Tuesday, July 4, 2017

डाक विभाग के रूरल आईसीटी प्रोजेक्ट के तहत ग्रामीण शाखा डाकघर भी हुए ऑनलाइन व हाईटेक



डाक विभाग अब गाँव में स्थित शाखा डाकघरों को भी इण्डिया पोस्ट के ''आई. टी. मॉडर्नाइजेशन प्रोजेक्ट-2012'' के तहत ''रूरल आईसीटी'' के अंतर्गत हाईटेक करने जा रहा है। इसी क्रम में राजस्थान में सिरोही डाक मंडल के अधीन माउंट आबू डाकघर में आयोजित एक कार्यक्रम में राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के निदेशक डाक सेवाएँ श्री कृष्ण कुमार यादव ने ग्रामीण शाखा डाकघरों के पोस्टमास्टरों को “ग्रामीण सूचना एवं संचार टेक्नोलोजी” (रूरल आईसीटी) के क्रियान्वयन हेतु हैण्डहेल्ड डिवाइस प्रदान किये। डिवाइस मिलने के बाद अब ग्रामीण डाक सेवक ऑनलाइन कार्य कर सकेंगे और लेखा कार्यालय पर उनकी निर्भरता समाप्त होगी। इससे उनके कार्यों में तत्परता आएगी और सूचनाओं का आदान-प्रदान ऑनलाइन हो सकेगा।



डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि इन हैंडहेल्ड डिवाइस में मोबाइल थर्मल प्रिन्टर, स्मार्ट कार्ड रीडर, फिंगर प्रिन्ट स्कैनर, डिजिटल कैमरा एवं सिगनेचर व दस्तावेज स्कैनिंग के लिये स्कैनर सुविधा भी मुहैया कराई गई है। शाखा डाकघरों को नियमित पॉवर सप्लाई  हेतु सोलर चार्जिंग उपकरण भी मुहैया कराये गए हैं। डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि प्रोजेक्ट के प्रथम फेज में इसे राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र के पाँच मंडलों-सिरोही, पाली, नागौर, बीकानेर एवं श्रीगंगानगर  में आरम्भ किया गया है।   इसके द्वारा आने वाले दिनों में ग्रामीण डाक सेवकों सहित विभाग के सभी कर्मचारियों को आई. टी. के माहौल में प्रभावकारी तरीके से कार्य करने के लिए तैयार करना है।

इस अवसर पर शाखा डाकपालों से रूबरू होते हुए निदेशक डाक सेवाएँ श्री कृष्ण कुमार यादव ने  कहा कि रूरल आईसीटी का उद्देश्य ग्रामीण स्तर पर विभाग के सबसे महत्वपूर्ण अंग ग्रामीण डाक सेवकों को तकनीकी सुविधाओं से लैस कर ग्रामीण भारत में नवीन टेक्नोलोजी के माध्यम से आमजन की सुविधाओं में बढ़ोतरी करना है।  यह  प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के "डिजिटल इण्डिया" मिशन को भी पूरा करता है। इसके अंतर्गत सिरोही डाक मंडल के सभी 394 ग्रामीण शाखा डाकघरों को हैंडहेल्ड डिवाइस प्रदान कर ग्रामीण क्षेत्र में भी डिजिटल क्रांति का शुभारम्भ किया गया है।


मिलेंगी ये सुविधाएँ -
डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि हैण्डहेल्ड डिवाइस में सीबीएस, ई-मनीऑर्डर, एवं  नरेगा एप्प डाले हुए हैं। सीबीएस एप्प के माध्यम से शाखा डाकघरों में ही तुरंत बचत खाते, आवर्ती जमा खाते और टाइम डिपॉजिट खाते खोले जा सकते हैं और उनमें तय सीमा के अंतर्गत तुरंत लेन-देन किया जा सकता है। खाते का मिनी स्टेटमेंट भी तत्काल प्राप्त किया जा सकेगा तथा पासबुक अपडेशन की चिंता से मुक्ति मिलेगी। पहले इस कार्य के लिए सम्बंधित लेखा कार्यालय में जाने पर ग्रामीणों के खाते खुलने और लेन-देन सम्बन्धी कार्यों में देरी होती थी। इसके अलावा कोई व्यक्ति अगर ग्रामीण क्षेत्र में मनीऑर्डर भेजता है तो तत्काल वह मनीऑर्डर सम्बंधित शाखा डाकघर में पहुंचकर उसी दिन वितरित हो जायेगा। पहले यह  मनीऑर्डर लेखा कार्यालय के माध्यम से गुजरता था, जिससे देरी की सम्भावना बनी रहती थी।  मनरेगा की राशि भी शाखा डाकघरों से डिवाइस के माध्यम से  खाते में ऑनलाइन  डिपॉजिट होकर सम्बंधित हितग्राही को तुरंत प्राप्त हो जाएगी।



निकट भविष्य की सुविधाएँ-
निकट भविष्य में सरकार की तमाम जनकल्याणकारी योजनाएं शाखा डाकघरों के माध्यम से क्रियान्वित होने की संभावनाएं हैं, इससे डायरेक्ट बेनिफिट ट्रान्सफर योजना का लाभ ग्रामीण जनता तक सरल तरीके से पहुँच पायेगा। साथ ही ये हैण्ड हेल्ड डिवाइस  मिनी एटीएम के रूप में भी कार्य करेंगी और ई-केवाईसी के माध्यम से भविष्य में घर बैठे आधार कार्ड के माध्यम से बचत खाता खुलवाया जा सकेगा।

इस अवसर पर  सिरोही डाक मंडल के अधीक्षक डाकघर श्री डी. आर. पुरोहित ने कहा कि सिरोही डाक मंडल के अंतर्गत सभी 394 शाखा डाकपालों को हैण्डहेल्ड डिवाइस चलाने की ट्रेनिंग दे दी गई है।  इससे ग्रामीण क्षेत्रों में भी डाक विभाग की सेवाएँ त्वरित रूप से मिलने लगेंगी।

इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में डाक विभाग के सहायक अधीक्षक श्री बी. एस. राजपुरोहित, श्री अखाराम एवं निरीक्षक डाक श्री पारसमल सुथार, डाकपाल माउंट आबू जयंती लाल माली सहित तमाम अधिकारी-कर्मचारी, ग्रामीण डाक सेवक, बचत एजेंट और सम्मानित नागरिकजन उपस्थित थे।

(Mr. Krishna Kumar Yadav, Director Postal Services, Rajasthan Western Region, Jodhpur providing Hand held devices to Branch Postmasters for roll out of Rural ICT (Information & Communication technology) in Branch Post Offices under India Post IT Modernization Project-2012)

( ग्रामीण डाकघर भी हुये हाइटेक)

(डाकघरों को किया जाएगा अपडेट, लगेंगे अत्याधुनिक उपकरण -डाक निदेशक  कृष्ण कुमार यादव)







(ग्रामीण शाखा डाकघर भी हुए हाईटेक  : डाक निदेशक के. के. यादव ने शाखा डाकपालों को दी हैण्डहेल्ड डिवाइस) 


ग्रामीण  शाखा डाकघर  होंगे अब ऑनलाइन

               हैण्डहेल्ड डिवाइस के माध्यम से शाखा डाकघर बनेंगे ग्रामीण क्षेत्र में डिजिटल क्रांति के वाहक

गाँव के  डाकघर होंगे ऑनलाइन

ग्रामीण  डाकघर भी अब होंगे ऑनलाइन

Post a Comment