Sunday, February 18, 2018

डाक विभाग की पहल : राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र का 202वां सुकन्या समृद्धि ग्राम बना बीकानेर का कोलासर गाँव

आज का दौर बेटियों का है। बेटियाँ समाज में नित नये मुकाम हासिल कर रही हैं। बेटियाँ पढेंगी तो बेटियां बढ़ेंगी, पर इसके लिए जरुरी है कि उनकी उच्च शिक्षा के लिए पर्याप्त प्रबंध किये जाएँ। 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' के तहत ही डाकघरों में सुकन्या समृद्धि योजना आरंभ की गयी है। उक्त उदगार राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के निदेशक डाक सेवाएं श्री कृष्ण कुमार यादव ने मुख्य अतिथि के रूप में बीकानेर जिले के कोलासर गाँव को “सम्पूर्ण सुकन्या समृद्धि योजना ग्राम” घोषित करने के अवसर पर 17 फरवरी, 2018 को आयोजित कार्यक्रम में व्यक्त किये। श्री यादव ने कहा कि सभी योग्य 126 बालिकाओं के सुकन्या खाते खोलकर राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र के 202 वें “सम्पूर्ण सुकन्या समृद्धि योजना ग्राम” के रूप में कोलासर गाँव अन्य गाँवों के लिए एक नजीर बनेगा।


डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने  कहा कि सुकन्या समृद्धि योजना सिर्फ निवेश का एक माध्यम नहीं है, बल्कि यह बालिकाओं के उज्ज्वल व समृद्ध भविष्य से भी जुड़ा हुआ है। इस योज़ना के आर्थिक के साथ साथ सामाजिक आयाम भी महत्वपूर्ण हैं। इसमे जमा धनराशि पूर्णतया बेटियों के लिए ही होगी, जो उनकी शिक्षा, कैरियर  एवं विवाह में उपयोगी होगी। यह योजना बालिकाओं के सशक्तिकरण के द्वारा भविष्य में महिला सशक्तिकरण को भी बढ़ावा देगी। डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने  बताया  कि राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के अधीन डाकघरों में बालिकाओं के लगभग 2 लाख 10 हजार सुकन्या समृद्धि खाते खोले गए हैं, जिनमें  करीब 123 करोड़ रूपये जमा हुए हैं। 


डाक निदेशक श्री क़ृष्ण कुमार यादव ने कहा कि कोर बैंकिंग सेवा से जुड़ने के बाद डीबीटी (प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण) योजना के तहत अब डाकघर बचत खातों में 'गैस सब्सिडी' और 'प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना' की राशि भी जमा होगी। 'गैस सब्सिडी'  हेतु खाताधारक को आधार नंबर के साथ एक सहमति पत्र भर कर देना होगा जिससे डाकघर बचत खाते को एलपीजी सब्सिडी हेतु अधिकृत किया जा सके। इसी प्रकार 'प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना' के अंतर्गत सरकार पहले जीवित बच्चे के जन्म के लिए गर्भवती और स्तनपान करने वाली माताओं को 5,000 रुपए की सहायता प्रदान करवाएगी। इसके लिए माताओं को डाकघर में बचत खाता खुलवाकर आधार नंबर से अपडेट करवाना होगा। डाक निदेशक कृष्ण कुमार यादव ने उपभोक्ताओं से  डाकघर में खुले अपने बचत खाते को आधार और मोबाइल नंबर से शीघ्र जुड़वाने की अपील की, जिससे भविष्य में आने वाली सभी सरकारी योजनाओं का लाभ ग्राहकों को मिल सके। मोबाइल नंबर को खातों में जुडवाने से प्रत्येक जमा एवं निकासी की सूचना भी एसएमएस द्वारा उनके मोबाइल पर आ जाएगी।
इस अवसर पर बीकानेर डाक मण्डल के अधीक्षक डाकघर श्री जी. एन. कनवारिया ने कहा कि बीकानेर डाक मंडल में सुकन्या समृद्धि योजना के अब तक कुल 15 हजार खाते खोले गए हैं,जिनमें लगभग 11 करोड़ 16 लाख रूपये जमा किये गए हैं। उन्होंने कहा कि बीकानेर जिले में  दस गाँवों को सम्पूर्ण सुकन्या समृद्धि गाँव घोषित किया जा चुका है और  इस वित्तीय वर्ष के अंत तक ज्यादा से ज्यादा बालिकाओं को सुकन्या समृद्धि योजना से जोड़ा जायेगा।
कोलासर गाँव की सरपंच श्रीमती रेखा मेघवाल ने कहा कि ग्रामवासियों के लिए यह अत्यन्त गर्व की बात है कि  “सम्पूर्ण सुकन्या समृद्धि योजना ग्राम” बनकर कोलासर गाँव  “बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ” अभियान को मूर्त रूप दे रहा है।  इस अवसर पर पूर्व सरपंच कोलासर ग्राम पंचायत श्री राधेश्याम उपाध्याय एवं भाजपा देहात बीकानेर के महामंत्री श्री आसकरण उपाध्याय ने भी सम्बोधित किया। 

इससे पूर्व कोलासर गाँव पहुँचने पर ग्रामवासियों ने डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव का फूल-मालाओं से स्वागत कर कोलासर गाँव को संपूर्ण सुकन्या समृद्धि ग्राम बनाने पर स्वागत किया और आभार जताया। 
इस अवसर पर डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने बालिकाओं को पासबुकें व उपहार देकर उनके सुखी व समृद्ध भविष्य की कामना की। इस अवसर पर सहायक डाक अधीक्षक देवीलाल सहारण, मीनू पारीक, राजेंद्र सिंह भाटी,डाक निरीक्षक अरुण कुमार सोलंकी,कमल गुप्ता,शाखा डाकपाल छोटमल पाईवाल सहित तमाम अधिकारीगण, स्थानीय जनप्रतिनिधि और ग्रामवासी उपस्थित रहे।
Post a Comment