Wednesday, October 28, 2020

Postmaster General Krishna Kumar Yadav administered Integrity Pledge to Postal Officials during Vigilance Awareness Week in Varanasi

डाक विभाग द्वारा 27 अक्टूबर से 2 नवम्बर 2020 तक आयोजित सतर्कता जागरूकता सप्ताह का कैंट प्रधान डाकघर भवन स्थित क्षेत्रीय कार्यालय में वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने दीप प्रज्वलित कर शुभारम्भ किया। 'सतर्क भारत, समृद्ध भारत' के आह्वान के साथ पोस्टमास्टर जनरल ने सभी अधिकारियों व कर्मचारियों को सत्यनिष्ठा की प्रतिज्ञा  दिलाई।

 इस अवसर पर डाक विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों ने प्रतिज्ञा ली कि, हम नीतिपरक कार्य पद्धतियों को बढ़ावा देंगे तथा ईमानदारी और सत्यनिष्ठा की संस्कृति को प्रोत्साहन देंगे। इसके साथ ही हम कार्यों के संचालन से सम्बद्ध कानूनों, नियमावलियों तथा अनुपालन प्रक्रियाओं का पालन करेंगे एवं ना तो रिश्वत देंगे और ना ही लेंगे। संबंधित पक्षों एवं समाज के अधिकारों तथा हितों के संरक्षण करने की भी सभी ने प्रतिज्ञा ली।

तत्पश्चात पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने सभी डाककर्मियों को संबोधित करते हुए कहा कि, भ्रष्टाचार के उन्मूलन के लिए सभी को एक साथ मिलकर कार्य करने की आवश्यकता है और एक सरकारी संगठन होने के नाते हमें सामने से नेतृत्व करना होगा।

सहायक निदेशक श्री शम्भु राय ने सप्ताह भर चलने वाले कार्यक्रमों के बारे में बताया। 28 अक्टूबर को अनुशासनात्मक प्रक्रिया तथा हानि व गबन मामलों पर वर्कशॉप, 29 अक्टूबर को भ्रष्टाचार से बचाव पर वाद-विवाद प्रतियोगता, 31अक्टूबर को निबंध लेखन एवं क्विज प्रतियोगता तथा 2 नवम्बर को प्रतिभागियों को पुरस्कार वितरण के साथ समापन सामारोह होगा।

इस अवसर पर सहायक निदेशक शम्भु राय, लेखाधिकारी महेंद्र प्रताप वर्मा, सहायक लेखाधिकारी अशोक कुमार मौर्या, अनुभाग परिवेक्षक अमरेन्द्र कुमार वर्मा, कार्यालय सहायक राजेन्द्र प्रसाद यादव, राकेश कुमार, श्रीप्रकाश गुप्ता, अभिलाषा राजन, दीपाली वर्मा, मनीष कुमार, श्रवण कुमार सिंह, विजय कुमार त्रिपाठी, राहुल कुमार वर्मा, ललित कुमार सिंह, नरेंद्र राम, विजय कुमार, शम्भु प्रसाद गुप्ता सहित तमाम अधिकारी-कर्मचारी शामिल हुए |









डाक विभाग द्वारा सतर्कता जागरूकता सप्ताह का पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव ने किया शुभारम्भ

सतर्क भारत, समृद्ध भारत के आह्वान के साथ डाककर्मियों को पोस्टमास्टर जनरल केके यादव ने दिलाई सत्यनिष्ठा की प्रतिज्ञा



Sunday, October 25, 2020

Sukanya Samriddhi Yojana : डाक विभाग की बेटियों के लिए पहल, वाराणसी परिक्षेत्र में नवरात्र के दौरान 188 गाँव बने 'सम्पूर्ण सुकन्या समृद्धि ग्राम'

नवरात्र पर्व के दौरान प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में डाक विभाग ने पहल करते हुए नई इबारत लिखी है। प्रधानमंत्री श्री मोदी द्वारा 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' के तहत आरम्भ 'सुकन्या समृद्धि योजना' में तमाम कन्याओं के खाते खुलवाकर उनका भविष्य सुनिश्चित करने की पहल करते हुए नवरात्र पर्व की सार्थकता सिद्ध की है। वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव की पहल पर नवरात्र के दौरान वाराणसी डाक परिक्षेत्र के 188 गाँवों में 10 साल तक की सभी सुयोग्य कन्याओं के सुकन्या खाते खुलवाकर उन्हें 'सम्पूर्ण सुकन्या समृद्धि ग्राम' बनाया गया है। इसी क्रम में वाराणसी के तपोवन शाखा डाकघर में आयोजित कार्यक्रम में पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने तमाम सुकन्याओं को पासबुक के साथ उपहार देकर सम्मानित किया। प्रवर डाक अधीक्षक सुमीत कुमार गाट, डाक अधीक्षक राम मिलन, महंत दीन बंधु दास जी महराज, पार्षद वंदना सिंह, सहायक निदेशक शम्भू राय ने भी इन सुकन्याओं के सुखद भविष्य की कामना की।

इस अवसर पर अपने संबोधन में पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि भारतीय संस्कृति में नारी शक्ति का स्थान अहम है। सुकन्या समृद्धि योजना सिर्फ निवेश का ही एक माध्यम नहीं है, बल्कि यह बालिकाओं के उज्ज्वल व समृद्ध भविष्य से भी जुड़ा हुआ है। वाराणसी परिक्षेत्र  में अब तक 1 लाख 72 हजार से ज्यादा बालिकाओं के सुकन्या समृद्धि खाता खुलवाये जा चुके हैं। श्री यादव ने कहा कि इस योजना के आर्थिक के साथ-साथ सामाजिक आयाम भी महत्वपूर्ण हैं। इसमें जमा धनराशि पूर्णतया बेटियों के लिए ही होगी, जो उनकी शिक्षा, कैरियर एवं विवाह में उपयोगी होगी। यह योजना बालिकाओं के सशक्तिकरण के द्वारा भविष्य में नारी सशक्तिकरण को भी बढ़ावा देगी।

वाराणसी पूर्वी मंडल के प्रवर अधीक्षक डाकघर श्री सुमीत कुमार गाट ने कहा कि, किसी भी डाकघर में न्यूनतम 250 ₹ से दस साल तक की बालिकाओं का सुकन्या समृद्धि खाता खुलवाया जा सकता है। इसमें  एक वित्तीय वर्ष में न्यूनतम 1,000 और अधिकतम डेढ़ लाख रूपये जमा किये जा सकते हैं। वहीं, वाराणसी पश्चिमी मंडल के अधीक्षक डाकघर श्री राम मिलन ने बताया कि, सुकन्या की उम्र 18 वर्ष होने पर जमा राशि का 50 प्रतिशत व सम्पूर्ण राशि 21 वर्ष पूरा होने पर निकाली जा सकती है। सहायक निदेशक श्री शम्भू राय ने बताया कि सुकन्या समृद्धि योजना में ब्याज दर 7.6 प्रतिशत है और जमा धनराशि में आयकर छूट का भी प्रावधान है।




तपोवन क्षेत्र की सभासद सुश्री वंदना सिंह ने कहा कि नवरात्र पर्व के दौरान बेटियों के हित में डाक विभाग की यह अनूठी पहल स्तुत्य है। इससे बालिकाओं का भविष्य उज्ज्वल व सुरक्षित होगा।

तपोवन आश्रम के महंत श्री दीन बंधु दास जी महराज ने कहा कि, नवरात्र में कन्या पूजन की परंपरा रही है और इस शुभ पर्व के दौरान डाक विभाग ने इन सुकन्याओं के खाते खुलवाकर उन्हें और भी समृद्ध बनाया है।

इस अवसर पर प्रवर डाक अधीक्षक श्री सुमीत कुमार गाट, डाक अधीक्षक श्री राम मिलन, महंत श्री दीन बंधु दास जी महराज, पार्षद सुश्री वंदना सिंह, सहायक निदेशक श्री शम्भू राय, सहायक अधीक्षक आरके चौहान, डाक निरीक्षक ब्रजेश कुमार शर्मा, एसपी गुप्ता, जनसंपर्क निरीक्षक अरविंद पांडेय, ब्रांच पोस्टमास्टर श्यामलाल प्रसाद, अनिल कुमार, मुंशी राम, चंदन तिवारी सहित तमाम लोग उपस्थित रहे।







डाक विभाग की बेटियों के लिए पहल, वाराणसी परिक्षेत्र में नवरात्र के दौरान 188 गाँव बने 'सम्पूर्ण सुकन्या समृद्धि ग्राम'

प्रधानमंत्री के 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' अभियान को डाक विभाग दे रहा मूर्त रूप, 188 गाँवों में सभी सुयोग्य बेटियों के खोले सुकन्या समृद्धि खाते


Sukanya Samriddhi Yojana in Post Offices of Jaunpur : जौनपुर में नवरात्र के दौरान 20 गाँव बने 'सम्पूर्ण सुकन्या समृद्धि ग्राम'

डाक विभाग ने नवरात्र पर्व के दौरान बेटियों के लिए पहल करते हुए नई इबारत लिखी है। प्रधानमंत्री श्री मोदी द्वारा 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' के तहत आरम्भ 'सुकन्या समृद्धि योजना' में तमाम कन्याओं के खाते खुलवाकर उनका भविष्य सुनिश्चित करने की पहल करते हुए नवरात्र पर्व की सार्थकता सिद्ध की है। वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव की पहल पर नवरात्र के दौरान जौनपुर डाक मंडल के 20 गाँवों में 10 साल तक की सभी सुयोग्य कन्याओं के सुकन्या खाते खुलवाकर उन्हें 'सम्पूर्ण सुकन्या समृद्धि ग्राम' बनाया गया है। अब तक जनपद में 37 हजार से अधिक बेटियों के सुकन्या खाते खुलवाए जा चुके हैं।

इस पहल के संबंध में वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि भारतीय संस्कृति में नारी शक्ति का स्थान अहम है। सुकन्या समृद्धि योजना सिर्फ निवेश का ही एक माध्यम नहीं है, बल्कि यह बालिकाओं के उज्ज्वल व समृद्ध भविष्य से भी जुड़ा हुआ है। श्री यादव ने कहा कि, इस योजना के आर्थिक के साथ-साथ सामाजिक आयाम भी महत्वपूर्ण हैं। इसमें जमा धनराशि पूर्णतया बेटियों के लिए ही होगी, जो उनकी शिक्षा, कैरियर एवं विवाह में उपयोगी होगी। यह योजना बालिकाओं के सशक्तिकरण के द्वारा भविष्य में नारी सशक्तिकरण को भी बढ़ावा देगी।

इस योजना के बारे में पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि, किसी भी डाकघर में न्यूनतम 250 ₹ से दस साल तक की बालिकाओं का सुकन्या समृद्धि खाता खुलवाया जा सकता है। इसमें  एक वित्तीय वर्ष में न्यूनतम 1,000 और अधिकतम डेढ़ लाख रूपये जमा किये जा सकते हैं। वहीं, जौनपुर मंडल के अधीक्षक डाकघर श्री राम मिलन ने बताया कि, सुकन्या की उम्र 18 वर्ष होने पर जमा राशि का 50 प्रतिशत व सम्पूर्ण राशि 21 वर्ष पूरा होने पर निकाली जा सकती है। इस योजना में ब्याज दर 7.6 प्रतिशत है और जमा धनराशि में आयकर छूट का भी प्रावधान है। 

इसी क्रम में मड़ियाहूं में उप मंडलीय निरीक्षक श्री एपी गोस्वामी के नेतृत्व में डाककर्मियों ने घर-घर जाकर बेटियों के सुकन्या खाते खुलवाए। शाखा डाकघर मैनपुर मड़ियाहूं के अंतर्गत महमदपुर गांव की सभी योग्य बालिकाओं का सुकन्या समृद्धि खाता   खुलवाकर नवरात्रि के शुभ अवसर पर सुकन्या समृद्धि पासबुक सुकन्याओं और उनके परिजनों को प्रदान किया गया। इस अवसर पर निरीक्षक डाकघर मड़ियाहूं श्री ए पी गोस्वामी, ग्राम प्रधान महमदपुर श्री अच्छेलाल यादव , डाक सर्वेक्षक तिलकधारी यादव, डाक सर्वेक्षक मनीष कुमार वर्मा,शाखा डाकपाल मैनपुर राहुल यादव,शाखा डाकपाल बारीगांव नेवादा प्रेमचंद यादव,शाखा डाकपाल कुत्तूपुर शैलेंद्र कुमार,शाखा डाकपाल किशुनपुर कृष्णचंद यादव,गंगाधर एवं अन्य महिलाएं व बच्चे उपस्थित रहे ।

 डाक विभाग की इस पहल को लोगों ने भी खूब सराहा। नवरात्र में कन्या पूजन की परंपरा रही है और इस शुभ पर्व के दौरान डाक विभाग ने इन सुकन्याओं के खाते खुलवाकर उन्हें और भी समृद्ध बनाया है।


पोस्टमास्टर जनरल केके यादव की बेटियों के लिए पहल, जौनपुर में नवरात्र के दौरान 20 गाँव बने 'सम्पूर्ण सुकन्या समृद्धि ग्राम'

प्रधानमंत्री के 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' अभियान को डाक विभाग दे रहा मूर्त रूप, जौनपुर में 37 हजार बेटियों के खोले सुकन्या समृद्धि खाते - पोस्टमास्टर जनरल केके यादव

India Post promoting Prime Minister's 'Beti Bachao, Beti Padhao' campaign in Varanasi, Made 188 villages as Sampoorna Sukanya Samriddhi Village

In Varanasi, the Constituency of Prime Minister Shri Narendra Modi, the Department of Posts has taken a new initiative during Navratri festival. Under the 'Beti Bachao, Beti Padhao' campaign launched by Prime Minister Shri Modi, 'Sukanya Samriddhi Yojana' has proved the significance of Navratri festival by opening the accounts of all the girlchild and ensuring their future. 

On the initiative of the Postmaster General of Varanasi Region, Shri Krishna Kumar Yadav, 188 villages of Varanasi Postal Region have been declared as 'Sampurna Sukanya Samriddhi Gram' during the Navratra by opening Sukanya Samriddhi Accounts of all eligible girls of these villages.

In this sequence, Postmaster General Shri Krishna Kumar Yadav gifted passbook and honored the girls at a function organized at Tapovan Branch Post Office, Varanasi. Senior Superintendent of Post offices Sumit Kumar Gaat, Superintendent of Post offices Ram Milan, Mahant Deen Bandhu Das Ji Maharaj, Ward Member Vandana Singh, Assistant Director Shambhu Rai also wished for the happy future of these girlchild.

In his address, Postmaster General Shri Krishna Kumar Yadav said that women power is important in Indian culture. ‘Sukanya Samriddhi Yojana’ is not only a medium of investment, but it is also linked with bright and prosperous future of the girls. Mr. Yadav said that more than 1 lakh 72 thousand Sukanya Samriddhi accounts of eligible girls have been opened in Varanasi Region. Financial as well as social concerns of this scheme are also important. The amount deposited in it will be solely for daughters, which will be useful in their education, career, and marriage. This scheme will also promote women empowerment in future by empowering girls.

Senior Superintendent Post Offices of Varanasi East Division, Mr. Sumit Kumar Gatt said that Sukanya Samriddhi Account of girls upto 10 years can be opened in any Post office with minimum ₹ 250 . Minimum ₹ 1,000 and maximum ₹ 1,50,000 can be deposited in a financial year in this account. S

Superintendent Post Offices of Varanasi West Division, Mr. Ram Milan told that 50% of the amount deposited on girl being 18 years and the entire amount can be withdrawn on completion of 21 years. Assistant Director Mr. Shambhu Rai said that the interest rate in Sukanya Samriddhi Yojana is 7.6% and there is also a provision for income tax rebate on the deposits.

Tapovan ward member Ms. Vandana Singh said that during the Navratri festival this unique initiative of the Department of Posts in the interest of daughters is admirable This will make the future of girls bright and secure.

Mahant of Tapovan Ashram Shri Deen Bandhu Das Ji Maharaj said that there is a tradition of girl worship in Navratri and during this auspicious festival, the Department of Posts has made these Sukanyas more prosperous by opening their Accounts.

Senior Superintendent of Post Offices Mr. Sumit Kumar Gaat, Superintendent of Post offices Mr. Ram Milan, Mahant Mr. Deen Bandhu Das Ji Maharaj, Member Ms. Vandana Singh, Assistant Director Mr. Shambhu Rai, Assistant Superintendent RK Chauhan, Inspector Brajesh Kumar Sharma, SP Gupta, Public Relations Inspector Arvind Pandey, Branch Postmaster Shyamlal Prasad, Anil Kumar, Munshi Ram, Chandan Tiwari were also present during the function.




India Post initiative for the daughters, 188 villages became 'Sampurna Sukanya Samriddhi Gram' during Navratri in Varanasi Region

Postal Department giving tangible form to the Prime Minister's 'Beti Bachao, Beti Padhao' campaign, opened Sukanya Samriddhi accounts of all eligible daughters in 188 villages

Friday, October 16, 2020

Corona Warriors of India Post felicitated by Postmaster General Krishna Kumar Yadav

राष्ट्रीय डाक सप्ताह का अंतिम दिन गुरुवार को मेल दिवस के रूप में मनाया गया। इस अवसर पर क्षेत्रीय कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि डाकघर का प्राथमिक कार्य मेल का संग्रह, प्रसंस्करण, प्रसारण और वितरण रहा है। डाक सेवाओं में वैश्विक स्तर पर क्रन्तिकारी परिवर्तन आये है।  भारतीय डाक विभाग ने भी वक्त के साथ नयी-नयी तकनीक एवं विधाओं का प्रयोग करते हुए डिजिटल भारत को बढ़ावा दिया है। नन्यथा ऐप के माध्यम से लेटर बॉक्स क्लियरेंस, पोस्टमैन मोबाइल ऐप के माध्यम से डाकिया मोबाइल पर ही हस्ताक्षर कराकर डाक वितरण कर रहा है। दर्पण डिवाइस के माध्यम से सुदूर ग्रामीण क्षेत्रो में रजिस्ट्री, स्पीड पोस्ट, इत्यादि की बुकिंग की सेवाएँ आम जन को उपलब्ध करा रहा है।



पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि, कोरोना की वैश्विक महामारी के दौर में भी पोस्टमैन एवं ग्रामीण डाक सेवकों ने अपने जान को जोखिम में डालते हुए समाज के सभी वर्गों विशेषकर वृद्ध, विकलांग, पेंशनर, महिला व बीमार लोगो को  उनके घर पर ही खातो से पैसे निकालकर देने का अभूतपूर्व कार्य कियाI इसी क्रम में पोस्टमास्टर जनरल श्री यादव ने लॉक डाउन वारियर व आई.पी.पी.बी. उत्तर प्रदेश पोस्टल हीरोज़ के तहत चयनित डाक कर्मियों को सम्मानित  किया।



पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि डाक विभाग का सबसे मुखर चेहरा डाकिया हैं। उनकी पहचान चिट्ठी-पत्री और मनीऑर्डर बांटने वाली रही है, पर अब उनके हाथ में स्मार्टफोन है और बैग में एक डिजिटल डिवाइस। ग्रामीण पोस्टमैन अब चलते-फिरते एटीएम की नई भूमिका निभा रहे हैं। लॉकडाउन के दौर में जब ट्रांसपोर्ट के सभी साधन बंद हो गए, तब भी डाक विभाग ने अपने रोड ट्रांसपोर्ट नेटवर्क का विस्तार करते हुए देश भर में जरूरतमंदों और अस्पतालों तक दवाइयां, मास्क व टेस्टिंग किट्स तक पहुंचाईं। विशाल नेटवर्क वाला डाक विभाग घर आज भी अनगिनत लोगों के जीवन को प्रभावित करता है।

इस अवसर पर सहायक निदेशक प्रथम प्रवीण प्रसून, सहायक निदेशक द्वितीय श्री शम्भू राय ने क्रमश: अभिवादन एवं आभार व्यक्त कियाI इस कार्यक्रम में सहायक अधीक्षक श्री परमानन्द कुमार, श्री अजय कुमार मौर्या, डाक निरीक्षक  श्री बृजेश  कुमार शर्मा सहित आज के कार्यक्रम के सम्मानित डाककर्मी श्री सुबोध कुमार, श्री शिव प्रकाश मौर्या, श्री शीतल प्रसाद सिंह यादव, श्री ओम नारायण गुप्ता, श्री सुरेश कुमार पटेल, श्री नन्द लाल सरोज, श्री इतरत मुजीब, श्री पुनवासी राम, श्री केशव कुमार पाण्डेय, इत्यादि उपस्थित रहेI







कोरोना वॉरियर्स डाककर्मियों को पोस्टमास्टर जनरल केके यादव ने किया सम्मानित

Thursday, October 15, 2020

Business Development day : कस्टमर फ्रेंडली सेवाओं से डाक विभाग बढ़ा रहा राजस्व - पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव

डाक विभाग नई  टेक्नोलॉजी एवं नवीन सेवाओं के साथ अपनी सेवाओं को निरंतर व्यापक आयाम दे रहा है । डाक विभाग ने  तमाम कस्टमर फ्रेंडली सेवाएं आरंभ करके ग्राहकों  को अपनी तरफ आकर्षित किया है। उक्त विचार राष्ट्रीय डाक सप्ताह के अंतर्गत व्यवसाय विकास दिवस पर वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने व्यक्त किये। इस दौरान परिक्षेत्र में डाककर्मियों ने लोगों से संवाद करके डाक विभाग की व्यवसाय विकास सेवाओं के बारे में जानकारी दी। आधार के विशेष कैम्प लगाने से लेकर गंगाजल बिक्री, एलईडी बल्बों की बिक्री, मेघदूत सैनिटाइजर बिक्री जैसे जनोपयोगी सेवाओं का लाभ पहुँचाया।

पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव  ने कहा कि डाक विभाग विभिन्न व्यवसाय समूहों के हिसाब से विभिन्न प्रकार की योजनाएं संचालित कर रहा है। इसमें स्पीड पोस्ट, एक्सप्रेस पार्सल, बिजनेस पोस्ट, मीडिया पोस्ट, बिल मेल सर्विस, रिटेल पोस्ट, लॉजिस्टिक्स पोस्ट, डायरेक्ट पोस्ट, ई-पोस्ट, ई-पेमेंट, इत्यादि  प्रमुख हैं।

पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि कोरोना काल में डाकघरों ने अहम भूमिका निभाई। वाराणसी परिक्षेत्र में इस दौरान लगभग 20 हजार लोगों के आधार बनाये गये और 50 हजार लोगों का आधार अपडेट किया गया। इसी दौरान लोगों को स्पीड पोस्ट द्वारा घर बैठे काशी विश्वनाथ मंदिर का प्रसाद वितरण हेतु भी पहल की गई। उन्होंने कहा कि डाक विभाग अपने ग्राहकों को उत्तम सेवाएं देने के लिए कटिबद्ध है।





राष्ट्रीय डाक सप्ताह में वाराणसी परिक्षेत्र में व्यवसाय विकास दिवस का आयोजन

कस्टमर फ्रेंडली सेवाओं से डाक विभाग बढ़ा रहा राजस्व - पोस्टमास्टर जनरल केके यादव

कोरोना काल में डाकघरों द्वारा वाराणसी में 70 हजार लोगों के आधार नामांकन व अपडेशन का हुआ कार्य -पोस्टमास्टर जनरल केके यादव



Wednesday, October 14, 2020

Philately day inaugurated by Postmaster General Krishna Kumar Yadav during National Postal Week in Varanasi

डाक टिकट किसी भी राष्ट्र की सभ्यता, संस्कृति एवं विरासत के संवाहक हैं। तभी तो डाक टिकट को नन्हा राजदूत कहा जाता है। उक्त उद्गार वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने राष्ट्रीय डाक दिवस के क्रम में वाराणसी प्रधान डाकघर में आयोजित फिलेटली दिवस का शुभारंभ करते हुए व्यक्त किये। इस अवसर पर लोगों ने विशेषकर बच्चों ने फिलेटली ब्यूरो का भ्रमण करके डाक टिकटों के बारे में जानकारी ली।   माई स्टैम्प के तहत डाक टिकटों पर अपनी फोटो देखकर बच्चे खूब प्रफुल्लित हुए। इस अवसर पर 75 लोगों ने फिलेटली डिपॉजिट अकाउंट और 80 लोगों ने अपनी माई स्टैम्प बनवाई।

 पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने अपने संबोधन में कहा कि फिलेटली सिर्फ डाक टिकटों का संग्रह ही नहीं, बल्कि इसका अध्ययन भी है। फिलेटली का शिक्षा प्रणाली को मजबूत करने में अहम योगदान है। हर डाक टिकट के पीछे एक कहानी छुपी हुई है और इस कहानी से आज की युवा पीढ़ी को जोड़ने की जरूरत है। श्री यादव ने कहा कि, डाक टिकट वास्तव में एक नन्हा राजदूत है, जो विभिन्न देशों का भ्रमण करता है एवम् उन्हें अपनी सभ्यता, संस्कृति और विरासत से अवगत कराता है। फिलेटली के क्षेत्र में डाक विभाग द्वारा तमाम नए कदम उठाये जा रहे हैं। इससे युवाओं और बच्चों को ज्ञान के साथ-साथ एक अच्छी हॉबी अपनाने की प्रेरणा भी मिलेगी।


वाराणसी पूर्वी मंडल के प्रवर डाक अधीक्षक श्री सुमीत कुमार गाट ने बताया कि मात्र ₹ 200 में फिलेटली डिपाजिट एकाउंट खोलकर घर बैठे डाक टिकटें प्राप्त की जा सकती हैं। सहायक निदेशक श्री शम्भु राय ने बच्चों को डाक टिकट संग्रह और उनके फायदों के बारे में बताया।

इस अवसर पर सीनियर पोस्टमास्टर  आर के चौहान, सहायक डाक अधीक्षक सुरेश चंद्र, डाक निरीक्षक ब्रजेश शर्मा, बलबीर सिंह, इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक मैनेजर सुबलेश सिंह, जनसंपर्क निरीक्षक अनिल शर्मा, श्रीप्रकाश गुप्ता, राहुल वर्मा, रोशनी इत्यादि उपस्थित रहे।







वाराणसी प्रधान डाकघर में मना फिलेटली दिवस, डाक टिकटों पर अपनी फोटो देखकर बच्चे हुए प्रफुल्लित

बच्चों में डाक टिकट संग्रह की अभिरुचि ज्ञानवर्धन के लिए जरूरी : पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव

सभ्यता, संस्कृति एवं विरासत के संवाहक हैं डाक टिकट - पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव