Monday, September 9, 2019

सनबीम स्कूल, फैज़ाबाद में फिलेटली क्लब का डाक निदेशक केके यादव ने किया उद्घाटन

डाक टिकट किसी भी राष्ट्र की सभ्यता, संस्कृति एवं विरासत के संवाहक हैं। तभी तो डाक टिकट को नन्हा राजदूत कहा जाता है। हर डाक टिकट के पीछे एक कहानी छिपी है और इससे युवा पीढ़ी को रूबरू कराने की जरूरत है। यह विचार सनबीम स्कूल, फैज़ाबाद में फिलेटली क्लब का उद्दघाटन करते हुए मुख्य अतिथि लखनऊ (मुख्यालय) परिक्षेत्र के निदेशक डाक सेवायें श्री कृष्ण कुमार यादव ने व्यक्त किया। 
अब इस स्कूल के विद्यार्थी डाक-टिकटों के माध्यम से भी अध्ययन कर सकेंगे और फिलेटली की दुनिया से गुजरते हुए एक नवीन दृष्टि प्राप्त कर सकेंगे। पत्रों की खूबसूरत दुनिया से रूबरू होते हुए सनबीम स्कूल के बच्चों ने डाक विभाग की "ढाई आखर" राष्ट्रीय स्तर पत्र लेखन प्रतियोगिता में भी उत्साहजनक भागीदारी की । इसके तहत "‘प्रिय बापू, आप अमर हैं" विषय पर बच्चों ने ख़त लिखकर पोस्ट किया। 
डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने विद्यार्थियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि फिलेटली को "किंग आफ हाबी व हाबी आफ किंग" के रूप में जाना जाता है, जिसमें रूचि रखने पर अनंत विषयों पर डाक टिकटों का संग्रह कर सकते हैं। सूचना एवं प्रौद्योगिकी के बदलते दौर में आज की युवा पीढ़ी सोशल मीडिया को अधिक तरजीह दे रही है ऐसे में उनकी परम्परागत संचार शैली को बरकरार रखने के लिए बच्चों को फिलेटली (डाक टिकट संग्रह) से भी जुड़ना चाहिए। इससे उनका सामान्य ज्ञान भी विकसित होगा। श्री यादव ने कहा कि वक़्त के साथ छोटा सा कागज का टुकड़ा दिखने वाले ये डाक टिकट ऐसे अमूल्य दस्तावेज बन जाते हैं, जिनकी कीमत लाखों -करोड़ों में हो जाती है।   

 सनबीम स्कूल की निदेशिका सुश्री मेघा यादव ने स्कूल में फिलेटली क्लब बनाने के लिए डाक विभाग का आभार एवं हर्ष व्यक्त करते हुए कहा कि फिलेटली क्लब से हमारे स्कूली छात्र-छात्राओं को विश्व के इतिहास को एक ही टेबल पर डाक टिकटों के माध्यम से देखने का अवसर प्राप्त होगा। 
प्रधानाचार्या सुश्री स्वाति अचरजी ने कहा कि, फिलेटली के माध्यम से  पूरे विश्व में डाक टिकट संग्रह करने वालों के ज्ञानवर्धन तथा वैश्विक स्तर पर लगने वाली डाक टिकट प्रदर्शनियों के माध्यम से छात्रों को डाक विभाग की इस धरोहर से रूबरू होकर विश्व स्तर का ज्ञान प्राप्त हो सकेगा। 
इस अवसर पर स्कूली बच्चों ने तमाम सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किये।  कार्यक्रम के आरम्भ में सनबीम स्कूल की निदेशिका सुश्री मेघा यादव और ट्रस्टी श्री बृजेश यादव ने डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव को  पुष्प गुच्छ देकर स्वागत किया, वहीं विद्यार्थियों ने खूबसूरत पेंटिंग भेंट की।  समारोह की स्मृतिस्वरूप डाक निदेशक श्री केके यादव ने माई स्टैम्प भेंट किया। डाक विभाग के साथ-साथ स्कूल की निदेशिका सुश्री मेघा यादव, ट्रस्टी श्री बृजेश यादव, प्रधानाचार्या सुश्री स्वाति अचरजी ने बच्चों को प्रोत्साहित किया।

India Post Payments Bank celebrated First Anniversary in Lucknow GPO

इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक की स्थापना का प्रमुख उद्देश्य सम्पूर्ण भारत विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में सभी वर्ग एवं आय के लोगों को मूलभूत बैंकिंग सुविधाएं उपलब्ध कराना है। "आपका बैंक आपके द्वार" के तहत कार्य करते हुए इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक ने एक साल में भारत में एक करोड़ से अधिक खाते खोल कर   जनमानस में अपनी सुदृढ़ उपस्थिति दर्ज कराई है। उत्तर प्रदेश में 15 लाख से अधिक खाते खुले हैं। उक्त उद्गार लखनऊ मुख्यालय परिक्षेत्र के निदेशक डाक सेवाएँ श्री कृष्ण कुमार यादव ने इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक की प्रथम वर्षगाँठ पर लखनऊ जीपीओ में आयोजित कार्यक्रम में व्यक्त किये। इस अवसर पर केक-कटिंग, पौधरोपण और कस्टमर्स के लिए क़्विज प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया। 

डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि, इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक ने अपनी वर्षगाँठ के अवसर पर सेवाओं का विस्तार करते हुए आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम (AEPS) सेवा का भी शुभारम्भ किया है। इसके माध्यम से अब कोई भी व्यक्ति अपने किसी भी बैंक के आधार-लिंक्ड खाते से धनराशि डाकघर से निकाल सकता है और बैलेंस इंक्वायरी की जानकारी ले सकता है। यही नहीं ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोग अपने इलाके के डाकिये के माध्यम से भी किसी बैंक से पैसे निकाल सकते हैं, बशर्ते खाता आधार से लिंक होना चाहिए। इसमें एक दिन में अधिकतम दस हजार रूपये निकाले जा सकते हैं। इस सुविधा के आने से घर-घर तक डाक पहुँचाने वाला डाकिया अब चलता फिरता एटीएम भी हो गया है। 

इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक के सर्किल हेड श्री अविनाश सिन्हा ने बताया कि, बैंक अपनी वर्षगाँठ के अवसर पर 02 से 08  सितम्बर तक विभिन्न प्रतियोगिताएं आयोजित करेगा, जिनमें प्रमुख रूप से स्वास्थ्य शिविर, स्कूली छात्रों की विभिन्न प्रतियोगिताएं, फोटो प्रतियोगिता इत्यादि शामिल हैं। 

चीफ पोस्टमास्टर श्री आरएन यादव ने बताया कि इसी क्रम में लखनऊ जीपीओ में प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, जिसके माध्यम से ग्राहकों को बैंकिंग के विभिन्न माध्यम एवं सुविधाओं जैसे डिजिटल पेमेंट, कैशलेस लेनदेन, बिल पेमेंट आदि की भी जानकारी रुचिपूर्ण तरीके से प्रदान की गयी।  
इस अवसर पर लखनऊ ब्रांच की सीनियर मैनेजर सुश्री स्मृति श्रीवास्तव, डिप्टी चीफ पोस्टमास्टर राम बिलास, विनय श्रीवास्तव, हिमांशु शुक्ल, नेहा मिश्रा, सोनल गुप्ता, सत्यपाल सिंह, रतिका, स्नेहा गुप्ता, ज्योति  सहित तमाम अधिकारी-कर्मचारीगण और ग्राहक मौजूद रहे। 

गौरतलब है कि, इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक का उद्घाटन गत वर्ष 1 सितम्बर को  राष्ट्रीय स्तर पर प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा एवं लखनऊ जीपीओ में तत्कालीन गृह मंत्री श्री राजनाथ सिंह द्वारा किया गया था।

इण्डिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक ने मनाई पहली वर्षगाँठ, लखनऊ जीपीओ में हुआ कार्यक्रम

साल भर में इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक में खुले एक करोड़ खाते, उत्तर प्रदेश में 15 लाख से अधिक खाते

आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम (AEPS) सेवा का शुभारम्भ :अब डाकघर से निकालें किसी भी बैंक का पैसा 

Saturday, August 31, 2019

Director Postal KK Yadav visited Azamgarh Head Post Office

देश के हर कोने में, हर दरवाजे पर डाक विभाग की पहुँच है और वह लोगों  के सुख दुःख में बराबर रूप से जुड़ा हुआ है | डाक सेवाएं नवीनतम तकनीकी अपनाते हुए नित्य नये आयाम रच रही है | इन सबसे जनमानस को जोड़ना हमारी प्राथमिकता में शामिल है | यह उद्गार आजमगढ़ डाक मंडल का वार्षिक निरीक्षक करने आये गोरखपुर व लखनऊ परिक्षेत्र के निदेशक डाक सेवाएं श्री कृष्ण कुमार यादव ने व्यक्त किया | 



निदेशक डाक सेवाएं श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि डाक विभाग अपनी बचत बैंक और बीमा सेवाओं को ऑनलाइन करने के बाद अब इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक के क्षेत्र में कदम रख चुका है | आजमगढ़ मंडल में इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक की सेवाएं आजमगढ़ एवं मउ प्रधान डाकघर सहित मंडल के सभी डाकघरों में उपलब्ध है | अब तक आजमगढ़ डाक मंडल में 37760 खाते इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक के तहत खोले गये है तथा 25 इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक के सक्षम ग्राम बनाये गये है | आज इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक के माध्यम से आर्थिक एवं सामाजिक समावेशन के तहत ग्रामीण पोस्टमैन चलते फिरते एटीएम के रूप में नई भूमिका निभा रहे है | इसी इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक के माध्यम से विधवा पेंशन, विकलांग पेंशन, छात्रवृत्ति तथा सरकार द्वारा सब्सिडी मिलेगी | 

दूसरी तरफ डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि डाक विभाग का उद्देश्य समावेशी विकास के तहत शहरों  के साथ-साथ ग्रामीण अंचल में स्थित सभी जनता को भी सभी योजनाओं के तहत लाने के लिए दर्पण प्रोजेक्ट के तहत गाँव में स्थित शाखा डाकघरों को भी हाईटेक करके हैंडहेल्ड डिवाइस के साथ सोलर चार्जिंग, मोबाइल थर्मल प्रिंटर, स्मार्ट कार्ड रीडर तथा  फिंगर प्रिंट स्कैनर के साथ अनेक उपकरण मुहैया कर दिये गये है ताकि ग्रामीण लोगो को शहरों की तरफ न भागना पड़े और घर बैठे ही डिजिटल सेवा का लाभ उठा सके | डाक विभाग का यह कदम भारत सरकार के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के डिजिटल इंडिया के सपने को साकार करता है | इस मिशन के तहत अब शाखा डाकघरों में भी स्पीड पोस्ट बुकिंग की सुविधा भी उपलब्ध होगी | इसके साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि आजमगढ़ मंडल में डाक विभाग के 897190 बचत खाते अब तक खोले गये है |   




इस दौरान ग्रामीण डाक जीवन बीमा के बारे में बताते हुए डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि देश का किसान आज भी कड़ी मेहनत करने के बाद भी धन संचय नहीं कर पाता है | इसीलिए गरीबी उसके परिवार का साथ नहीं छोड़ पाती है | आज इन्सान का जीवन पल-पल जोखिम से भरा है | किसान एवं उसके परिवार के भविष्य को आर्थिक मंजबूती देने के लिए ग्रामीण डाक जीवन बीमा चालू किया गया है | यह आम व्यक्ति के लिए लाभकारी है | ग्रामीण डाक जीवन बीमा किसी भी अन्य बीमा कम्पनियों से कम किस्त जमा करते हुए अधिक बोनस देता है |   

अंत में डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि तमाम अग्रणी योजनाओं को डाक विभाग के माध्यम से प्रमुखता से लागू किया जा रहा है | इसी योजना में प्रधानमंत्री के अभियान बेटी बचाओ बेटी पढाओ के तहत अब डाकिये भी घर-घर जाकर लोगों को सुकन्या समृधि योजना के लिए जागरूक करेंगे | सुकन्या समृधि योजना के अंतर्गत आजमगढ़ मंडल में अब तक 44746 खाते खोलकर एक सुकन्या ग्राम भी बनाया गया है | साथ ही देश की मुख्य धारा से वंचित लोगों व उनके परिवारों को आर्थिक सुरक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से अटल पेंशन योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना एवं प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना के सफलतापूर्वक क्रियान्वयन में भी डाकघर द्वारा सक्रिय भूमिका का निर्वाहन किया जा रहा है | इसके अतिरिक्त सामाजिक सरोकार के निर्वाहन के लिए आधार नामांकन व अपडेशन के 52 केंद्र बनाये गये है जिसमें नया आधार बनाने के साथ-साथ सुधार का कार्य भी किया जा रहा है | वही आजमगढ़ की जनता को विदेश जाने के लिए आजमगढ़ व मउ में पासपोर्ट सेवा केंद्र खोला गया है | जिससे प्रतिदिन सैकड़ो पासपोर्ट बनाये जा रहे है | निरीक्षण के दौरान आजमगढ़ मण्डल के प्रवर अधीक्षक डाकघर योगेन्द्र कुमार मौर्य, आजमगढ़ प्रधान डाकघर के सीनियर पोस्टमास्टर जवाहर सिंह, सहायक अधीक्षक विवेकानंद सहित तमाम विभागीय अधिकारी-कर्मचारी मौजूद रहे ।




Wednesday, August 21, 2019

Dhai Akhar letter writing competition by India Post : Dear Bapu, You are Immortal

गाँधी जी का पत्रों से अटूट संबंध रहा है। यही कारण है कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती वर्ष में डाक विभाग द्वारा ‘प्रिय बापू, आप अमर हैं’ विषय पर "ढाई आखर" राष्ट्रीय स्तर पत्र लेखन प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। और  यदि आपका पत्र चुना गया तो पाँच हजार से पचास हजार रूपये तक का पुरस्कार भी मिलेगा। उक्त जानकारी लखनऊ मुख्यालय परिक्षेत्र के निदेशक डाक सेवाएँ श्री कृष्ण कुमार यादव ने दी। 

डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा  कि इस  'ढाई आखर' पत्र लेखन प्रतियोगिता में किसी भी उम्र के लोग भाग ले  सकते हैं। पहला वर्ग 18 वर्ष तक तथा दूसरा 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग का होगा। पत्र डाक विभाग द्वारा जारी अंतर्देशीय पत्र अथवा लिफाफे में ही स्वीकार्य होगा,  जिसमें क्रमशः 500 और 1,000 शब्दों में अंग्रेजी, हिन्दी अथवा स्थानीय भाषा में हाथ से पत्र लिखा जा सकता है। 
शहरों में  पत्र को प्रधान डाकघर या अन्य वितरण डाकघरों में इसके लिए निर्दिष्ट लेटर बॉक्स में ही  डालना होगा, जबकि गाँवों में लोग इसे अपने ब्रांच पोस्टमास्टर के माध्यम से भेज  सकते हैं। पत्र में अपना पूरा नाम, पता व जन्मतिथि सहित  चीफ पोस्टमास्टर जनरल, उत्तर प्रदेश परिमंडल, लखनऊ -226001  के पते पर 30 नवंबर, 2019  तक निर्धारित लेटर बॉक्स में  डाल दें। 

डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया  कि  प्रतियोगिता के विजेताओं को राज्य और राष्ट्रीय स्तरों पर तीन-तीन पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे। इनमें परिमंडलीय (राज्य) स्तर पर चयनित श्रेष्ठ पत्रों को प्रथम, द्वितीय व तृतीय श्रेणी में क्रमश: पचीस हजार, दस हजार व  पांच हजार रूपए का पुरस्कार दिया जायेगा। राष्ट्रीय  स्तर पर चयनित श्रेष्ठ पत्रों को प्रथम, द्वितीय व तृतीय श्रेणी में क्रमश: पचास हजार, पचीस हजार व दस हजार रूपए का पुरस्कार दिया जायेगा।

डाक विभाग द्वारा 'ढाई आखर' पत्र लेखन प्रतियोगिता :  ‘प्रिय बापू, आप अमर हैं’ विषय पर पत्र  लिखिए और पाईये 50 हजार रूपये तक का ईनाम 

फैजाबाद का कोटसराय गाँव बना 'सम्पूर्ण सुकन्या समृद्धि ग्राम' एवं 'सक्षम इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक ग्राम'

भारतीय डाक विभाग द्वारा फैजाबाद डाक मंडल में मसौधा ब्लाक के कोटसराय गाँव को 'सम्पूर्ण सुकन्या समृद्धि ग्राम' एवं 'सक्षम इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक ग्राम' बनाये जाने के अवसर पर 8 अगस्त, 2019 को सम्मान समारोह आयोजित किया गया।  भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के अतिमहत्वाकांक्षी योजना 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' अभियान के अन्तर्गत सुकन्या समृद्धि खाता एवं डिजिटल इंडिया के तहत इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक को जन-जन तक पहुँचाने  के उद्देश्य से लखनऊ मुख्यालय परिक्षेत्र के निदेशक डाक सेवायें श्री कृष्ण कुमार यादव के निर्देश पर फैज़ाबाद मण्डल के 5 गाँवों  को "सम्पूर्ण सुकन्या समृद्धि ग्राम" एवं  34 गाँवों को सक्षम इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक ग्राम' बनाया गया। इस दौरान सम्मान समारोह में बतौर मुख्य अतिथि लखनऊ मुख्यालय परिक्षेत्र के निदेशक डाक सेवायें श्री कृष्ण कुमार यादव ने शिरकत करते हुए कहा कि बेटियाँ देश का भविष्य हैं और राष्ट्र निर्माण में इनका महत्वपूर्ण योगदान है। भारत सरकार के अभियान 'बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ' के अन्तर्गत सभी लोगों का दायित्व है कि बेटियों के भविष्य को संवारने के लिए सार्थक कदम उठाएं। 
डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि  गाँवों में 10 साल तक की सभी योग्य बेटियों के खाते खुलवाकर उन्हें "सम्पूर्ण सुकन्या समृद्धि ग्राम" में बदला जायेगा। मात्र 250 रुपये से सुकन्या खाते खुलवाये जा सकते हैं। बेटियां ही 21वीं सदी में हमारे देश का भविष्य हैं। श्री यादव ने लोगों से रूबरू होते हुये कहा कि भारत सरकार द्वारा नारी सशक्तिकरण की दिशा में तमाम महत्वपूर्ण योजनाएँ चलायी जा रही हैं। इसी क्रम में डाकघरों में सुकन्या समृद्धि योजना में धन जमा करने से माँ-बाप अपनी बेटी के भविष्य को संवारने में अहम भूमिका निभायेंगे। इससे बेटियों को आर्थिक व सामाजिक रूप से भविष्य में मजबूत किया जा सकता है। कन्या भ्रूण हत्या रोकने, महिला सशक्तिकरण, उच्च शिक्षा में  सुकन्या समृद्धि योजना राष्ट्र निर्माण में सहायक होगी।



इसके साथ ही डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक के बारे में बताते हुए कहा कि सरकार इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक के माध्यम से तमाम सरकारी सब्सिडी दे रही है।  इसी खाते से गैस सब्सिडी, राशन सब्सिडी, विधवा पेंशन, दिव्यांग पेंशन, छात्रवृत्ति आदि घर बैठे डाकिया के माध्यम से मिल रहा है, अब किसी को भी दूर बैंकों तक जाने की जरूरत ही नहीं है क्योंकि "आपका बैंक आपके द्वार" सुविधा देने के लिए खड़ा हुआ है। दूसरी ओर उन्होंने दुकानदारों को आईपीपीबी का लाभ बताते हुए कहा कि वह मर्चेन्ट एकाउन्ट खुलवाकर ग्राहकों से खरीददारी का भुगतान ले सकते हैं। 




कार्यक्रम में शाखा पोस्टमास्टर कोटसराय श्रीमती पूनम सिंह को सक्षम आईपीपीबी ग्राम तथा समग्र सुकन्या समृद्धि ग्राम बनाने के लिए तथा अन्य में विकास पाण्डेय, अभय सिंह, प्रवेश यादव, मुकेश यादव आदि को सम्मानित किया। इस अवसर पर ग्राम प्रधान प्रतिनिधि श्री प्रदीप सिंह ने अपने गांव कोटसराय सक्षम व समग्र बनाए जाने पर हर्ष व्यक्त किया। 

फैज़ाबाद मण्डल के प्रवर अधीक्षक डाकघर श्री जेबी दुर्गापाल ने बताया कि कोटसराय, नरौली, सागरपट्टी पढ़िला, ऊंचेपुर, मकरही, गांवों को समग्र सुकन्या ग्राम तथा कोटसराय, बतौली, दसौली, धनेचा, नरौली सहित 34 गांवों को सक्षम गांव बनाया गया है। संचालन करते हुए मुख्य विपणन अधिकारी  सत्येन्द्र प्रताप सिंह ने सुकन्या समृद्धि एवं इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक के बारे में विस्तृत जानकारी दिया। इस अवसर पर ग्राम प्रधान अलगू सिंह, सहायक डाक अधीक्षक विनय यादव, सियाराम भारती, डाक निरीक्षक सिंकू, रोहित मनोज कुमार, एके सिंह, शोभनाथ यादव सहित डाक विभाग के तमाम अधिकारी-कर्मचारी, स्थानीय जन प्रतिनिधि और ग्रामीण मौजूद रहे।





बेटियाँ देश का भविष्य, राष्ट्र निर्माण में महत्वपूर्ण योगदान : डाक निदेशक केके यादव

गाँवों में सभी बेटियों के खाते खुलवा बनायेंगे 'संपूर्ण सुकन्या समृद्धि ग्राम'-डाक निदेशक केके यादव 

बेटियों के भविष्य को संवारने में  सुकन्या समृद्धि खाते का अहम योगदान, मात्र 250 रुपये में खाता खुलवाएं-डाक निदेशक केके यादव

घर बैठे पाएं इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक से बैंक की सुविधा : डाक निदेशक कृष्ण कुमार यादव

अब दिव्यांग, विधवा, सब्सिडी, छात्रवृत्ति का पैसा भी आई पी पी बी के माध्यम से 

Friday, August 16, 2019

डाक निदेशक केके यादव ने अभिनेता कार्तिक आर्यन को भेंट किया "माई स्टैम्प"

डाक टिकटों पर अपनी फोटो देखने की चाहत सभी को होती है। फिर चाहे वह आम आदमी हो या सेलिब्रेटी। युवा दिलों की धड़कन फिल्म अभिनेता कार्तिक आर्यन को ऐसा ही खूबसूरत उपहार दिया डाक विभाग ने। लखनऊ में हजरतगंज स्थित चीफ पोस्टमास्टर जनरल कार्यालय में "पति, पत्नी और वो" फिल्म की शूटिंग के लिए लखनऊ पधारे फिल्म अभिनेता कार्तिक आर्यन को लखनऊ मुख्यालय परिक्षेत्र के निदेशक डाक सेवाएँ श्री कृष्ण कुमार यादव ने कार्तिक आर्यन की डाक टिकटों वाली "माई स्टैम्प" भेंट की। कार्तिक आर्यन डाक टिकटों पर अपनी फोटो देखकर काफी रोमांचित हुए और इस बारे में काफी जानकारी भी ली ।
डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने उन्हें बताया कि इन डाक टिकटों को पत्रों पर लगाकर देश-विदेश भी भेजा जा सकता है। कार्तिक ने इस खूबसूरत गिफ्ट के लिए डाक विभाग का आभार जताया।  गौरतलब है कि लखनऊ जीपीओ और चीफ पोस्टमास्टर जनरल कार्यालय के हेरिटेज लुक के चलते कई हिंदी फिल्मों की शूटिंग यहाँ पर हुई हैं। इनमें रेड, गुलाबो सिताबो से लेकर पति, पत्नी और वो जैसी चर्चित फ़िल्में शामिल हैं। डाक निदेशक श्री यादव ने बताया कि माई स्टैम्प की सुविधा राजधानी में लखनऊ जीपीओ और चौक प्रधान डाकघर में उपलब्ध है। इसके अलावा महत्वपूर्ण प्रतिष्ठान "कॉरपोरेट माई स्टैम्प" के तहत अपने संस्थान की फोटो और लोगो डाक टिकटों पर लगवा सकते हैं। 

डाक निदेशक केके यादव ने अभिनेता कार्तिक आर्यन को भेंट किया  "माई स्टैम्प" 

डाक टिकट पर अपनी फोटो देखकर अभिनेता कार्तिक आर्यन हुए रोमांचित, डाक विभाग को कहा शुक्रिया