Friday, November 17, 2017

डाक विभाग की पहल : 'बेटी बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' के तहत सीकर के 15 गाँव बने सम्पूर्ण सुकन्या समृद्धि ग्राम, रेटा गाँव बना 15 वाँ ग्राम

आज का दौर बेटियों का है । बेटियाँ समाज में नित नये मुकाम हासिल कर रही हैं । बेटियाँ पढेंगी तो बेटियां बढ़ेंगी, पर इसके लिए जरुरी है कि उनकी उच्च शिक्षा के लिए पर्याप्त प्रबंध किये जाएँ । 'बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ' के तहत  डाकघरों में आरम्भ सुकन्या समृद्धि योजना से बेटियों का भविष्य संवरेगा।

उक्त उदगार राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के निदेशक डाक सेवाएं श्री कृष्ण कुमार यादव ने मुख्य अतिथि के रूप में सीकर जिले के रेटा गाँव को “सम्पूर्ण सुकन्या समृद्धि योजना ग्राम” घोषित करने के अवसर पर 4  नवंबर को आयोजित कार्यक्रम में व्यक्त किये । इसके अलावा सिहोट बड़ी, गोवटी, पृथ्वीपुरा एवं डाँसरोली गाँव को भी “सम्पूर्ण सुकन्या समृद्धि ग्राम” घोषित किया गया । श्री यादव ने कहा कि सभी योग्य 125 बालिकाओं के सुकन्या खाते खोलकर सीकर  के पन्द्रहवाँ एवं राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र के 116 वें  “सम्पूर्ण सुकन्या समृद्धि योजना ग्राम” के रूप में रेटा गाँव, अन्य गाँवों के लिए एक नजीर बनेगा।


डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने  कहा कि सुकन्या समृद्धि योजना सिर्फ निवेश का एक माध्यम ही नहीं है, बल्कि यह बालिकाओं के उज्ज्वल व समृद्ध भविष्य से भी जुड़ा हुआ है । इस योज़ना के आर्थिक के साथ-साथ सामाजिक आयाम भी महत्वपूर्ण हैं । इसमे जमा धनराशि पूर्णतया बेटियों के लिए ही होगी, जो उनकी शिक्षा, कैरियर  एवं विवाह में उपयोगी होगी ।
डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि डाक विभाग का उद्देश्य समावेशी विकास के तहत शहरों के साथ-साथ सुदूर ग्रामीण अंचल स्थित लोगों को भी सभी योजनाओं के तहत लाना है ।  ग्रामीण सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी प्रोजेक्ट के तहत सीकर के ग्रामीण शाखा डाकघरों को भी शीघ्र हाईटेक किया जायेगा और वहाँ पर  हैण्डहेल्ड डिवाइस  दिया जायेगा । इसके तहत  शाखा डाकघरों को ऑनलाइन और डिजिटल बनाने के लिए सोलर चार्जिंग उपकरणों से जोडने के साथ-साथ मोबाइल थर्मल प्रिन्टर, स्मार्ट कार्ड रीडर, फिंगर प्रिन्ट स्कैनर, डिजिटल कैमरा एवं सिगनेचर व दस्तावेज स्कैनिंग के लिये यन्त्र भी मुहैया कराया जायेगा ताकि ग्रामीण लोगों को इन सुविधाओं के लिये शहरों की तरफ न भागना पडे और घर बैठे ही वे अपना भुगतान प्राप्त कर सकें । 

इस अवसर पर सीकर  मण्डल के अधीक्षक डाकघर बी. आर. भिराणिया ने कहा कि सुकन्या समृद्धि योजना में अब तक सीकर में कुल 21,000 से अधिक बालिकाओं के खाते खोले जा चुके हैं एवं इस वित्तीय वर्ष में ज्यादा से ज्यादा बालिकाओं  को सुकन्या समृद्धि योजना से जोड़ा जायेगा । रेटा गाँव की  सरपंच श्रीमती दीपा गहलोत ने कहा कि बालिकाओं के आर्थिक सशक्तिकरण की दिशा में उठाया गया यह प्रयास एक मील का पत्थर साबित होगा । ग्रामवासियों के लिए यह अत्यन्त गर्व की बात है कि  “सम्पूर्ण सुकन्या समृद्धि योजना ग्राम” बनकर रेटा गाँव  “बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ” अभियान को मूर्त रूप दे रहा है। इस अवसर पर डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने बालिकाओं को पासबुकें व उपहार देकर उनके सुखी व समृद्ध भविष्य की कामना की ।


इस अवसर पर जिला परिषद सदस्य ममता सिंह, प्रधानाचार्य उमाशंकर चेजारा, सहायक डाक अधीक्षक मोहन लाल बिजारणिया, राजेंद्र सिंह भाटी, डाक निरीक्षक संदीप पुनिया, विकास सैनी, प्रहलाद राय मील, राजेन्द्र सैनी, विनोद कुमार, पोस्टमास्टर सीकर सी. आर. चौधरी, जनसंपर्क निरीक्षक वीरेंद्र कुमार सिंह, शाखा डाकपाल श्री सीता राम सैनी, सुरेन्द्र शर्मा,  सहित तमाम  अधिकारी-कर्मचारी, स्थानीय जनप्रतिनिधि व ग्रामवासी उपस्थित रहे ।




सुकन्या समृद्धि योजना से सँवरेगा बेटियों का भविष्य-डाक निदेशक कृष्ण कुमार यादव 
Post a Comment