Monday, October 10, 2016

‘राष्ट्रीय डाक सप्ताह’ के तहत डाक निदेशक कृष्ण कुमार यादव ने किया ‘बचत बैंक दिवस’ का शुभारम्भ

डाक विभाग द्वारा 'राष्ट्रीय डाक सप्ताह' के तहत 10 अक्टूबर को  बचत बैंक दिवस के रूप में मनाया गया । इस अवसर पर डाक विभाग द्वारा शास्त्री नगर मुख्य डाकघर, जोधपुर  में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जहाँ राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के निदेशक डाक सेवाएँ श्री कृष्ण कुमार यादव मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद रहे।

बचत बैंक दिवस का शुभारम्भ करते हुए राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के निदेशक डाक सेवाएँ श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि डाक विभाग का उद्देश्य समावेशी विकास के तहत शहरों के साथ-साथ सुदूर ग्रामीण अंचल स्थित लोगों को भी बचत योजनाओं के तहत लाना है। डाकघरों को भी अब कोर बैंकिंग सोल्यूशन (सी.बी.एस.) से जोड़ा जा रहा है। इण्डिया पोस्ट पेमेंट बैंक खुलने के बाद ग्रामीण स्तर पर भी बैंकिंग क्षेत्रों में क्रान्तिकारी कदम का सूत्रपात होगा।

डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि आज भी डाकघरों की बचत योजनाएं सर्वाधिक लोकप्रिय हैं और इनमें लोग पीढ़ी दर पीढ़ी पैसे जमा करते हैI डाकघरों में हर वर्ग और उम्र के हर पड़ाव के लिए अलग-अलग बचत  योजनाएँ हैं। राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र के डाकघरों  में  विभिन्न तरह के  77  लाख और  सुकन्या समृद्धि योजना में  1 लाख 32 हजार से ज्यादा खाते संचालित हैं। सुकन्या समृद्धि योजना बेटियों के सपनों को पूरा करने का सशक्त माध्यम है। राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के 10 गाँवों को शत-प्रतिशत सुकन्या समृद्धि ग्राम बनाया जा चुका है।  श्री यादव ने कहा कि अभी भी देश में मात्र 54 फीसदी महिलाओं के बचत खाते हैं, ऐसे में  महिलाओं के डाकघर में ज्यादा से ज्यादा खाते खोलकर उन्हें आर्थिक सशक्तिकरण से जोड़ने का प्रयास किया जायेगा। हर बेटी को उसके जन्म पर माँ-बाप  द्वारा सुकन्या समृद्धि खाता उपहार स्वरूप देकर नई परम्परा का सूत्रपात करने की भी जरूरत है।

डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव  ने कहा कि यह सुखद संयोग है कि नवरात्र और राष्ट्रीय डाक सप्ताह एक साथ  मनाया जा रहा है। नवरात्र नारी-सशक्तिकरण का प्रतीक है और डाक विभाग भी नारी-शक्ति और सुकन्याओं के प्रति बेहद संवेदनशीलता के साथ उनके सामाजिक और आर्थिक सशक्तिकरण के लिए तमाम बचत योजनाएं संचालित कर रहा है। श्री यादव ने लोगों अपील की कि इस नवरात्र में नौ कन्याओं का पूजन उनका सुकन्या समृद्धि योजना खाता खुलवाकर करें।

जोधपुर  मंडल के प्रवर डाक अधीक्षक श्री बी. आर. सुथार  ने कहा कि डाकघरों में निवेश की तमाम योजनायें हैं, जिनमें बचत खाता, आवर्ती जमा, सावधि जमा, मासिक आय योजना, पी. पी. एफ., सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम एवं राष्ट्रीय बचत पत्र व किसान विकास पत्र में निवेश किया जा सकता है।

इस मौके पर सीनियर पोस्टमास्टर श्री एल. एस. पटेल  ने कहा कि डाकघरों की बचत योजनाओं में ब्याज दर अन्य संस्थानों की अपेक्षा बेहतर है और जमा धन भी पूर्णतया सुरक्षित है।



डाक मेले के दौरान बचत योजनाओं के 3571, सुकन्या समृद्धि योजना के 311, अटल पेंशन योजना के 142, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के 356 खाते खोले गए। इस अवसर पर डाक निदेशक श्री यादव ने बालिकाओं को सुकन्या समृद्धि योजना की पासबुक सौंप करके उनके समृद्ध भविष्य की कामना कीI 

इस अवसर पर डाक उपधीक्षक आर. पी. कुशवाहा, सहायक अधीक्षक पुखराज राठौड़, मूल सिंह, उदय शेजू,  राजेन्द्र सिंह भाटी, निरीक्षक रमेश जांगिड़, देवी चंद्र कटारिया, पोस्टमास्टर, शास्त्रीनगर मुख्य डाकघर  महेश कुमार शर्मा सहित डाक विभाग के तमाम अधिकारी-कर्मचारी, बचत अभिकर्तागण व नागरिकजन उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन सहायक अधीक्षक विनय कुमार खत्री  ने किया।


(कन्याओं का सिर्फ पूजन ही नहीं, बल्कि सुकन्या समृद्धि योजना के तहत उनके खाते खुलवाकर भी उनका भविष्य सुनिश्चित करने की पहल। जोधपुर में आज इसके तहत 311 बालिकाओं के  सुकन्या समृद्धि खाते खुलवाए गए।) 




Post a Comment