27, 2016

राजस्थान के सर्वोच्च पर्वत शिखर 'गुरु शिखर' और 'नक्की झील' पर डाक विभाग ने जारी किया विशेष आवरण (लिफाफा) और विरूपण




माउण्ट आबू में स्थित 'गुरु शिखर'  राजस्थान ही नहीं, अरावली पर्वत श्रृंखला की सबसे ऊंची चोटी है। प्राकृतिक सुंदरता के साथ-साथ एक धार्मिक, सांस्कृतिक और आध्यात्मिक केंद्र के रूप में भी विख्यात माउण्ट आबू को राजस्थान का स्वर्ग माना जाता है। उक्त उद्गार राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के निदेशक डाक सेवाएं श्री कृष्ण कुमार यादव ने डाक विभाग द्वारा माउंट आबू में आयोजित दो दिवसीय डाक टिकट प्रदर्शनी 'आबूपेक्स-2016'  के  दौरान 25 अक्टूबर  2016 को राजस्थान के सर्वोच्च पर्वत शिखर 'गुरु शिखर' पर एक विशेष आवरण (लिफाफा) और विरूपण  जारी करते हुए कहा। 



डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव  ने कहा कि गुरु शिखर पर बना मंदिर भगवान विष्णु के अवतार दत्तात्रेय को समर्पित है तो यहाँ स्थित पीतल की घंटी माउंट आबू को देख रहे संतरी का आभास कराती है। स्वास्थ्यवर्धक जलवायु के साथ पौराणिक परिवेश से परिपूर्ण गुरु शिखर जीवन को नए अर्थ भी देता है। ऐसे में  5 रूपये मूल्य वर्ग में जारी इस विशेष आवरण को देश के तमाम प्रमुख फिलेटलिक ब्यूरो  में उपलब्ध कराया जायेगा।

डाक टिकट प्रदर्शनी के पहले दिन आबू स्थित नक्की झील और सेण्ट मेरीज हाई स्कूल पर भी विशेष आवरण (लिफाफा) और विरूपण  जारी किए गए।





कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में पधारे श्री सुरेश थिंगर, सभापति नगर पालिका आबू ने कहा कि डाक विभाग की यह अनूठी पहल माउन्ट आबू को पर्यटन की दृष्टि से नए आयाम देगी। 

इस अवसर पर सिरोही  मंडल के  डाक अधीक्षक श्री  देवाराम पुरोहित, जॉर्ज मैथ्यू, प्रधानाचार्य, सेंट जोसेफ स्कूल, आबू, ज्यूरी सदस्य  श्री जगत किशोर परिहार  व श्री आर.के. भूतड़ा, सहायक डाक अधीक्षक अक्खा राम, डाक निरीक्षक मुकेश कुमार, पारसमल सुथार, पोस्टमास्टर आबू जे.एल. माली, वी.के. दवे, जी.एस. मिश्र सहित तमाम फिलेट्लिस्ट, स्कूली विद्यार्थी और प्रबुद्धजन उपस्थित थे।



Post a Comment