Tuesday, August 29, 2017

IT Modernisation Project in Post Offices : डाककर्मियों की सर्विस बुकों का होगा डिजिटलाइजेशन, छुट्टियाँ व अन्य सर्विस रिकॉर्ड भी होंगे ऑनलाइन अपडेट

भारतीय डाक विभाग द्वारा आई.टी. मॉडर्नाइजेशन प्रोजेक्ट के अंतर्गत 'कोर सिस्टम इंटीग्रेशन' के परिप्रेक्ष्य में पाँच  दिवसीय कार्यशाला का आयोजन रीजनल ऑफिस, जोधपुर में किया गया। कार्यशाला  का शुभारम्भ राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के निदेशक डाक सेवाएँ श्री कृष्ण कुमार यादव ने 28 अगस्त, 2017  को किया। कार्यशाला में राजस्थान के विभिन्न क्षेत्रों से आये डाक अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने भाग लिया। टाटा कंसल्टेशन सर्विसेज (टीसीएस) के प्रतिनिधि द्वारा प्रोजेक्ट पर विस्तृत जानकारी दी गई, जो कि इस प्रोजेक्ट के लिए डाक विभाग का  सर्विस प्रोवाइडर भी है।   
इस अवसर पर राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के निदेशक डाक सेवाएँ श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि सीएसआई (कोर सिस्टम इंटीग्रेशन) प्रोजेक्ट लागू हो जाने के पश्चात डाक विभाग पूर्ण रूप से डिजिटल हो जाएगा। इसके तहत समस्त कर्मचारियों की सर्विस बुकों का डिजिटलाइजेशन किया जा रहा है और प्रोजेक्ट के लागू हो जाने के पश्चात कर्मचारियों की छुट्टियाँ एवं अन्य सर्विस रिकॉर्ड भी ऑनलाइन अपडेट होंगे। मेल ऑपरेशन, वित्त व् लेखा, इन्वेंटरी प्रक्योरमेंट, लॉजिस्टिक्स पोस्ट, एच. आर. और पे-रोल जैसे तमाम कार्य कोर सिस्टम इंटीग्रेशन के माध्यम से संपन्न होंगे। श्री यादव ने कहा कि अभी तक ऑपरेशनल स्तर पर डाकघरों को हाईटेक किया गया है, अब प्रशासनिक कार्यालयों को भी  सीएसआई के तहत हाईटेक किया जायेगा। सीएसआई  प्रोजेक्ट लागू होने से सभी सेवाओं के लिए एक कॉमन प्लेटफॉर्म उपलब्ध होगा जिसके द्वारा ग्राहकों को अच्छी और त्वरित सेवाएं मिलेंगी। 
डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि राजस्थान में  इस प्रोजेक्ट की शुरुआत अक्टूबर  माह में होगी। इसमें जयपुर स्थित चीफ पोस्टमास्टर जनरल कार्यालय,  निदेशक डाक लेखा, जयपुर डाक मंडल व् रेल डाक सेवा, जयपुर को 3 अक्टूबर को कोर सिस्टम इंटीग्रेशन प्रोजेक्ट के तहत रोलऑउट किया जायेगा। जोधपुर क्षेत्र   में 9 अक्तूबर को पोस्टमास्टर जनरल कार्यालय और पाली मंडल से रोल आउट की शुरुआत होगी और दिसंबर 2017 के अंत तक राजस्थान के समस्त डाकघरो में सीएसआई (कोर सिस्टम इंटीग्रेशन) लागू किया जाएगा। जोधपुर मंडल में 20 नवंबर को रोल आउट किया जायेगा। गौरतलब है कि इस प्रोजेक्ट को महाराष्ट्र, कर्नाटक एवं तेलंगाना के चयनित कार्यालयों में पायलट फेज में लागू किया जा चुका है। 
कार्यशाला में परिमंडल कार्यालय जयपुर, निदेशक डाक लेखा कार्यालय, जयपुर,  क्षेत्रीय कार्यालय जोधपुर एवं अजमेर के अलावा विभिन्न डाक मंडलों के अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने भाग लिया। इस अवसर पर सहायक निदेशक  ईशरा राम,  बी. आर. राठौड़, सहायक अधीक्षक  राजेंद्र सिंह भाटी, निरीक्षक  पारसमल सुथार,  विनोद पुरोहित, जितेंद्र गर्ग सहित तमाम अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहे।
डाक विभाग होगा पूरी तरह से डिजिटल, कर्मचारियों का सर्विस रिकार्ड ऑनलाइन होगा अपडेट, अक्टूबर से होगी शुरुआत 
डाक विभाग द्वारा 'कोर सिस्टम इंटीग्रेशन' पर आयोजित कार्यशाला का डाक निदेशक कृष्ण कुमार  यादव ने किया शुभारम्भ 
डाककर्मियों की सर्विस बुकों का होगा डिजिटलाइजेशन, छुट्टियाँ व  अन्य सर्विस रिकॉर्ड भी होंगे ऑनलाइन अपडेट
Post a Comment