Wednesday, July 3, 2024

International day of Yoga : Participate in creation of a healthy India by adopting yoga in regular lifestyle - Postmaster General Krishna Kumar Yadav

10वां 'अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस' समारोह 21 जून, 2024 को डाक विभाग द्वारा विभिन्न मंडलों और डाकघरों में उत्साहपूर्वक मनाया गया। वाराणसी कैण्ट प्रधान डाकघर परिसर में  पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव के नेतृत्व में डाक अधिकारियों और कर्मियों ने योगाभ्यास किया। इस अवसर पर उन्होंने योग को अपनाकर स्वस्थ भारत के निर्माण में सहभागी बनने और डाक विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों को नियमित योगाभ्यास कर इसे अपनी नियमित जीवन शैली में जोड़ने पर जोर दिया। योग प्रशिक्षक डॉ. एस.आर. सिंह ने इस अवसर पर योगा प्रोटोकाल के तहत विभिन्न आसनों की महत्ता बताते हुए योगाभ्यास कराया।








पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने अपने उदबोधन में कहा कि योग वस्तुत: अनुशासित जीवन जीने का विज्ञान है। योग के माध्यम से स्वयं एवं समाज के शारीरिक व मानसिक स्वास्थ्य की रक्षा कर उनका सशक्तिकरण किया जाना है। इस 'अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस' को  'योग स्वयं और समाज के लिए' की थीम को समर्पित कर इसे चरितार्थ भी किया गया है। योग हमारी प्राचीन परंपरा का एक अमूल्य उपहार है। 'योग: कर्मसु कौशलम्' के माध्यम से भारतीय संस्कृति की इस अमूल्य और विलक्षण धरोहर को वैश्विक स्तर पर अपनाया गया है। आज के भौतिकवादी युग में योग न केवल निरोग रहने का साधन है, बल्कि मानवता के संरक्षण का प्रबल अवलंबन भी है। योग मन और शरीर, विचार और क्रिया की एकता का प्रतीक है जो मानव कल्याण के लिए मूल्यवान है। 



इस अवसर पर वाराणसी पश्चिमी मंडल के अधीक्षक डाकघर  विनय कुमार ने कहा कि, योग न सिर्फ हमें नकारात्मकता से दूर रखता है अपितु हमारे मनोमस्तिष्क में अच्छे विचारों का निर्माण भी करता है।

इस अवसर पर सहायक निदेशक ब्रजेश शर्मा,आरके चौहान, लेखाधिकारी प्लाबन नस्कर, सहायक डाक अधीक्षक इन्द्रजीत पाल, पल्ल्वी मिश्रा, निरीक्षक अनिकेत रंजन, दिलीप पाण्डेय, रमेश यादव, कैण्ट पोस्टमास्टर गोपाल दुबे  के साथ श्री प्रकाश गुप्ता, रामचंद्र यादव, राकेश कुमार, राहुल वर्मा, मनीष कुमार, पंकज सिंह, शम्भू कुमार, अभिलाषा  सहित तमाम लोग उपस्थित रहे।

Yoga is the science of living a disciplined life - Postmaster General Krishna Kumar Yadav

Postal Department celebrated 'International  day of Yoga’ with enthusiasm

Participate in creation of a healthy India by adopting yoga in your regular lifestyle - Postmaster General Krishna Kumar Yadav

The 10th 'International day of Yoga' was celebrated with enthusiasm by the Postal Department. Officials of Dept. of Posts performed yoga under the leadership of Postmaster General Shri Krishna Kumar Yadav in Varanasi Cantt. Head Post Office premises. On this occasion, he emphasized on participating in the creation of a healthy India by adopting yoga and the officials of the Postal Department should include it in their regular lifestyle by practicing yoga regularly. Yoga instructor Dr. S.R. Singh conducted yoga practice on this occasion, explaining the importance of various asanas under the Yoga Protocol.

Postmaster General Shri Krishna Kumar Yadav said in his address that yoga is actually the science of living a disciplined life. Through yoga, we have to protect the physical and mental health of ourselves and the society and empower them. This 'International  day of Yoga’ has been dedicated to the theme 'Yoga for self and society'. Through 'Yoga: Karmasu Kaushalam', this priceless and unique heritage of Indian culture has been adopted at the global level. In today's materialistic era, yoga is not only a means of staying healthy, but also a strong support for the protection of humanity. Yoga is a symbol of unity of mind and body, thought and action, which is valuable for human welfare.

On this occasion, Supdt. of Post Offices, Varanasi west Division Sh. Vinay Kumar said that yoga not only keeps us away from negativity but also creates good thoughts in our mind.

On this occasion Assistant Director Brajesh Sharma, RK Chauhan, Accounts Officer Plaban Naskar, ASPOs Indrajit Pal, Pallavi Mishra, Inspector Aniket Ranjan, Dilip Pandey, Ramesh Yadav, Cantt Postmaster Gopal Dubey and other officials were present.










योग को नियमित जीवन शैली में अपनाकर स्वस्थ भारत के निर्माण में बनें सहभागी -पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव

डाक विभाग ने उत्साहपूर्वक मनाया 'अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस'

अनुशासित जीवन जीने का विज्ञान है योग - पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव

Friday, June 21, 2024

Farmers can withdraw PM Kisan Samman Nidhi installment at door step through Postman - Postmaster General KK Yadav

As Prime Minister Shri Narendra Modi released the highly anticipated 17th instalment of the 'Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi Yojana' in 'Kisan Samman sammelan' program organized in Varanasi on 18th June, the beneficiaries farmer and their families were delighted. Prime Minister transferred  Rs. 20,000 crore to the accounts of more than 9 crore beneficiary farmers across the country through DBT. Now, these farmers can withdraw this amount from their bank accounts directly at their doorstep. Postmaster General of Varanasi and Prayagraj Region Mr. Krishna Kumar Yadav said that beneficiary farmers can withdraw the DBT amount received in their bank accounts through postman at their doorstep. For this, farmers need not to visit any bank branch or ATM. An amount of up to Rs. 10,000 can be withdrawn in a day from any Aadhaar linked bank account through Aadhaar Enabled Payment System at doorstep. The Post Office does not charge any fee for this.


Under the Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi, beneficiary farmers receives financial assistance of Rs 6,000 every year. This amount is transferred to their bank accounts through DBT in three instalments of Rs 2,000 each at an interval of every 4 months.

“Farmers can withdraw the DBT amount received in their bank accounts under 'Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi' through the postman at their doorstep. An amount of up to Rs 10,000 can be withdrawn in a day through Aadhaar Enabled Payment System. They do not have to visit to any bank or ATM for the same” - Postmaster General Mr. Krishna Kumar Yadav




प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के लिए बैंक या एटीएम जाने की जरुरत नहीं, घर बैठे डाकिया के माध्यम से प्राप्त करें राशि - पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने वाराणसी में आयोजित 'किसान सम्मान सम्मेलन' में 18 जून, 2024 को ज्यों ही 'प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि' योजना की बहुप्रतीक्षित 17वीं किस्त जारी की तो किसानों और उनके परिवारजनों की बांछें खिल गईं।  प्रधानमंत्री ने एक क्लिक से डीबीटी माध्यम से देशभर के 9 करोड़ से अधिक लाभार्थी किसानों के बैंक खातों में सीधे 20 हजार करोड़ की धनराशि ट्रांसफर की। अब लाभार्थी किसान घर बैठे इस राशि को तुरंत प्राप्त कर सकते हैं।

 इस संबंध में जानकारी देते हुए वाराणसी एवं प्रयागराज परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि विभिन्न बैंकों के अपने खातों  में प्राप्त डीबीटी राशि को किसान घर बैठे डाकिया और ग्रामीण डाक सेवक के माध्यम से निकाल सकते हैं। इसके लिए किसानों को किसी बैंक की शाखा या एटीएम पर जाने की जरुरत नहीं होगी। देश के किसी भी बैंक में स्थित मोबाईल और आधार लिंक्ड खाते से घर बैठे आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम के माध्यम से एक दिन में ₹10 हजार तक की राशि निकाली जा सकती है। इसके लिए डाक विभाग द्वारा कोई शुल्क नहीं लगेगा।    

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि किसानों की वित्तीय जरूरतों को पूरा करने के लिए फरवरी, 2019 में शुरू की गई थी। इसके तहत लाभार्थी किसानों को एक साल में ₹6,000 की राशि दी जाती है। लाभार्थी किसानों को ये राशि हर 4 महीने के अंतराल पर तीन किस्तों में दो-दो हजार रुपये करके उनके खातों में डीबीटी माध्यम से ट्रांसफर की जाती है।

'प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना' के तहत अपने खातों में प्राप्त डीबीटी राशि को लाभार्थी किसान घर बैठे डाकिया और ग्रामीण डाक सेवक के माध्यम से निकाल सकते हैं। आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम के माध्यम से एक दिन में ₹10 हजार तक की राशि निकाली जा सकती है। इसके लिए किसी बैंक या एटीएम पर जाने की जरुरत नहीं होगी।" -पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव













Wednesday, June 19, 2024

The Post Office Act 2023 comes into effect from 18th June, 2024

डाकघर अधिनियम-2023 18 जून, 2024  से लागू हो गया।  इसके लागू होने से भारतीय डाकघर अधिनियम, 1898 निरस्त हो गया है। इस अधिनियम का  उद्देश्य समाज के अंतिम व्यक्ति तक नागरिक केंद्रित सेवाओं, बैंकिंग सेवाओं और सरकारी योजनाओं का लाभ प्रदान करने के लिए एक सरल विधायी ढांचा तैयार करना है, जिससे जीवनयापन में आसानी हो।  

मंत्रालय के मुताबिक डाकघर अधिनियम-2023 व्यापार करने में आसानी और जीवन को आसान बनाने के लिए पत्रों के संग्रह, प्रोसेसिंग और वितरण के विशेष विशेषाधिकार जैसे प्रावधानों को समाप्त करता है। अधिकतम शासन और न्यूनतम सरकार की भावना को बढ़ावा देने के लिए अधिनियम में कोई दंडनीय प्रावधान नहीं किए गए हैं।  यह वस्तुओं, पहचानकर्ताओं और पोस्टकोड के उपयोग के बारे में निर्धारित मानकों के लिए प्रारूप उपलब्ध करता है।

अधिनियम के प्रावधानों के अनुसार राज्य की सुरक्षा और सार्वजनिक व्यवस्था सहित निर्दिष्ट आधारों पर भारतीय डाक के माध्यम से भेजी जाने वाली किसी भी वस्‍तु को सरकार, गंतव्‍य तक पहुंचने के पहले बीच में ही रोक सकती है। ऐसा किसी भी आपातकाल की स्थिति में या सार्वजनिक सुरक्षा या शांति को ध्‍यान में रखते हुए किया जा सकता है। केंद्र सरकार, राज्‍य सरकार या इन दोनों की ओर से अधिकृत कोई भी अधिकारी ऐसा कर सकता है। नए कानून के तहत प्रतिबंधित किसी भी वस्तु को डाक के जरिए भेजे जाने पर ऐसे अधिकारी उस पार्सल को खोल सकते हैं, रोक सकते हैं या उसे नष्ट कर सकते हैं।

अधिनियम में यह भी कहा गया है कि डाक सेवा महानिदेशक को भारतीय डाक का प्रमुख नियुक्त किया जाएगा। उसके पास सेवाओं के शुल्क और डाक टिकटों की आपूर्ति सहित विभिन्न मामलों पर नियम बनाने की शक्तियां होंगी।

गौरतलब है कि "डाकघर विधेयक, 2023" 10.08.2023 को राज्यसभा में पेश किया गया था और 04.12.2023 को राज्यसभा ने इसे पारित किया था। इसके बाद विधेयक पर लोकसभा द्वारा 13.12.2023 और 18.12.2023 को विचार किया गया और पारित किया गया। "डाकघर अधिनियम, 2023" को 24 दिसंबर 2023 को भारत के माननीय राष्ट्रपति की सहमति प्राप्त हुई और इसे सामान्य जानकारी के लिए विधि और न्याय मंत्रालय (विधायी विभाग) द्वारा 24 दिसंबर 2023 को भारत के राजपत्र, असाधारण, भाग II, खंड 1 में प्रकाशित किया गया था।

"डाकघर अधिनियम, 2023" अधिसूचना सं 1/2023-सीमा शुल्क, दिनांक 10-11-2010 एस.ओ. 2352€ दिनांक 17 जून, 2024, 18 जून, 2024 से प्रभावी होता है और भारतीय डाकघर अधिनियम, 1898 को निरस्त करता है।

***********************

“The Post Office Bill, 2023” was introduced in Rajya Sabha on 10.08.2023 and was passed in Rajya Sabha on 04.12.2023. The Bill was then considered and passed by Lok Sabha on 13.12.2023 and 18.12.2023.

“The Post Office Act, 2023” received the assent of Hon’ble President of India on 24th December 2023 and was published in the Gazette of India, Extraordinary, Part II, Section 1, dated 24th December 2023 by Ministry of Law & Justice (Legislative Department) for general information.

The Act aims to create a simple legislative framework for delivery of citizen centric services, banking services and benefits of Government schemes at the last mile.

The Act does away with provisions such as the exclusive privilege of collecting, processing and delivering of letters, to enhance the ease of doing business and ease of living.

No penal provisions have been prescribed in the Act.

This provides a framework for prescribing standards for addressing of the items, address identifiers and usage of postcodes.

“The Post Office Act, 2023” vide Notification no. S.O. 2352€ dated 17th June, 2024, comes into force w.e.f. 18th June, 2024 and repeals the Indian Post Office Act, 1898.

Saturday, June 15, 2024

A New Milestone : Varanasi Postal Region holds the record for generating the highest General Insurance (GI) premium & NOPs in FY 24-25 in a single day in Uttar Pradesh

India Post Payments Bank, established as a venture of the Postal Department, has established many new dimensions in its journey of five years by promoting 'Aapka Bank, Aapke Dwar'. Today it has an important role in the field of financial inclusion in rural areas and Digital India. To provide social security to the people of the last section of the society, the benefit of insurance at cheap rates is also being provided by IPPB under agreement with various companies. The above words were expressed by the Postmaster General of Varanasi Region, Shri Krishna Kumar Yadav, in a program organized by India Post Payments Bank at the Regional Office, Varanasi.



It is worth noting that Varanasi Region has set a new record of doing maximum accidental insurance in just one day in Uttar Pradesh Circle by doing insurance of 2,679 people on 13th June, 2024, for which a premium of ₹ 11.50 lakh was deposited. Not only this, Varanasi Region also secured the first position in India on the very first day under GI Sarva Suraksha Abhiyan by successfully achieving 329% of the allotted target.

In celebration of it, a program was organized by India Post Payments Bank, in which Postmaster General Shri Krishna Kumar Yadav shared happiness by cutting the cake with IPPB Chief Manager Shri Brij Kishore and Sr. Supdt. Of Post Offices Shri Rajiv Kumar and congratulated the entire staff of the Postal Department including Gramin Dak Sevaks, Postmasters, Inspectors, Assistant Superintendents, Divisional Superintendents and IPPB Managers and encouraged them to set new records in the future.

Postmaster General Mr. Krishna Kumar Yadav said that IPPB’s transformative presence has reshaped the banking landscape, offering doorstep banking that epitomizes accessible services and ignites change. Postmen and Gramin Dak Sevaks are working as a mobile bank through IPPB. IPPB is delivering various services to the citizens at door step through the postmen like Aadhaar enrollment of upto 5 years old Children and updating mobile through CELC service, digital life certificate, DBT, Aadhar enabled payment system,  bill payment,  vehicle insurance, health insurance, accident insurance, Pradhan Mantri Jeevan Jyoti Bima Yojana etc. Online deposits can also be made in Sukanya Sam, RD, PPF, Postal Life Insurance of the post office if you have an account with IPPB.  IPPB is committed for improving the lives of people who do not have easy access to insurance & other financial services, said Mr. Yadav.

On this occasion, Assistant Director Brijesh Sharma, Accounts Officer Plaban Naskar, Assistant Superintendent of Posts Pallavi Mishra, Inspector Posts Aniket Ranjan, Dilip Pandey, Assistant Accounts Officer Santoshi Rai, Manish Mishra, Shri Prakash Gupta, Anand Pradhan, Rakesh Kumar and other officials were present.

डाक विभाग के उपक्रम रूप में स्थापित इण्डिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक ने पाँच वर्षों के अपने सफर में ‘आपका बैंक, आपके द्वार’ को प्रोत्साहित करते हुए तमाम नए आयाम स्थापित किये हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में वित्तीय समावेशन और डिजिटल इण्डिया के क्षेत्र में आज इसकी अहम् भूमिका है। समाज के अंतिम वर्ग के लोगों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने हेतु विभिन्न कंपनियों से एग्रीमेंट के तहत सस्ती दरों पर बीमा का लाभ भी आईपीपीबी द्वारा प्रदान किया जा रहा है। उक्त उद्गार वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने इण्डिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक द्वारा क्षेत्रीय कार्यालय, वाराणसी में आयोजित कार्यक्रम में व्यक्त किये।

गौरतलब है कि वाराणसी परिक्षेत्र ने 13 जून को मात्र एक दिन में 2679 लोगों का दुर्घटना सुरक्षा बीमा करके उत्तर प्रदेश परिमंडल में एक दिन में सर्वाधिक बीमा करने का नया कीर्तिमान स्थापित किया, जिसके सापेक्ष साढ़े ग्यारह लाख रूपये का प्रीमियम जमा किया गया। यही नहीं, जीआई सर्वसुरक्षा अभियान के तहत पहले ही दिन प्रदत्त लक्ष्य के सापेक्ष 329 फीसदी सफलतापूर्वक प्राप्तकर वाराणसी परिक्षेत्र ने पूरे भारत में भी प्रथम स्थान प्राप्त किया। इसके उपलक्ष्य में इण्डिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक द्वारा आयोजित कार्यक्रम में पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने आईपीपीबी के चीफ मैनेजर श्री बृज किशोर और प्रवर डाक अधीक्षक श्री राजीव कुमार के संग केक काटकर लोगों से खुशियाँ बाँटी एवं डाक विभाग के ग्रामीण डाक सेवक, पोस्टमास्टर्स, निरीक्षक, सहायक अधीक्षक, मण्डलाधीक्षक और आईपीपीबी मैनेजर्स सहित समस्त स्टाफ को शुभकामनाएँ देते हुए भविष्य में नए कीर्तिमान स्थापित करने हेतु हौसलाआफ़जाई की।

पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि आईपीपीबी की परिवर्तनकारी उपस्थिति ने बैंकिंग परिदृश्य को नया आकार दिया है, जो डोर-स्टेप बैंकिंग की पेशकश करता है एवं सुलभ सेवाओं का प्रतीक है जो परिवर्तन को प्रज्ज्वलित करता है। आईपीपीबी के माध्यम से डाकिया और ग्रामीण डाक सेवक आज एक चलते फिरते बैंक के रूप में कार्य कर रहे हैं। सीईएलसी के तहत घर बैठे बच्चों का आधार बनाने, मोबाइल अपडेट करने, डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट, डीबीटी, बिल पेमेंट, एईपीएस द्वारा बैंक खाते से भुगतान, वाहनों का बीमा, स्वास्थ्य बीमा, दुर्घटना बीमा, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना जैसी तमाम सेवाएं आईपीपीबी द्वारा डाकिया के माध्यम से घर बैठे मुहैया कराई जा रही हैं। आईपीपीबी में खाता होने पर डाकघर की सुकन्या, आरडी, पीपीएफ, डाक जीवन बीमा में भी ऑनलाइन जमा किया जा सकता है। आईपीपीबी उन तमाम लोगों के जीवन को बेहतर बनाने के लिए प्रतिबद्ध है, जिनके पास बीमा और अन्य वित्तीय सेवाओं तक आसान पहुंच नहीं है।

इस अवसर पर सहायक निदेशक बृजेश शर्मा, लेखाधिकारी प्लाबन नस्कर, सहायक अधीक्षक पल्ल्वी मिश्रा, निरीक्षक अनिकेत रंजन, दिलीप पांडेय, सहायक लेखाधिकारी संतोषी राय, मनीष मिश्रा, श्रीप्रकाश गुप्ता, आनंद प्रधान, राकेश कुमार सहित तमाम कर्मी उपस्थित रहे।






उत्तर प्रदेश में एक दिन में सर्वाधिक दुर्घटना बीमा कर वाराणसी डाक परिक्षेत्र ने बनाया नया कीर्तिमान

मात्र एक दिन में 2679 लोगों का दुर्घटना बीमा करके वाराणसी परिक्षेत्र ने उत्तर प्रदेश में बनाया रिकॉर्ड

Friday, June 14, 2024

India Post Paymenst Bank में मात्र ₹549 में होगा 10 लाख का दुर्घटना बीमा - पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव

महंगे प्रीमियम पर बीमा करवाने में असमर्थ लोगों के लिए डाक विभाग का इण्डिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक एक विशेष दुर्घटना सुरक्षा बीमा लेकर आया है, जिसमें वर्ष में महज 549 और 749 रुपए के प्रीमियम के साथ लाभार्थी का क्रमशः 10 और 15 लाख रुपए का बीमा होगा। एक साल खत्म होने के बाद अगले साल यह बीमा रिन्यू करवाना होगा। इसके लिए इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक में लाभार्थी का खाता होना अनिवार्य है। उक्त जानकारी वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने दी। डाक विभाग इसके लिए 13 जून से  वाराणसी परिक्षेत्र के अधीन वाराणसी, भदोही, चंदौली, जौनपुर, गाज़ीपुर, बलिया ज़िलों में विशेष अभियान चलायेगा।

पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि इण्डिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक और आदित्य बिरला हेल्थ इंश्योरंस ग्रुप पर्सनल एक्सीडेंट के मध्य हुए एक एग्रीमेंट के तहत 18 से 65 वर्ष आयु  के लोगों को यह निजी दुर्घटना बीमा सुरक्षा मिलेगी। इसके तहत, दोनों प्रकार के बीमा कवर में दुर्घटना से मृत्यु, स्थाई या आंशिक पूर्ण अपंगता, अंग विच्छेद या पैरालाइज्ड होने पर क्रमशः 10 और 15 लाख रुपए का कवर मिलेगा। साथ ही साथ इस बीमा में दुर्घटना से हॉस्पिटल में भर्ती रहने के दौरान इलाज हेतु 60,000 रुपए तक का आई.पी.डी खर्च और ओ.पी.डी में 30,000 रुपए तक का क्लेम मिलेगा। इस बीमा में डॉक्टर से पोषण संबंधी सलाह एवं मानसिक स्वास्थ्य के लिए 4 परामर्श की सुविधा होगी| वहीं, दोनों प्रीमियम बीमा में उपरोक्त सभी लाभों के अलावा दो बच्चों की पढ़ाई के लिए एक लाख तक का खर्च, दस दिन अस्पताल में रोजाना का एक हजार खर्च, किसी अन्य शहर में रह रहे परिवार हेतु ट्रांसपोर्ट का 25,000 रूपए तक का खर्च और मृत्यु होने पर अंतिम संस्कार के लिए 5,000 तक का खर्च मिलेगा।

पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि इसके लिए इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक में लाभार्थी का खाता होना अनिवार्य है। प्रीमियम खाता मात्र ₹200/- में प्राप्त किया जा सकता है। इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए ग्राहक का आधार नंबर एवम मोबाइल नंबर होना अनिवार्य है। ग्राहक का खाता बिना किसी दस्तावेज के दिए केवल बायोमेट्रिक के आधार पर तुरंत खुल जाता है एवं साथ ही साथ दुर्घटना बीमा का भी लाभ बिना किसी दस्तावेज जमा कराए लिया जा सकता है। प्रीमियम खाता में किसी भी प्रकार का डोर स्टेप चार्ज नहीं देना होगा, तथा इसके साथ ही बिजली बिल भुगतान और कैशबैक भी प्राप्त किया जा सकता है। घर बैठे आईपीपीबी एप के माध्यम से सुकन्या, पीपीएफ, आर डी, पीएलआई आदि का ऑनलाइन भुगतना भी संभव है।

वाराणसी पूर्वी मंडल के प्रवर डाक अधीक्षक श्री राजीव कुमार ने बताया कि इस दुर्घटना बीमा सुविधा में पंजीकरण के लिए लोग अपने इलाक़े के डाकिया या नजदीकी डाकघर में संपर्क कर सकते हैं।




Wednesday, June 5, 2024

World Environment Day : Plantation is very important for environment- Postmaster General Krishna Kumar Yadav

डाक विभाग के तत्वावधान में वाराणसी परिक्षेत्र में 'विश्व पर्यावरण दिवस' पर वृक्षारोपण का आयोजन किया गया। इस अवसर पर मकबूल आलम रोड स्थित पोस्टल कॉलोनी में वृक्षारोपण करते हुए वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण आज की सबसे बड़ी जरुरत है, आने वाली पीढ़ी को जीवित रहने के लिए शुद्ध आक्सीजन मिले इसके लिए ज्यादा से ज्यादा पौधे लगाएं व परिवार के सदस्य की भांति उसकी देखभाल भी करें। वैश्विक स्तर पर निरंतर बढ़ रहे तापमान को भी हम इन्ही पेड़-पौधों के जरिये नियंत्रित कर सकते हैं। इस अवसर पर डाककर्मियों को पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूक करते हुए पर्यावरण को स्वच्छ रखने का संकल्प दिलाया गया।




पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने पर्यावरण अनुकूल जीवन शैली अपनाने एवं प्राकृतिक संसाधनों को बचाने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि सिर्फ दिवस विशेष पर वृक्षारोपण से बात नहीं बनेगी बल्कि हमें हर दिन पर्यावरण दिवस की तरह जागरूक रहना होगा तथा हर माह पौधा लगाना होगा। पर्यावरण संरक्षण के लिए हमें अपनी भावी पीढ़ी को जागरूक करना होगा।

प्रवर डाक अधीक्षक श्री राजीव कुमार ने कहा की पर्यावरण संरक्षण के लिये पौधे लगाना हम सबका दायित्व है।  सहायक निदेशक बृजेश शर्मा और आरके चौहान ने एक व्यक्ति, एक वृक्ष के नारे के साथ पौधारोपण के महत्त्व को बताया। सीनियर पोस्टमास्टर पीसी तिवारी ने कहा कि वृक्ष हमें जीवन देता है इसलिए वृक्ष लगाने के साथ-साथ इनका संरक्षण भी बहुत जरुरी है। 

इस अवसर पर वाराणसी पूर्वी मंडल के प्रवर अधीक्षक डाकघर राजीव कुमार, सहायक निदेशक बृजेश शर्मा, आरके चौहान, सीनियर पोस्टमास्टर पीसी तिवारी, निरीक्षक दिलीप पांडेय, अनिकेत रंजन, संजय अहिरवार, श्री प्रकाश गुप्ता, राहुल कुमार आनंद कुमार, मंजू कुमारी  सहित तमाम अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहे।

Plantation is very important for environmental protection - Postmaster General Krishna Kumar Yadav

Postal Department organized plantation drive on World Environment Day

Postmaster General KK Yadav inspired officials to adopt environment-friendly lifestyle and save natural resources

Postal dept. organized plantation drive on  'World Environment Day' in Post Offices and Postal colonies of Varanasi Region. On this occasion, while planting tree in the Postal Colony situated on Maqbool Alam Road, Postmaster General of Varanasi Region Shri Krishna Kumar Yadav said that environmental protection is the biggest need of today, to ensure that the coming generation gets pure oxygen for survival, plant as many trees as possible and take care of them like family member. We can also control the ever-increasing temperature at the global level through regular plantations. On this occasion, postal officials were made aware about environmental protection by taking a pledge to keep the environment clean.

Postmaster General Shri Krishna Kumar Yadav inspired people to adopt an environment-friendly lifestyle and save natural resources. He said that planting trees only on special days will not work, rather we have to be aware every day like Environment Day and plant a tree every month. We have to make our future generation aware for environmental protection.

Senior Superintendent of Post Offices Shri Rajiv Kumar said that planting trees for environmental protection is the responsibility of all of us. Assistant Director Brijesh Sharma and RK Chauhan explained the importance of plantation with the slogan of ‘one person, one tree’. Senior Postmaster PC Tiwari said that trees give us life, therefore, along with planting trees, their conservation is also very important.

On this occasion SSPPs Rajiv Kumar, Assistant Director Brijesh Sharma, RK Chauhan, Sr. Postmaster PC Tiwari, Inspectors Dilip Pandey, Aniket Ranjan, Sanjay Ahirwar, Shri Prakash Gupta, Rahul Kumar, Anand Kumar, Manju and many other officials participated in plantation drive. 














डाक विभाग द्वारा 'विश्व पर्यावरण दिवस' पर वृक्षारोपण का आयोजन

डाक विभाग ने पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूकता के साथ पर्यावरण को स्वच्छ रखने का दिलाया संकल्प