Monday, May 23, 2022

पहली बार न जाने किसने मुझको ऐसा पत्र लिखा...

 पहली बार न जाने किसने, मुझको ऐसा पत्र लिखा,

अपनेपन का संबोधन दे, मुझको अपना मित्र लिखा।


उसने लिखा कि प्रियवर मेरे

 धीरज अपना मत खोना,

मिलते ही एकांत कहीं पर

फूट-फूट कर मत रोन।


जन्म-जन्म के संबंधों का ब्योरा बहुत विचित्र लिखा,

पहली बार न जाने किसने मुझको ऐसा पत्र लिखा। 


फिर यह लिखा कि मन कन्चन मृग

इसके पीछे मत जाना

सुख-दुःख से ही बना हुआ है

दुनिया का ताना-बाना।


अग्निपरीक्षा जैसा ही कुछ, आंसू भरा प्रपत्र लिखा,

पहली बार न जाने किसने मुझको ऐसा पत्र लिखा।


यह भी लिखा दुःखी मत होना

तुम गीतों में जी लेना,

अपनी पीड़ा घुटन छिपा कर

सारे आंसू पी लेना।


फिर फिर कोने में तिथि अंकित की, घर का नाम पवित्र लिखा

पहली बार न जाने किसने मुझको ऐसा पत्र लिखा।


पढ़कर उसकी व्यथा कथा को

हम उस रात बहुत रोए

सदियां बीत गई हैं तब से

उसके बाद नहीं सोए।

 

जो कुछ लिखा, बहुत गहरा था, जैसे राम-चरित्र लिखा

पहली बार न जाने किसने मुझको ऐसा पत्र लिखा।


- राजकुमारी रश्मि


(साभार : सरस्वती सुमन पत्रिका)

Friday, May 20, 2022

खत लिखूं मैं इक गुलाबी

दिल, अभी यह चाहता है

खत लिखूं मैं इक गुलाबी  


संग सखियों के पुराने

दिन सुहाने याद करना।

और छत पर बैठकर

चाँद से संवाद करना।


डाकिया आता नहीं अब,

ना महकते खत जबाबी।

दिल अभी यह चाहता है

खत लिखूँ मै इक गुलाबी।


सुर्ख मुखड़े के खुशी की

चाँदनी जब झिलमिलाई।

गंध गीली याद की, हिय

प्राण, अंतस में समाई।


सुबह, दुपहर, साँझ, साँसें

गीत गाती हैं खिताबी।

दिल अभी यह चाहता है

खत लिखूँ मै इक गुलाबी।


मौसमी नव रंग सारे

प्रकृति में कुछ यूँ समाये

नेह के आँचल तले, हर

एक दीपक मुस्कुराये।


छाँव बरगद की नहीं, माँ

बात लगती हैं किताबी।

दिल अभी यह चाहता है

खत लिखूँ मैं इक गुलाबी।


 - शशि पुरवार


(साभार : सरस्वती सुमन पत्रिका)

Thursday, May 19, 2022

India Post implementing innovations in the field of Mails and Parcel - Postmaster General Krishna Kumar Yadav

Department of Posts organized a customer meet on Mails and Parcel business on 18th May, 2022. The meeting was inaugurated by Mr. Krishna Kumar Yadav, Postmaster General of Varanasi Region which was held in the conference room of Varanasi Cantt Head Post Office. Details of all the innovations and facilities introduced in the field of Mails and Parcel were given through power point presentation. Postal officers interacted with representatives of various firms and important customers, their suggestions and feedbacks regarding services were taken and their problems were also resolved.

Postmaster General Mr. Krishna Kumar Yadav said that Mails and Parcel are the basic services of the Department of Posts. Due to modernization of Parcel services and providing better facilities to the customers, there has been a increase of 63% in Parcel revenue in Varanasi Region during the last financial year. Booking, sorting and delivery of Parcels have been made more efficient through International Business Center, Parcel Hub, Nodal Delivery Center. Facility of online track and trace has also been provided for accountable mails. Due to the continuous growth in e-commerce, the Department of Posts has focused on modernization of Parcel services to provide better and customer oriented facilities to the customers. A new transport policy has been formulated by the Department for speedy conveyance and delivery of Mails and Parcel.

Postmaster General, Mr. Krishna Kumar Yadav, while discussing about the innovation introduced and implemented regarding Parcel services, said that under the pilot project, Parcel packing units will soon be established at Varanasi and Varanasi Cantt Head Post Offices for the customers. In order to expansion of services, facility of return pickup of Parcels, OTP based delivery, booking and delivery of Parcels through smart machines will also be provided in coming days. Soon, new rates of postage fee will be implemented by reducing the charges for cash-on-delivery items and insured items. Mr. Yadav said that convenient facility to book Parcel by volumetric weight for national and international destinations through cash and digital payment QR code is available in every Post Office in Varanasi Region. On-spot custom clearance facility is made available for international Parcel booking in International Business Centre at Cantt Head Post Office premises. Online dashboards have also been developed to monitor the entire process of parcel processing, which is being monitored at every level.

On this occasion, Senior Superintendent of Post Office, Varanasi East Division Mr. Rajan, Superintendent of Posts Mr. P.C. Tiwari, Assistant Director Mr. Krishna Chandra, Mr. Brajesh Sharma, Senior Postmaster Varanasi Mr. Chandrashekhar Singh Barua, Postal Inspector Mr. Shrikant Pal, Mr. V.N. Dwivedi, Postmaster of Varanasi Cantt Head Post Office Mr. RS Verma along with representatives of various corporate institutions, departments attended the meeting. Postmaster General also felicitated all the customers at the end of the programme.

Postal Department implementing innovations in the field of Mails and Parcel - Postmaster General Krishna Kumar Yadav

Customers apprised about new facilities introduced by the Department of Posts by organizing a customer meet

Parcel Packaging Unit to be set up at Varanasi and Cantt Head Post Office - Postmaster General Krishna Kumar Yadav

डाक विभाग द्वारा मेल एवं पार्सल के क्षेत्र में किये जा रहे तमाम नवाचार -पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव

डाक विभाग द्वारा मेल एवं पार्सल व्यवसाय पर ग्राहक सम्मलेन का आयोजन किया गया। कैंट प्रधान डाकघर स्थित सम्मलेन कक्ष में वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने इसका शुभारम्भ किया। इस अवसर पर डाक विभाग द्वारा मेल एवं पार्सल सेवाओं के क्षेत्र में किये जा रहे तमाम नवाचारों और सुविधाओं के बारे में पॉवर प्वाइंट प्रजेंटेशन के द्वारा विस्तार से जानकारी दी गयी। विभिन्न फर्मों और ग्राहकों से संवाद कर सेवाओं के बारे में उनके सुझाव लिए गए और उनकी समस्याओं का निस्तारण किया गया।

पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि मेल और पार्सल डाक विभाग की आधारभूत सेवाएँ हैं। पार्सल सेवाओं के आधुनिकीकरण और ग्राहकों को बेहतर सुविधाएं दिए जाने से वाराणसी क्षेत्र में गत वित्तीय वर्ष में पार्सल राजस्व में 63 फीसदी बढ़ोत्तरी हुई है। पार्सल हेतु इंटरनेशनल बिजनेस सेंटर, पार्सल हब, नोडल डिलीवरी सेंटर के माध्यम से बुकिंग, छंटाई और वितरण को और प्रभावी बनाया गया है। ऑनलाइन ट्रेस एंड ट्रैक की सुविधा भी दी गई है। ई-कॉमर्स में निरंतर वृद्धि के चलते डाक विभाग ने पार्सल सेवाओं के आधुनिकीकरण पर ध्यान देते हुए ग्राहकों को बेहतर सुविधाएँ दी हैं। मेल व पार्सल के द्रुत गति से निस्तारण के लिए विभाग द्वारा नई ट्रांसपोर्ट नीति बनायी गयी है। 


पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने पार्सल सेवाओं के बारे में नवाचार की चर्चा करते हुए बताया कि डाकघरों में पार्सल भेजने वाले ग्राहकों के लिए पायलट प्रोजेक्ट के अंतर्गत वाराणसी और वाराणसी कैण्ट प्रधान डाकघर में जल्द पार्सल पैकिंग यूनिट की स्थापना की जायेगी। सेवाओं के विस्तार के इसी क्रम में आने वाले दिनों में पार्सल के रिटर्न पिकअप, ओटीपी आधारित वितरण, स्मार्ट मशीन के माध्यम से पार्सलों की बुकिंग व वितरण की सुविधा भी मुहैया करायी जायेगी। शीघ्र ही कैश-ऑन-डिलेवरी वस्तुओं और बीमित वस्तुओं के शुल्क में भी कमी कर डाक शुल्क की नयी दरें लागू की जाएंगी। श्री यादव ने कहा कि राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय गंतव्यों के लिए वाल्युमेट्रिक वजन के अनुसार पार्सल को बुक करने की सहज सुविधा कैश एवं डिजिटल पेमेंट क्यूआर कोड से वाराणसी परिक्षेत्र के प्रत्येक डाकघर में उपलब्ध है। अंतर्राष्ट्रीय पार्सल बुकिंग के लिए ऑन स्पॉट कस्टम क्लियरेंस की सुविधा उपलब्ध है। पार्सल प्रोसेसिंग की सम्पूर्ण प्रक्रिया की निगरानी के लिए ऑनलाइन डैशबोर्ड भी बनाए गये हैं जिसकी निगरानी प्रत्येक स्तर पर की जा रही है। 

 इस अवसर पर वाराणसी पूर्वी मण्डल के प्रवर अधीक्षक डाकघर श्री राजन, डाक अधीक्षक श्री पी.सी. तिवारी, सहायक निदेशक श्री कृष्ण चंद, श्री ब्रजेश शर्मा, सीनियर पोस्टमास्टर वाराणसी श्री चन्द्रशेखर सिंह बरुआ, डाक निरीक्षक श्री श्रीकांत पाल, श्री वी.एन. द्विवेदी, वाराणसी कैंट प्रधान डाकघर के पोस्टमास्टर श्री रमाशंकर वर्मा सहित विभिन्न कॉरपोरेट संस्थानों, विभागों के प्रतिनिधि सम्मिलित हुए। कार्यक्रम के अंत में सभी विशिष्ट ग्राहकों को पोस्टमास्टर जनरल ने सम्मानित भी किया।









डाक विभाग द्वारा मेल एवं पार्सल के क्षेत्र में किये जा रहे तमाम नवाचार -पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव

डाक विभाग द्वारा ग्राहक सम्मेलन का आयोजन कर नई सुविधाओं के बारे में दी गयी जानकारी

वाराणसी और कैण्ट प्रधान डाकघर में होगी पार्सल पैकेजिंग यूनिट की स्थापना - पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव

Wednesday, May 18, 2022

Department of Posts enters into partnership with GeM and CSC : More than 1.3 lakh CSC outlets of DoP would facilitate onboarding of sellers on the GeM

Department of Posts has signed an Memorandum of understanding (MoU) with Government e-Marketplace [GeM] and CSC e-Governance Services India Ltd. [CSC-SPV] for the advocacy, outreach, mobilization and capacity-building of last-mile Government buyers, sellers and service providers in public procurement. The MoU was signed by Shri PK Singh, CEO, GeM, Shri Sanjay Kumar Rakesh, CEO, CSC-SPV and Shri Ajay Kumar Roy, Chief General Manager, Parcel Directorate, Department of Posts in New Delhi on 18th May 2022.

The MoU was conceived after the successful integration of GeM and India Post on 05th May 2022. With this integration, it is now possible for all Government buyers, sellers and service-providers to avail the logistics services and facilities over GeM through the India Post offices located in the remotest parts of India.  In addition, more than 1.3 lakh CSC outlets of DoP would facilitate onboarding of sellers on the GeM.

This tie-up between Department of Posts and GeM will enable sellers to opt for DoP services of pickup, booking, transmission and delivery from their profile page on GeM portal. Department of Posts has deployed seamless data exchange with all its customers through Application Programme Interface (API). The partnership between GeM and DoP involves integration of DoP and GeM system for seller registration in DoP system, Pincode validation, tariff calculation, pickup, booking, barcode generation, Label generation, Cancellation of in-transit shipments and Tracking. 

DoP will also guide and train 6000+ CSCs with regard to various postal products and services that are offered and packaging of consignments as per Department of Posts Shipment Packaging Policy.

Speaking at the ceremony Shri Alok Sharma, Director General, Postal Services said that “the new partnership with GeM and CSC-SPV will propel India Post as the preferred logistics service provider for sellers on GeM portal thereby ensuring a high-quality of service and faster delivery of e-commerce benefits through last-mile physical connectivity, across 1.5 lakh+ India Post Offices.”

The MoU will spur local value-chains through “Vocal for Local” and “Make in India” initiatives of the Government, thereby furthering the aim of ensuring a self-reliant “Atmanirbhar Bharat”.

Department of Posts enters into partnership with GeM and CSC

Strives for outreach, mobilization and capacity-building of last-mile Government buyers, sellers and service providers in public procurement

Will enable Government buyers, sellers and service providers to avail the logistics services and facilities over GeM through Post offices located in remotest parts of India

More than 1.3 lakh CSC outlets of DoP would facilitate onboarding of sellers on the GeM

Tuesday, May 17, 2022

कर्नाटक : अब डाक विभाग के माध्यम से लोगों तक पहुँचेंगे आम

कर्नाटक स्टेट मैंगो डेवलपमेंट एंड मार्केटिंग कॉरपोरेशन लिमिटेड ने भारतीय डाक विभाग के साथ ग्राहकों के दरवाजे पर आम (Alfanso, Badami, Hapus, Mallika) पहुंचाने की योजना शुरू कर दी है।

निगम के अधिकारियों के अनुसार निगम और भारतीय डाक ने ऑनलाइन बिक्री के लिए एक वेब पोर्टल लांच किया है। यह योजना दो साल पहले शुरू हुई थी। वर्ष 2020 में कोरोना वायरस महामारी और लॉकडाउन के बीच राज्य सरकार और भारतीय डाक ने ऑनलाइन मार्केटिंग और डाक सेवाओं का उपयोग करके उपभोक्ताओं को रामनगर, चिकबल्लापुर और कोलार जिलों के किसानों से आमों को वितरित करना शुरू किया। इस पहल की सफलता के बाद निगम ने 2021 में इंडिया पोस्ट के माध्यम से आमों की डिलीवरी जारी रखी और इस साल भी विभाग को ग्राहकों से अच्छी प्रतिक्रिया मिलने की उम्मीद है।

निगम के प्रबंध निदेशक सीजी नागराजू ने कहा कि पिछले दो वर्षों से किसानों और ग्राहकों दोनों को इस पहल से लाभ हुआ है। 2020 में राज्य भर में कुल 35 हजार ग्राहकों को कुल 100 टन आम की आपूर्ति की गई और 2021 में कम उपज के बावजूद 45 हजार उपभोक्ताओं को 79 टन आम बेचा गया। इससे पता चलता है कि ग्राहक ऑनलाइन किसानों से अच्छी गुणवत्ता वाले आम खरीदने में रुचि रखते हैं।

इस तरह पहुंचेंगे आम

पोर्टल में किसानों के नाम और मोबाइल नंबर और उनके द्वारा उगाए गए फलों की किस्में हैं। ग्राहक द्वारा ऑर्डर देने के बाद किसान को एक टेक्स्ट संदेश प्राप्त होगा। किसान तब फलों को पैक करेगा और उन्हें जीपीओ, बेंगलूरु भेज देगा। जीपीओ से बक्सों को उनके संबंधित गंतव्यों के लिए भेज दिया जाएगा।

गौरतलब है कि कर्नाटक भारत के शीर्ष आम उत्पादकों में से एक है, जो बेंगलूरु ग्रामीण, कोलार, चिकबल्लापुर, धारवाड़ और रामनगर जैसे 16 जिलों में 1.68 लाख हेक्टेयर में फसल की खेती करता है। कर्नाटक बादामी, मल्लिका, नीलम, मालगोवा, कलापद, सिंधुरा, अल्फांसो, तोतापुरी और आम की अन्य किस्में पैदा करता है।

Saturday, May 14, 2022

स्कूली बच्चों का डाकघरों में आसानी से हो सकेगा आधार पंजीकरण, पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव ने दिए निर्देश

परिषदीय स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों के आधार पंजीकरण को लेकर डाक विभाग ने पहल की है और अब इन बच्चों का डाकघरों में आसानी से आधार पंजीकरण हो सकेगा। वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव से मुलाकात कर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, वाराणसी डॉ. राकेश सिंह ने इस संबंध में अनुरोध किया, जिसे स्वीकारते हुए उन्होंने इस पर त्वरित कार्यवाही के आदेश दिए हैं। इसके अलावा इन बच्चों और उनके अभिभावकों के डाक विभाग द्वारा इण्डिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक में खाते भी खोले जायेंगे ताकि डीबीटी के तहत मिलने वाली शासकीय योजनाओं का लाभ भी इन्हें तुरंत प्राप्त हो सके। 

पोस्टमास्टर जनरल ने परिषदीय स्कूलों में पढ़ने वाली बच्चियों के सुकन्या समृद्धि खाता खोलने की पहल पर भी जोर दिया, ताकि इन बच्चियों का भविष्य अभी से सुरक्षित किया जा सके। प्रधानमंत्री द्वारा ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ अभियान के तहत आरम्भ इस योजना में मात्र 250 रूपये से 10 साल तक की बच्चियों का सुकन्या खाता खुलवाया जा सकता है। इसी क्रम में बच्चों के उज्ज्वल भविष्य हेतु  डाकघरों में न्यूनतम 500 रुपये से पीपीएफ खाते भी खुलवाए जा सकेंगे।

वाराणसी पश्चिमी मंडल के अधीक्षक डाकघर श्री पीसी तिवारी ने बताया कि वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल महोदय के निर्देशानुसार समय-समय पर डाक विभाग द्वारा आधार नामांकन और अपडेशन के लिए विशेष कैम्पों का आयोजन किया जा रहा है। इसी क्रम में अब परिषदीय स्कूलों के बच्चों के लिए भी चिन्हित डाकघरों में शीघ्र विशेष व्यवस्था की जाएगी, ताकि उन्हें इसके लिए परेशान न होना पड़े। डाकघरों में आधार नामांकन पूर्णतया निःशुल्क है। इसके अलावा ऑनस्पॉट बच्चों और उनके अभिभावकों के आईपीपीबी खाते और सुकन्या समृद्धि योजना खाते भी खोले जायेंगे।

 जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, वाराणसी डॉ. राकेश सिंह ने बताया कि उत्तर प्रदेश शासन के निर्देश के क्रम में स्कूल चलो अभियान के अंतर्गत वाराणसी जनपद के परिषदीय विद्यालयों में 78,000 बच्चों का नामांकन किया गया है, जिनमें से एक बड़ी संख्या में बच्चों का आधार पंजीकरण नहीं हुआ है। डाकघरों में इन बच्चों के आधार पंजीकरण और बच्चों/अभिभावकों के खाते खोलने हेतु विशेष व्यवस्था करने से काफी सहूलियत होगी।




पहल : स्कूली बच्चों का डाकघरों में आसानी से होगा आधार पंजीकरण, डीबीटी हेतु भी तुरंत खुलेंगे खाते

Sunday, May 8, 2022

पहल : अब डाकघरों में भी यू.पी.आइ आधारित क्यूआर कोड से होगा भुगतान, स्पीड पोस्ट, रजिस्ट्री, पार्सल की बुकिंग हेतु कैश की जरूरत नहीं

डाकघरों में काउंटर्स पर नकद की समस्या से निजात और डिजिटल लेनदेन को प्रोत्साहन देने हेतु देश भर के सभी डाकघरों के बुकिंग काउंटरों पर क्यू.आर. कोड लगाये गए हैं, जिन्हें स्कैन कर ग्राहक यू.पी.आई के माध्यम से डिजिटल भुगतान कर सकते हैं। इनमें उत्तर प्रदेश के ढाई हजार से ज्यादा डाकघरों के ग्राहक लाभान्वित होंगे। इसके अलावा रेलवे डाक सेवा में स्थित काउंटर्स पर भी ये क्यू.आर. कोड लगाए गए हैं, जहाँ देर रात तक बुकिंग की सुविधा उपलब्ध होती है। हालांकि नकद रकम देकर डाक वस्तुओं की बुकिंग का कार्य भी पूर्व की ही भांति होता रहेगा।  इसी क्रम में वाराणसी परिक्षेत्र के सभी 6 प्रधान डाकघरों और 268 उप डाकघरों में डाक विभाग ने डिजिटल पेमेंट की व्यवस्था के लिए क्यू.आर. कोड से यू.पी.आइ आधारित आनलाइन भुगतान की सुविधा ग्राहकों के लिए उपलब्ध करा दी है। उक्त जानकारी वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने दी। इसमें वाराणसी के 86, जौनपुर के 54, गाजीपुर के 54, बलिया के 48, चंदौली के 18 और संत रविदास नगर (भदोही) के 14 डाकघर शामिल हैं।  

वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि डाकघरों में स्पीड पोस्ट, रजिस्ट्री पत्र, रजिस्टर्ड पार्सल, रजिस्टर्ड फॉरेन पत्र, व अन्य रजिस्टर्ड आर्टिकल्स, इंटरनेशनल एयर पार्सल, एरोग्राम इंटरनेशनल, फ्रैंकिंग मशीन रिचार्ज, बिजनेस पोस्ट, बिल मेल सेवा, विभागीय परीक्षा शुल्क इत्यदि के चार्ज का भुगतान अब कैश के अलावा डिजिटल पेमेंट के माध्यम से भी हो सकेगा। पत्र/पार्सलों की बुकिंग के दौरान काउंटर क्लर्क द्वारा पॉइंट ऑफ सेल पर पत्र के प्रेषक व प्राप्तकर्ता की सभी जानकारियों को दर्ज करने के उपरांत ग्राहक को रकम बताई जायेगी और क्यू.आर. कार्ड को स्कैन कर भुगतान की प्रक्रिया संपन्न करने को कहा जाएगा। उक्त क्यू आर कोड को स्कैन कर किसी भी यू.पी.आई पेमेंट मोबाइल एप्लीकेशन जैसे डाक पे, गूगल पे, फोन पे, पेटीएम, एमेजन पे आदि के द्वारा भुगतान किया जा सकेगा। भुगतान की प्रक्रिया ग्राहक द्वारा पूर्ण करने पर सॉफ्टवेयर सेन्ट्रल सर्वर से भुगतान संपन्न होने की जानकारी लेगा और ग्राहक की रसीद प्रिंट हो जाएगी।

पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि डाकघरों में इस सेवा के शुरू होने से ग्राहकों की सुविधाओं में इजाफा होने के साथ-साथ डिजिटल अर्थव्यवस्था भी सुदृढ़ होगी। इससे डाकघरों में आए हुए ग्राहकों को फुटकर पैसों की समस्या से राहत मिल जाएगी और काउंटर पर बैठे डाक सहायक को भी नकद लेन-देन से छुटकारा प्राप्त हो जाएगा और समय की भी बचत होगी।





Friday, April 29, 2022

वाराणसी परिक्षेत्र में डाक अधिकारियों का स्वागत और विदाई समारोह

वाराणसी डाक परिक्षेत्र में अधिकारियों के स्थानांतरण पर विदाई और स्वागत समारोह का क्षेत्रीय कार्यालय में आयोजन किया गया। कैण्ट स्थित पोस्टमास्टर जनरल कार्यालय में सहायक निदेशक (प्रथम) श्री राम मिलन को अधीक्षक डाकघर, जौनपुर मंडल के पद पर स्थानांतरण पर भावभीनी विदाई दी गई। वहीं, जौनपुर मंडल से श्री पीसी तिवारी द्वारा अधीक्षक डाकघर, वाराणसी पश्चिमी मंडल पद पर और श्री ब्रजेश शर्मा द्वारा पोस्टमास्टर जनरल कार्यालय में सहायक निदेशक (प्रथम) का पद भार सँभालने पर डाककर्मियों द्वारा हार्दिक स्वागत किया गया। पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने सभी अधिकारियों को उनके नए दायित्वों के लिए शुभकामनाएं दीं और मनोयोग से कार्य करने के लिए प्रेरित किया। 

इस अवसर पर वाराणसी पूर्वी मंडल के प्रवर अधीक्षक डाकघर श्री राजन राव, सहायक निदेशक (द्वितीय) कृष्ण चंद्र, सहायक लेखा अधिकारी संतोषी राय, सहायक डाक अधीक्षक आरके चौहान, निरीक्षक डाक श्रीकांत पाल, इंद्रजीत पाल, शशिकांत कन्नौजिया, प्रमोद कुमार, राजेंद्र यादव, श्रीप्रकाश गुप्ता, अजिता, अभिलाषा, राहुल वर्मा, राकेश कुमार सहित तमाम अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन कुमारी अजिता ने किया।





Tuesday, April 26, 2022

International Day of Yoga- 2022 : India Post organizes countdown programme, 50,000 Post offices connected digitally

In the order of 'International Yoga Day-2022', the Department of Posts started countdowns on 25 April, in which 50,000 Post offices across the country were connected digitally. In this, 28,187 people of 5637 Post offices in Uttar Pradesh were connected digitally, while in Varanasi Region, 7,335 people of 663 Post offices were connected digitally. In New Delhi, Mr. Ashwini Vaishnaw, Union Minister of Communications and Railways along with Mr. Devusinh Chauhan, Minister of State for Communications and Mr. Vineet Pandey, Secretary, Department of Posts  encouraged people from different parts of the country to practice yoga. At the same time, Mr. Krishna Kumar Yadav, Postmaster General of Varanasi Region, participated in this campaign along with Cantt. MLA Mr. Saurabh Srivastava, Director, Malviya Bhawan Mr. Upendra Pathak and Senior Superintendent of Post Office Mr. Rajan Rao and encouraged people to join 'Yoga Day-2022'. In the program organized in Sarnath, Mr. Sumedha Tero, Viharadhipati, Jambudeep Mandir, Superintendent of Post Office Mr. P.C. Tiwari, social worker Mr. Shashikant Rai along with others inspired many people towards yoga. Thousands of people joined the campaign in various Postal Divisions and Post Offices.






 On this occasion, Varanasi Cantt MLA Mr. Saurabh Srivastava said that Yoga is the invaluable and unique heritage of Indian culture and the base of good health of human beings. It is the result of the visionary thinking of Prime Minister Mr. Narendra Modi that now Yoga Day is celebrated as a festival globally.

Postmaster General Mr. Krishna Kumar Yadav said that Yoga not only keeps us away from negativity but also creates good thoughts in our mind. The importance of yoga has increased even more in the era of corona pandemic, by adopting which we all should become partners in building a healthy India.

 Appreciating this initiative of the Department of Posts, Dr. Upendra Pathak, Director of Malviya Bhawan in BHU, said that Yoga is philosophy of life, which connects human beings with his soul and increases the mental, physical and spiritual energy .

 Mr. Sumedha Tero, Viharadhipati of Jambudeep Temple, Sarnath said that Indian culture is universal since ancient times. Like the Ashtanga Yoga of Yoga, Buddhism, as propounded by Mahatma Buddha, describes the Eightfold Path to Nirvana, which also includes Yama and Niyama.

 In the program organized at Sarnath, Yoga instructor Mr. Indal Vishwakarma and at Malviya Bhawan in BHU, Yoga instructor Dr. Yogesh Bhatt gave information about Yogasanas. Soumya Mishra, Unnati Upadhyay, Shiv Shankar Pandey presented the Kulgeet. On this occasion Assistant Superintendent of Posts,  R.K. Chauhan, Suresh Chandra, Pankaj Kumar, Ajay Maurya, Inspector Shrikant Pal, Naresh Bara, Postmaster Ramashankar Verma, J.P. Singh, Ram Ratan Pandey, Kulbhushan Tiwari, Shri Prakash Gupta, Rajendra Yadav, Rahul Verma, Ajita, Abhilasha and all other people were present.





Monday, April 25, 2022

International Day of Yoga- 2022 के क्रम में डाक विभाग ने आयोजित किया काउंटडाउन्स, देश भर के 50 हजार पोस्टऑफिस जुड़े ऑनलाइन

'अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस-2022' के क्रम में डाक विभाग ने 25 अप्रैल को काउंटडाउन्स आरंभ किया, जिसमें देश भर के 50 हजार पोस्ट ऑफिस ऑनलाइन जुड़े। इसमें उत्तर प्रदेश के 5637 डाकघर 28,187 लोगों के साथ, वहीं वाराणसी परिक्षेत्र में 663 डाकघर 7,335 लोगों के साथ जुड़े। नई दिल्ली में केंद्रीय संचार एवं रेलवे मंत्री श्री अश्विनी वैष्णव, संचार राज्य मंत्री श्री देवुसिंह चौहान, सचिव डाक विभाग श्री विनीत पांडेय ने देश के विभिन्न भागों से जुड़े लोगों को योग हेतु प्रोत्साहित किया। वहीं, वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने मालवीय भवन, काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में कैण्ट विधायक श्री सौरभ श्रीवास्तव, निदेशक मालवीय भवन डॉ. उपेंद्र पाठक और प्रवर डाक अधीक्षक श्री राजन राव संग इस अभियान में भाग लेते हुए लोगों को 'अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस-2022' से जुड़ने हेतु प्रोत्साहित किया। सारनाथ में आयोजित कार्यक्रम में श्री सुमेधा टेरो, विहाराधिपति, जम्बूदीप मंदिर, डाक अधीक्षक श्री पीसी तिवारी, सामाजिक कार्यकर्ता श्री शशिकांत राय सहित तमाम लोगों ने योग के प्रति प्रेरित किया। विभिन्न डाक मंडलों और डाकघरों में हजारों लोग इस अभियान से जुड़े।

 इस अवसर पर कैण्ट विधायक श्री सौरभ श्रीवास्तव ने कहा कि भारतीय संस्कृति की अमूल्य और विलक्षण धरोहर एवं मानव के उत्तम स्वास्थ्य का आधार योग है। यह प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की दूरदर्शी सोच का परिणाम है कि अब वैश्विक स्तर पर योग दिवस को उत्सव के रूप में मनाया जाता है।











पोस्टमास्टर जनरल  श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि, योग न सिर्फ हमें नकारात्मकता से दूर रखता है अपितु हमारे मनोमस्तिष्क में अच्छे विचारों का निर्माण भी करता है। कोरोना महामारी के दौर में योग का महत्त्व और अधिक बढ़ गया है, जिसे अपनाकर हम सभी को स्वस्थ भारत के निर्माण में सहभागी बनना चाहिए।

 बीएचयू में मालवीय भवन के निदेशक डॉ. उपेंद्र पाठक ने डाक विभाग की इस पहल की सराहना करते हुए कहा कि योग जीवन का वह दर्शन है,जो मनुष्य को उसकी आत्मा से जोड़ता है और मनुष्य के मानसिक, शारीरिक व आध्यात्मिक ऊर्जा को बढ़ाता है।

 जम्बूदीप मंदिर, सारनाथ के विहाराधिपति श्री सुमेधा टेरो ने कहा कि भारतीय संस्कृति प्राचीन काल से ही विश्वव्यापी है। महात्मा बुद्ध द्वारा प्रतिपादित बौद्ध धर्म में भी योग के अष्टांग योग की भांति निर्वाण के लिए अष्टांग मार्ग का वर्णन है, जिसमें यम और नियम का भी समावेश है।

 सारनाथ में श्री इंदल विश्वकर्मा और बीएचयू में मालवीय भवन में आयोजित कार्यक्रम में योग प्रशिक्षक डॉ. योगेश भट्ट ने योगासनों की जानकारी दी। सौम्या मिश्रा, उन्नति उपाध्याय, शिव शंकर पांडेय ने कुलगीत प्रस्तुत किया। इस अवसर पर सहायक डाक अधीक्षक आरके चौहान, सुरेश चंद्र, पंकज कुमार, अजय मौर्या, निरीक्षक श्रीकांत पाल, नरेश बारा, पोस्टमास्टर रमाशंकर वर्मा, जेपी सिंह, राम रतन पांडेय, कुलभूषण तिवारी, श्री प्रकाश गुप्ता, राजेंद्र यादव, राहुल वर्मा, अजिता, अभिलाषा सहित तमाम लोग उपस्थित रहे।