Wednesday, October 28, 2020

Corona Warriors of India Post felicitated by Postmaster General Krishna Kumar Yadav

राष्ट्रीय डाक सप्ताह का अंतिम दिन गुरुवार को मेल दिवस के रूप में मनाया गया। इस अवसर पर क्षेत्रीय कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि डाकघर का प्राथमिक कार्य मेल का संग्रह, प्रसंस्करण, प्रसारण और वितरण रहा है। डाक सेवाओं में वैश्विक स्तर पर क्रन्तिकारी परिवर्तन आये है।  भारतीय डाक विभाग ने भी वक्त के साथ नयी-नयी तकनीक एवं विधाओं का प्रयोग करते हुए डिजिटल भारत को बढ़ावा दिया है। नन्यथा ऐप के माध्यम से लेटर बॉक्स क्लियरेंस, पोस्टमैन मोबाइल ऐप के माध्यम से डाकिया मोबाइल पर ही हस्ताक्षर कराकर डाक वितरण कर रहा है। दर्पण डिवाइस के माध्यम से सुदूर ग्रामीण क्षेत्रो में रजिस्ट्री, स्पीड पोस्ट, इत्यादि की बुकिंग की सेवाएँ आम जन को उपलब्ध करा रहा है।



पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि, कोरोना की वैश्विक महामारी के दौर में भी पोस्टमैन एवं ग्रामीण डाक सेवकों ने अपने जान को जोखिम में डालते हुए समाज के सभी वर्गों विशेषकर वृद्ध, विकलांग, पेंशनर, महिला व बीमार लोगो को  उनके घर पर ही खातो से पैसे निकालकर देने का अभूतपूर्व कार्य कियाI इसी क्रम में पोस्टमास्टर जनरल श्री यादव ने लॉक डाउन वारियर व आई.पी.पी.बी. उत्तर प्रदेश पोस्टल हीरोज़ के तहत चयनित डाक कर्मियों को सम्मानित  किया।



पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि डाक विभाग का सबसे मुखर चेहरा डाकिया हैं। उनकी पहचान चिट्ठी-पत्री और मनीऑर्डर बांटने वाली रही है, पर अब उनके हाथ में स्मार्टफोन है और बैग में एक डिजिटल डिवाइस। ग्रामीण पोस्टमैन अब चलते-फिरते एटीएम की नई भूमिका निभा रहे हैं। लॉकडाउन के दौर में जब ट्रांसपोर्ट के सभी साधन बंद हो गए, तब भी डाक विभाग ने अपने रोड ट्रांसपोर्ट नेटवर्क का विस्तार करते हुए देश भर में जरूरतमंदों और अस्पतालों तक दवाइयां, मास्क व टेस्टिंग किट्स तक पहुंचाईं। विशाल नेटवर्क वाला डाक विभाग घर आज भी अनगिनत लोगों के जीवन को प्रभावित करता है।

इस अवसर पर सहायक निदेशक प्रथम प्रवीण प्रसून, सहायक निदेशक द्वितीय श्री शम्भू राय ने क्रमश: अभिवादन एवं आभार व्यक्त कियाI इस कार्यक्रम में सहायक अधीक्षक श्री परमानन्द कुमार, श्री अजय कुमार मौर्या, डाक निरीक्षक  श्री बृजेश  कुमार शर्मा सहित आज के कार्यक्रम के सम्मानित डाककर्मी श्री सुबोध कुमार, श्री शिव प्रकाश मौर्या, श्री शीतल प्रसाद सिंह यादव, श्री ओम नारायण गुप्ता, श्री सुरेश कुमार पटेल, श्री नन्द लाल सरोज, श्री इतरत मुजीब, श्री पुनवासी राम, श्री केशव कुमार पाण्डेय, इत्यादि उपस्थित रहेI







कोरोना वॉरियर्स डाककर्मियों को पोस्टमास्टर जनरल केके यादव ने किया सम्मानित

Thursday, October 15, 2020

Business Development day : कस्टमर फ्रेंडली सेवाओं से डाक विभाग बढ़ा रहा राजस्व - पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव

डाक विभाग नई  टेक्नोलॉजी एवं नवीन सेवाओं के साथ अपनी सेवाओं को निरंतर व्यापक आयाम दे रहा है । डाक विभाग ने  तमाम कस्टमर फ्रेंडली सेवाएं आरंभ करके ग्राहकों  को अपनी तरफ आकर्षित किया है। उक्त विचार राष्ट्रीय डाक सप्ताह के अंतर्गत व्यवसाय विकास दिवस पर वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने व्यक्त किये। इस दौरान परिक्षेत्र में डाककर्मियों ने लोगों से संवाद करके डाक विभाग की व्यवसाय विकास सेवाओं के बारे में जानकारी दी। आधार के विशेष कैम्प लगाने से लेकर गंगाजल बिक्री, एलईडी बल्बों की बिक्री, मेघदूत सैनिटाइजर बिक्री जैसे जनोपयोगी सेवाओं का लाभ पहुँचाया।

पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव  ने कहा कि डाक विभाग विभिन्न व्यवसाय समूहों के हिसाब से विभिन्न प्रकार की योजनाएं संचालित कर रहा है। इसमें स्पीड पोस्ट, एक्सप्रेस पार्सल, बिजनेस पोस्ट, मीडिया पोस्ट, बिल मेल सर्विस, रिटेल पोस्ट, लॉजिस्टिक्स पोस्ट, डायरेक्ट पोस्ट, ई-पोस्ट, ई-पेमेंट, इत्यादि  प्रमुख हैं।

पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि कोरोना काल में डाकघरों ने अहम भूमिका निभाई। वाराणसी परिक्षेत्र में इस दौरान लगभग 20 हजार लोगों के आधार बनाये गये और 50 हजार लोगों का आधार अपडेट किया गया। इसी दौरान लोगों को स्पीड पोस्ट द्वारा घर बैठे काशी विश्वनाथ मंदिर का प्रसाद वितरण हेतु भी पहल की गई। उन्होंने कहा कि डाक विभाग अपने ग्राहकों को उत्तम सेवाएं देने के लिए कटिबद्ध है।





राष्ट्रीय डाक सप्ताह में वाराणसी परिक्षेत्र में व्यवसाय विकास दिवस का आयोजन

कस्टमर फ्रेंडली सेवाओं से डाक विभाग बढ़ा रहा राजस्व - पोस्टमास्टर जनरल केके यादव

कोरोना काल में डाकघरों द्वारा वाराणसी में 70 हजार लोगों के आधार नामांकन व अपडेशन का हुआ कार्य -पोस्टमास्टर जनरल केके यादव



Wednesday, October 14, 2020

Philately day inaugurated by Postmaster General Krishna Kumar Yadav during National Postal Week in Varanasi

डाक टिकट किसी भी राष्ट्र की सभ्यता, संस्कृति एवं विरासत के संवाहक हैं। तभी तो डाक टिकट को नन्हा राजदूत कहा जाता है। उक्त उद्गार वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने राष्ट्रीय डाक दिवस के क्रम में वाराणसी प्रधान डाकघर में आयोजित फिलेटली दिवस का शुभारंभ करते हुए व्यक्त किये। इस अवसर पर लोगों ने विशेषकर बच्चों ने फिलेटली ब्यूरो का भ्रमण करके डाक टिकटों के बारे में जानकारी ली।   माई स्टैम्प के तहत डाक टिकटों पर अपनी फोटो देखकर बच्चे खूब प्रफुल्लित हुए। इस अवसर पर 75 लोगों ने फिलेटली डिपॉजिट अकाउंट और 80 लोगों ने अपनी माई स्टैम्प बनवाई।

 पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने अपने संबोधन में कहा कि फिलेटली सिर्फ डाक टिकटों का संग्रह ही नहीं, बल्कि इसका अध्ययन भी है। फिलेटली का शिक्षा प्रणाली को मजबूत करने में अहम योगदान है। हर डाक टिकट के पीछे एक कहानी छुपी हुई है और इस कहानी से आज की युवा पीढ़ी को जोड़ने की जरूरत है। श्री यादव ने कहा कि, डाक टिकट वास्तव में एक नन्हा राजदूत है, जो विभिन्न देशों का भ्रमण करता है एवम् उन्हें अपनी सभ्यता, संस्कृति और विरासत से अवगत कराता है। फिलेटली के क्षेत्र में डाक विभाग द्वारा तमाम नए कदम उठाये जा रहे हैं। इससे युवाओं और बच्चों को ज्ञान के साथ-साथ एक अच्छी हॉबी अपनाने की प्रेरणा भी मिलेगी।


वाराणसी पूर्वी मंडल के प्रवर डाक अधीक्षक श्री सुमीत कुमार गाट ने बताया कि मात्र ₹ 200 में फिलेटली डिपाजिट एकाउंट खोलकर घर बैठे डाक टिकटें प्राप्त की जा सकती हैं। सहायक निदेशक श्री शम्भु राय ने बच्चों को डाक टिकट संग्रह और उनके फायदों के बारे में बताया।

इस अवसर पर सीनियर पोस्टमास्टर  आर के चौहान, सहायक डाक अधीक्षक सुरेश चंद्र, डाक निरीक्षक ब्रजेश शर्मा, बलबीर सिंह, इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक मैनेजर सुबलेश सिंह, जनसंपर्क निरीक्षक अनिल शर्मा, श्रीप्रकाश गुप्ता, राहुल वर्मा, रोशनी इत्यादि उपस्थित रहे।







वाराणसी प्रधान डाकघर में मना फिलेटली दिवस, डाक टिकटों पर अपनी फोटो देखकर बच्चे हुए प्रफुल्लित

बच्चों में डाक टिकट संग्रह की अभिरुचि ज्ञानवर्धन के लिए जरूरी : पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव

सभ्यता, संस्कृति एवं विरासत के संवाहक हैं डाक टिकट - पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव

Tuesday, October 13, 2020

My Stamp on Happy Birthday, Wedding wishes & Anniversary now - Postmaster General Krishna Kumar Yadav

आजकल हर कोई जन्मदिन, शादी, सालगिरह या रिटायरमेंट को यादगार बनाने के लिए कुछ अनूठा करना चाहता है। पर कभी आपने सोचा है कि आपके जीवन के इन महत्वपूर्ण पलों  पर डाक टिकट भी जारी हो सकता है। पर अब यह सम्भव है। इस सम्बन्ध में जानकारी  देते हुए वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि डाक विभाग की 'माई स्टैम्प' सेवा के तहत लोगों के जीवन के खूबसूरत पलों को खूबसूरती से डाक टिकटों पर स्थान दिया जा सकता है और इन पलों को डाक टिकटों के माध्यम से हमेशा के लिए यादगार बनाया जा सकता है। विश्वेश्वरगंज स्थित वाराणसी प्रधान डाकघर में यह सुविधा डाक विभाग द्वारा उपलब्ध कराई गई है।



पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि पाँंच रुपए के डाक-टिकट, जिस पर नवजात शिशु, बर्थडे ब्वाय या बर्थडे गर्ल, विवाहित नव युगल की खूबसूरत तस्वीर, एनिवर्सरी को सहेजते चित्रों  से लेकर रिटायरमेंट तक के पलों को माई स्टैम्प के माध्यम से सहेजा जा सकेगा। यह डाक टिकट देश भर में कहीं भी डाक के आदान प्रदान के लिए भी इस्तेमाल की जा सकती सकती है। मात्र 300 रुपए के खर्च में 12 डाक-टिकटों की एक शीट बनवाई जा सकती है। इन डाक टिकटों पर बक़ायदा जन्मदिन की शुभकामनाएं, शुभ विवाह, सालगिरह मुबारक और  बेस्ट विशेज ऑन योर रिटायरमेंट के साथ तस्वीर लगेगी।  

पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि आज की युवा पीढ़ी सेल्फी की दीवानी है। इन सेल्फी पर भी 'माई स्टैम्प' के माध्यम से डाक टिकट जारी किया जा सकता है। माई स्टैम्प खूबसूरत उपहार के रूप में भी दिया जा सकता है।

वाराणसी पूर्वी मंडल के प्रवर डाक अधीक्षक श्री सुमीत कुमार गाट ने बताया कि राष्ट्रीय डाक सप्ताह के तहत फिलेटली दिवस, 13 अक्टूबर को वाराणसी प्रधान डाकघर में माई स्टैम्प बनवाने के लिए विशेष व्यवस्था की जाएगी। लोग अपनी आईडी व फोटो के साथ इसे मात्र ₹ 300 में बनवा सकते हैं।

अब अपने जन्मदिन, विवाह व सालगिरह पर भी लोग जारी करवा सकेंगे डाक टिकट - पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव

मात्र ₹ 300 में मिलेंगे 12 डाक टिकट, वाराणसी प्रधान डाकघर में  सुविधा उपलब्ध








अब अपने जन्मदिन, विवाह व सालगिरह पर भी लोग जारी करवा सकेंगे डाक टिकट - पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव

मात्र ₹ 300 में मिलेंगे 12 डाक टिकट, वाराणसी प्रधान डाकघर में  सुविधा उपलब्ध

Sunday, October 11, 2020

Banking Day by India Post in Varanasi: कोरोना काल में जरूरतमंदों तक पहुँचकर डाकघर की बैंकिंग सेवाओं ने रचे नए आयाम- पोस्टमास्टर जनरल केके यादव

भारतीय डाक विभाग द्वारा 'राष्ट्रीय डाक सप्ताह' के तहत 10 अक्टूबर  को बैंकिंग दिवस के रूप में मनाया गया। कैंट प्रधान डाकघर में आयोजित कार्यक्रम में वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने इसका शुभारम्भ किया और बालिकाओं के सुकन्या समृद्धि खाते खुलवाकर उन्हें पासबुक, चॉकलेट व मास्क देकर सम्मानित किया। 

इस अवसर पर पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव  ने कहा कि आज भी डाकघरों की बचत योजनाएं सर्वाधिक लोकप्रिय हैं और इनमें लोग पीढ़ी दर पीढ़ी पैसे जमा करते हैं। लोगों द्वारा बचत रूप में किया गया छोटा से छोटा निवेश भी समाज के आर्थिक विकास में महत्वपूर्ण भूमिका  निभाता  है। डाकघरों को नई टेक्नालॉजी से जोड़कर उन्हें और भी कस्टमर-फ्रेंडली बनाया जा रहा है। 

पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि वर्ष 1882 में आरम्भ हुई डाकघर बचत सेवाएं विस्तृत नेटवर्क, विश्वसनीयता और नई तकनीक की बदौलत आज नए मुकाम पर खड़ी हैं। वाराणसी  परिक्षेत्र के डाकघरों में लगभग 36 लाख खाते संचालित हैं। बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ के तहत 1 लाख 70 हजार से अधिक बेटियों के सुकन्या समृद्धि खाते खोले जा चुके हैं और 25 गाँवों को 'सम्पूर्ण सुकन्या समृद्धि ग्राम' बनाया जा चुका है। श्री यादव ने कहा कि, कोर बैंकिंग और एटीएम के बाद डाकघरों में पेमेंट बैंकिंग लागू होने से कोरोना काल में जरूरतमंदों तक पहुँचकर डाकघर की बैंकिंग सेवाओं ने नए आयाम रचे हैं । वाराणसी परिक्षेत्र  में अब तक लगभग 3.12 लाख इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक खाते खुल चुके हैं, जिनमें 1.21 लाख अकेले कोरोना काल में खुले हैं। आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम के द्वारा  किसी भी बैंक के आधार लिंक्ड खाते से डाकियों द्वारा लोगों को उनके दरवाजे पर घर बैठे भुगतान किया जा रहा है। अकेले कोरोना काल में वाराणसी परिक्षेत्र में विभिन्न बैंकों के 5.75 लाख खाताधारकों को 1 अरब 59 करोड़ रुपये का भुगतान डाकियों व ग्रामीण डाक सेवकों द्वारा किया गया। प्रधानमंत्री द्वारा आरम्भ जनसुरक्षा योजना - अटल पेंशन योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना में भी डाकघरों के माध्यम से निवेश किया जा सकता है। 

वाराणसी पूर्वी मंडल के प्रवर डाक अधीक्षक सुमीत कुमार गाट ने बताया कि डाकघरों में सामान्य बचत खाते के साथ-साथ आवर्ती जमा, सावधि जमा, मासिक आय योजना,  पीपीएफ, वरिष्ठ नागरिक बचत योजना, राष्ट्रीय बचत पत्र, किसान विकास पत्र, सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश करके अपना भविष्य सुरक्षित किया जा सकता है।

सहायक निदेशक प्रवीण प्रसून ने कहा कि डाकघर में निवेश अभी भी सबसे सुरक्षित है। उन्होंने डाकघर खाताधारकों से अपने खातों को मोबाईल से लिंक कराने के लिए कहा।

इस अवसर पर सहायक निदेशक शंभु राय, लेखा अधिकारी एमपी वर्मा, एके मौर्या, सहायक अधीक्षक अजय कुमार, पंकज श्रीवास्तव, डाक निरीक्षक ब्रजेश कुमार शर्मा, शशिकांत कन्नौजिया, आई.पी.पी.बी. मैनेजर सुबलेश कुमार सिंह, पोस्टमास्टर कैंट प्रधान डाकघर रामशंकर वर्मा, श्रीप्रकाश गुप्ता, राकेश कुमार,  राजेन्द्र यादव, राहुल वर्मा सहित डाक विभाग के तमाम अधिकारी-कर्मचारी, बचत अभिकर्तागण व खाताधारक मौजूद रहे।








आज भी डाकघरों की बचत योजनाएं सर्वाधिक लोकप्रिय - पोस्टमास्टर जनरल केके यादव

कोरोना काल में जरूरतमंदों तक पहुँचकर डाकघर की बैंकिंग सेवाओं ने रचे नए आयाम- पोस्टमास्टर जनरल केके यादव

'राष्ट्रीय डाक सप्ताह’ के तहत डाकघरों में हुआ ‘बैंकिंग दिवस’ का आयोजन