Thursday, November 9, 2017

Prime Minister's 'Digital India' & 'Financial inclusion' are playing important role in Post Offices

डाक विभाग प्रधानमंत्री मोदी जी की "डिजिटल इण्डिया" और "वित्तीय समावेशन" संकल्पना को समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुँचाने के लिए प्रतिबद्ध है। देश के हर कोने में, हर दरवाजे पर डाक विभाग की पहुँच है और वह लोगों के सुख-दुःख में बराबर रूप से जुड़ा हुआ है। डाक सेवाएं नवीनतम टेक्नोलोजी अपनाते हुए नित्य नए आयाम रच रही हैं। उक्त उद्गार बतौर मुख्य अतिथि श्री कृष्ण कुमार यादव, निदेशक डाक सेवाएं, राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर ने 6 नवंबर, 2017  को सीकर  में आयोजित वृहद डाक मेले में व्यक्त किये।

इस अवसर पर डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि डाक विभाग ने टेक्नोलोजी  के साथ अपने को अपडेट करते हुये कस्टमर-फ्रेंडली सेवाओं का दायरा भी बढ़ाया है। शहरी से लेकर ग्रामीण स्तर तक डाक सेवाओं में आमूलचूल परिवर्तन किए गए हैं। डाकघरों में पवित्र गंगाजल बिक्री, एलईडी बल्ब, ट्यूब लाइट, पंखों की अनुदानित दर पर बिक्री, सोवेरन गोल्ड बॉन्ड, पोस्ट शोपी, माई स्टैम्प, शाखा डाकघरों में स्पीड पोस्ट की बुकिंग, इंटरनेशनल ट्रैक्ड पैकेट सर्विस, डाकघरों में आधार कार्ड अपडेट जैसी तमाम अभिनव पहल की गई हैं। 

डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि ई-कामर्स को बढ़ावा देने हेतु कैश ऑन डिलीवरी, लेटर बाक्स से नियमित डाक निकालने हेतु नन्यथा मोबाईल एप, डाकियों द्वारा एण्ड्रोयड बेस्ड स्मार्ट फोन आधारित डिलीवरी, शाखा डाकघरों को ग्रामीण संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी के तहत  हाइटेक बनाने जैसे तमाम कदम विभाग की "डिजिटल इण्डिया" के तहत की गई पहल हैं। डाकघरों में कोर इंश्योरेंस, कोर बैंकिंग, एटीएम जैसी तमाम आधुनिक सेवाओं के बाद अब इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक भी आरंभ किया जाएगा। 
वित्तीय समावेशन की पहल पर डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि डाकघरों में हर वर्ग और उम्र के हर पड़ाव के लिए अलग-अलग बचत और बीमा योजनाएँ हैं और इनमें लोग पीढ़ी दर पीढ़ी पैसे जमा करते हैं। सुकन्या समृद्धि योजना के साथ-साथ देश में मुख्यधारा से वंचित लोगों व उनके परिवारों को आर्थिक सुरक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से आरम्भ अटल पेंशन योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना एवं प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना के सफलतापूर्वक क्रियान्वयन में भी डाकघरों द्वारा  सक्रिय भूमिका के निर्वहन का श्री यादव ने उल्लेख किया। 

कार्यक्रम में श्री अरुण कुमार माथुर, अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी, सीकर ने कहा कि डाक विभाग भारत सरकार के सबसे पुराने विभागों में से है जो आज भी जन सरोकारों से जुड़ा हुआ है। 

सीकर मंडल के डाक अधीक्षक  बी. आर. भिरानिया  ने बताया कि मेले के दौरान 3073 बचत बैंक खाते, 1015 सुकन्या समृद्धि खाते, 1010 प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, 102 अटल पेंशन योजना, 101 प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना, 5 - 5 लाख रुपये डाक जीवन बीमा व ग्रामीण डाक जीवन बीमा का न्यू प्रीमियम एवं 111 माई स्टैम्प  शीट का व्यवसाय अर्जित किया गया। 
डाक निदेशक कृष्ण कुमार यादव  ने इस अवसर पर तमाम योजनाओं  के लाभार्थियों को पासबुक/बॉन्ड प्रदान किये एवं उत्कृष्ट कार्य करने वाले डाक कर्मचारियों को भी सम्मानित किया। इस दौरान डाकघरों के खातों को आधार से जोड़ने हेतु कैम्प भी लगाया गया, ताकि  आसानी से अपने खातों को आधार से लिंक करा सकें। 
इस अवसर पर सहायक डाक अधीक्षक मोहन लाल बिजारणिया, राजेंद्र सिंह भाटी, डाक निरीक्षक ताराचंद पुरोहित, संदीप पुनिया, विकास सैनी, प्रहलाद राय मील, राजेन्द्र सैनी, विनोद कुमार, पोस्टमास्टर सीकर सी. आर. चौधरी, जनसम्पर्क निरीक्षक वीरेंद्र सिंह, सहित तमाम अधिकारी-कर्मचारी, बचत अभिकर्तागण  व नागरिकजन उपस्थित थे।




Prime Minister's 'Digital India' & 'Financial inclusion' are playing important role in Post Offices
Post a Comment