Friday, November 26, 2021

Constitution Day : 72वें 'संविधान दिवस' पर पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव ने डाककर्मियों को दिलाई शपथ


भारतीय डाक विभाग द्वारा वाराणसी परिक्षेत्र के सभी डाकघरों और प्रशासनिक कार्यालयों में 26 नवंबर, 2021 को 72वां संविधान दिवस मनाया गया। क्षेत्रीय कार्यालय में वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने सभी अधिकारियों व कर्मचारियों के साथ, संविधान की उद्देशिका का पाठ और वाचन किया, जिसे सभी ने दोहराते हुए संविधान में निहित मूल्यों के प्रति अपनी प्रतिबद्धता जाहिर की।

इस अवसर पर पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि, भारतीय संविधान विश्व का सबसे बड़ा संविधान ही नहीं, विश्व के लोकतान्त्रिक इतिहास का अद्वितीय दस्तावेज है। हमारे संविधान का प्रत्येक अनुच्छेद हर नागरिक के अधिकारों की गारंटी है और कर्तव्य का पवित्र स्मरण है। श्री यादव ने कहा कि हमारा संविधान समानता के अधिकार और लोकतांत्रिक दृष्टिकोण के साथ प्रगति व समृद्धि का रास्ता दिखाता है। 

सहायक निदेशक श्री राम मिलन ने कहा कि देश की आज़ादी की लड़ाई लड़ने वाले महापुरुषों ने आने वाली पीढ़ियों की आज़ादी बनाए रखने के लिए संविधान की रचना की। इसमें निहित भावना को अंगीकार करके ही हम लोगों का कल्याण कर सकते हैं।

इस अवसर पर सहायक निदेशक  कृष्ण चंद्र, लेखाधिकारी महेंद्र प्रताप वर्मा, सहायक अधीक्षक अजय कुमार, डाक निरीक्षक श्रीकान्त पाल, वीएन दिवेधी, सहायक लेखाधिकारी संतोषी कुमारी राय, अनुभाग पर्यवेक्षक अमरेन्द्र कुमार वर्मा, कार्यालय सहायक राजेन्द्र प्रसाद यादव, श्रीप्रकाश गुप्ता, अभिलाषा राजन, श्रवण कुमार सिंह, राहुल कुमार वर्मा, विजय कुमार, शम्भु प्रसाद गुप्ता, शशिकांत वर्मा, रामचंद्र यादव सहित तमाम अधिकारियों - कर्मचारियों ने संविधान दिवस पर शपथ ली।

भारतीय संविधान में अधिकारों व कर्त्तव्यों का सुंदर समन्वय - पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव

Thursday, November 25, 2021

President released a customized My Stamp & Special Cover on “Centenary Celebration of Harcourt Butler Technical University, Kanpur”


A customized My Stamp and a Special Cover on “Centenary Celebration of Harcourt Butler Technical University, Kanpur” was released by Shri Ram Nath Kovind, President of India on 25th November, 2021. On the occasion, Smt. Anandiben Patel,  Governor of Uttar Pradesh, other dignitaries and Shri KK Sinha, Chief Postmaster General, Uttar Pradesh Circle remained present.

Department of Posts issued IVR toll free number 18002666868 for the benefit of the POSB account holders

डाकघर बचत योजनाओं को और सुलभ तथा कस्टमर-फ्रेंडली बनाने के लिए डाक विभाग ने टोल फ्री नम्बर जारी किया है। जिससे डाकघर बचत खाताधारक  घर बैठे डाक विभाग की तमाम सेवाएं प्राप्त कर सकेंगे और अपनी छोटी-मोटी समस्या के समाधान के लिए डाकघर नहीं आना पड़ेगा। डाक विभाग ने इण्टर एक्टिव वॉइस रेस्पान्स (आईवीआर) टोल फ्री नम्बर 18002666868 जारी किया है, जिस पर खाताधारक अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से कॉल करके लाभ उठा सकते हैं।  यह टोल फ्री नम्बर हिन्दी और अंग्रेजी भाषा में शुरू किया गया है। उक्त जानकारी वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने दी।

पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि डाक विभाग की इस टोल फ्री सुविधा के माध्यम से खाताधारक अपने सभी प्रकार के खातों के अकाउंट बैलेंस की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। एसबी, पीपीएफ और सुकन्या खाते के बारे में अंतिम 4 लेनदेन की जानकारी, किसी विशिष्ट लेनदेन की जानकारी, खातों  में अर्जित ब्याज और टैक्स कटौती की जानकारी ले सकते हैं। इसके अलावा खातों में जारी चेक की स्थिति और इसके भुगतान को रोकने हेतु अनुरोध भी किया जा सकता है। नया एटीएम कार्ड लेने, पिन में परिवर्तन और एटीएम कार्ड ब्लॉक करने की सुविधा भी इस टोल फ्री नंबर के माध्यम से उपलब्ध कराई जा रही है।

श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि वाराणसी परिक्षेत्र के डाकघरों में 31 लाख से ज्यादा खाते संचालित हैं, अतः  ऐसे खाताधारक जिन्होंने अपने खाते को मोबाइल नंबर से लिंक नहीं कराया है, उन्हें तत्काल डाकघर जाकर इसे लिंक करवा लेना चाहिए ताकि वे भी इन सुविधाओं का लाभ उठा सकें। डाक विभाग की तमाम बचत योजनाओं के बारे में भी इस टोल फ्री नंबर पर कॉल करके जानकारी प्राप्त की जा सकती है। इस सुविधा का सर्वाधिक लाभ सीनियर सिटीजन, महिलाएं, सुदूर क्षेत्रों में रहने वाले उन तमाम लोगों को मिलेगा जो डाकघर में व्यक्तिगत रूप से उपस्थित नहीं हो सकते। यही नहीं, खाताधारकों को बैलेंस की जानकारी होने के कारण खातों में किसी प्रकार की गड़बड़ी की सम्भावना से भी बचा जा सकता है।

Postal Department issued IVR toll free number 18002666868 for the benefit of the POSB account holders

To make the Post office savings schemes more accessible and customer-friendly, the Department of Posts has issued a toll free number. Now, the Post Office savings account holders will be able to get the services of the Postal Department sitting at home and will not have to come to the Post Office to solve their minor problems. The Department of Posts has issued Inter Active Voice Response (IVR) toll free number 18002666868, which can be availed by the account holders by calling from their registered mobile number. This toll free number has been started in Hindi and English language. The above information was given by Mr. Krishna Kumar Yadav, Postmaster General, Varanasi Region.

Postmaster General Mr. Krishna Kumar Yadav said that through this toll free facility of the Department of Posts, account holders can get the account balance information of all types of accounts. Customers can get details of last 4 transactions, details of any specific transaction, interest earned and paid or tax deducted  in accounts  for SB, PPF and Sukanya Samriddhi Scheme accounts. Apart from this, the status of cheque issued in the accounts and request to stop payment of cheque can also be made. The facility to get a new ATM card,  PIN change and blocking of ATM card is also being made available through this IVR toll free number.

Postmaster General Mr. Yadav told that their are more than 31 Lac Accounts in Post Offices of Varanasi Region. Such account holders who have not linked their account with mobile number, they should immediately go to the Post Office and get it linked so that they too can avail these facilities. Information about all the savings schemes of the Postal Department can also be obtained by calling this toll free number. This facility will be very helpful for Senior citizens, women and people living in remote areas, who can't attend the Post Office in person. Not only this, due to the information of the account balance, the possibility of any kind of embezzlement can also be refrain.

Now check the balance of your POSB account by calling from home and get information about various schemes






पहल : डाक विभाग ने खाताधारकों की सुविधा के लिए जारी किया आईवीआर टोल फ्री नम्बर 18002666868

अब घर बैठे कॉल करके जानें अपने पोस्ट ऑफिस खाते का बैलेंस और लें विभिन्न योजनाओं की जानकारी

Wednesday, November 24, 2021

Now book your railway ticket from any Post Office, Service will be available in 1699 Post Offices of Varanasi Postal Region

The services of Post Offices are being expanded for the convenience of the public. In this sequence, now booking of railway tickets can also be done from Post Offices. For this, people will not need to go to the railway station or reservation center, but will be able to book train tickets from their nearest Post Office. This service will be available in Departmental Post Offices as well as Branch Post Offices located in villages. In the Dak Mela organized in Sewapuri Model Block of Varanasi on 23rd November, 2021, the Postmaster General of Varanasi Region, Mr. Krishna Kumar Yadav said that the Department of Posts will provide this service through Indian Railway Catering and Tourism Corporation (IRCTC). For this, the process of issuing user ID and password to the personnel of Post Offices is under going after their training. This facility will be made available in all 1699 Post Offices of Varanasi Postal Region. With the facility of booking railway tickets in Post Offices, the pressure of crowding at the Railway station counters will also be reduced. There will be no need to stand in queue for hours. During this, Sukanya Samridhi accounts of 3000 girls were opened by the Varanasi (West) Postal Division by organizing a special campaign. The Postmaster General wished for a happy future by handing over passbooks to the girls along with Senior Superintendent of Post Offices Mr. Rajan Rao and Superintendent of Posts Offices Mr. Sanjay Kumar Verma.

Postmaster General Mr. Krishna Kumar Yadav said that in the month of November and December, pensioners have to make rounds of the Treasury/concerned banks or Common service centers to produce the life certificate in the treasury or the concerned department. To get rid of this, Department of Post is providing the facility of Digital Life Certificate at door step through Postman via India Post Payments Bank. Now the postman will generate the life certificate of pensioners through bio-metric device at door step, for which a fee of ₹ 70 have to be paid.

Postmaster General Mr. Krishna Kumar Yadav said that Sewapuri in Varanasi is being developed as a model block by NITI Aayog. Under this, the Department of Posts is also playing important role in the field of financial literacy and inclusion. For this, 43 postman have been trained as Digital Mitra and so far more than 14,000 people have been financially literate in Sewapuri block. Under this scheme, 9 Five Star Villages, 33 Sampoorna Sukanya Samridhi Grams, 15 IPPB Sampoorna Saksham Grams and 8 Sampoorna Bima Grams have been made under Sevapuri Block. People have been motivated towards financial inclusion by organizing 133 camps for awareness about financial services by the Department of Posts. Through India Post Payments Bank, merchants and especially women shopkeepers are being encouraged to make digital payments by using merchant accounts.

Postmaster General Mr. Krishna Kumar Yadav said that, even today, Post Office savings schemes are most popular and people have been making safe investments from generation to generation. Facilities of Savings Bank, Insurance, Aadhaar, Passport, Common Service Center, India Post Payments Bank, Vehicle Insurance, Digital Life Certificate, Sale of Gangajal etc. are being provided under one roof in Post Offices.

Superintendent of Post Offices, Varanasi (West) Division, Sanjay Kumar Verma said that the Department of Posts is organizing camps and melas at various levels to promote Postal services and people gets connected with it easily.

In this program Senior Superintendent of Post Office Rajan Rao, Superintendent of Posts Varanasi (West) Division Sanjay Kumar Verma, Assistant Superintendent R.K. Chauhan, Inspector Shashikant Kannojia, Inderjit Pal, India Post Payments Bank Manager Sublesh Singh, Postmaster Sewapuri Anoop Pandey, Pradhan of Ghosila Village Pooja Singh, Manager, Khadi & Village Industries Shyam Prasad Vishwakarma along with many Postal employees, public representatives, school children participated.





Postmaster General Krishna Kumar Yadav inaugurated the Dak Mela in Model Block Sewapuri, opened 3000 Sukanya Samriddhi accounts

मॉडल ब्लॉक सेवापुरी में डाक मेले का पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव ने किया शुभारम्भ, खुले 3000 सुकन्या समृद्धि खाते

डाकघरों में जनसामान्य की सुविधा के लिए तमाम सेवाओं का विस्तार किया जा रहा है। इसी क्रम में अब डाकघरों से रेलवे टिकट की बुकिंग भी हो सकेगी। इसके लिए लोगों को रेलवे स्टेशन या आरक्षण केंद्र तक जाने की जरुरत नहीं पड़ेगी, बल्कि अपने नजदीकी डाकघर से रेल टिकट बुक करा सकेंगे। विभागीय डाकघरों के साथ-साथ गाँवों में स्थित शाखा डाकघरों में भी यह सेवा उपलब्ध होगी। वाराणसी के सेवापुरी मॉडल ब्लॉक में 23 नवंबर, 2021 को आयोजित डाक मेले में वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि डाक विभाग यह सेवा इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कारपोरेशन (आईआरसीटीसी) के माध्यम से देगा। इसके लिए सभी डाकघरों के कर्मियों को प्रशिक्षण पश्चात् उनके यूजर आईडी और पासवर्ड जारी करने की प्रक्रिया चालू है। वाराणसी परिक्षेत्र के सभी 1699 डाकघरों में यह सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। डाकघरों में रेलवे टिकट की बुकिंग की सुविधा मिलने से स्टेशन के काउंटरों पर भीड़ का दबाव भी कम होगा। घंटों कतार में भी नहीं लगना पड़ेगा। इस दौरान वाराणसी (पश्चिम) डाक मंडल द्वारा विशेष अभियान चलाकर 3 हजार बच्चियों के सुकन्या समृद्धि खाते खुलवाए गए। बच्चियों को पोस्टमास्टर जनरल ने प्रवर डाक अधीक्षक श्री राजन राव और डाक अधीक्षक श्री संजय कुमार वर्मा के साथ पासबुकें सौंपकर सुखद भविष्य की कामना की।

पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि नवम्बर और दिसंबर माह में पेंशनरों को जीवित प्रमाण पत्र कोषागार या सम्बंधित विभाग में जमा करने के लिए कोषागार/सम्बंधित बैंकों या जनसेवा केन्द्रों के चक्कर लगाने पड़ते हैं। इससे निजात दिलाने के लिए डाक विभाग इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक के माध्यम से घर बैठे डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट की सुविधा प्रदान कर रहा है। अब डाकिया घर बैठे ही बायो-मेट्रिक डिवाइस के माध्यम से पेंशनर्स का जीवन प्रमाण पत्र बना देगा जिसके लिए मात्र 70 रूपये का शुल्क देना होगा।

 पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि, नीति आयोग द्वारा वाराणसी के सेवापुरी को मॉडल ब्लॉक के तौर पर विकसित किया जा रहा है। इसके तहत डाक विभाग द्वारा भी लोगों को वित्तीय साक्षर बनाकर, वित्तीय समावेशन के क्षेत्र में अपनी भूमिका निभा रहा है। इस कड़ी में 43 डाकियों को प्रशिक्षित कर डिजिटल मित्र बनाया गया है और उनके द्वारा सेवापुरी ब्लॉक में अभी तक 14,000 से ज्यादा लोगों को वित्तीय तौर पर साक्षर किया जा चुका है। इस योजना के तहत ही सेवापुरी ब्लॉक के अंतर्गत 9 फाइव स्टार विलेज, 33 संपूर्ण सुकन्या समृद्धि ग्राम, 15 आईपीपीबी संपूर्ण सक्षम ग्राम और 8 संपूर्ण बीमा ग्राम बनाये गए हैं। डाक विभाग द्वारा वित्तीय सेवाओं के बारे में जागरूकता हेतु 133 कैम्प लगाकर लोगों को वित्तीय समावेशन की और अभिप्रेरित किया गया है। इण्डिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक के माध्यम से व्यापारियों और विशेषकर महिला दुकानदारों का मर्चेंट एकाउंट खोलकर उन्हें डिजिटल पेमेंट के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है।

पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि,आज भी डाकघर की बचत योजनाएँ सर्वाधिक लोकप्रिय हैं और इनमें लोग पीढ़ी दर पीढ़ी सुरक्षित निवेश करते आ रहे हैं।डाकघरों में एक ही छत के नीचे बचत, बीमा, आधार, पासपोर्ट, कॉमन सर्विस सेंटर, इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक, वाहनों का बीमा, डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट, गंगाजल की बिक्री जैसी तमाम सुविधाएं उपलब्ध हैं।

वाराणसी (पश्चिमी) मंडल के डाक अधीक्षक श्री संजय कुमार वर्मा ने कहा कि डाक सेवाओं के प्रचार-प्रसार और इससे लोगों को आसानी से जोड़ने हेतु डाक विभाग द्वारा विभिन्न स्तरों पर कैम्प और मेलों का आयोजन किया जा रहा है।

इस कार्यक्रम में प्रवर अधीक्षक डाकघर राजन राव, डाक अधीक्षक वाराणसी (पश्चिमी) मण्डल संजय कुमार वर्मा, सहायक अधीक्षक आरके चौहान, निरीक्षक शशिकांत कन्नौजिया, इंद्रजीत पाल, इण्डिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक मैनेजर सुबलेश सिंह, पोस्टमास्टर सेवापुरी अनूप पाण्डेय, ग्राम प्रधान घोसिला पूजा सिंह, खादी ग्रामोद्योग मैनेजर श्याम प्रसाद विश्वकर्मा सहित तमाम डाककर्मियों, जनप्रतिनिधियों, स्कूली बच्चों और जनमानस ने भागीदारी की।





मॉडल ब्लॉक सेवापुरी में डाक मेले का पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव ने किया शुभारम्भ, खुले 3000 सुकन्या समृद्धि खाते

पहल : अब डाकघरों से भी होगी रेलवे टिकट की बुकिंग, वाराणसी डाक परिक्षेत्र के 1699 डाकघरों से मिलेगी सेवा
  

Tuesday, November 23, 2021

Department of Posts released special cover on the Sanskriti Shasanacharya Golden Jubilee of Vidyasagar Ji Maharaj in Varanasi

Varanasi has been an ancient city of spirituality and culture. The land here has nourished and flourished various religions and their rich heritage. It has been the birthplace of 4 Tirthankaras of Jainism, Suparshvanath, Chandra Prabhu, Shreyans Nath and Parshvanath. Department of Posts has also enriched Jain culture from time to time by issuing Stamps and Special Covers related to Jainism. Mr. Krishna Kumar Yadav, Postmaster General of Varanasi Region, expressed the above words while releasing a Special Cover and Cancellation on the Sanskriti Shasanacharya Golden Jubilee of of Vidyasagar Ji Maharaj on 22nd November, 2021.

Postmaster General Mr. Krishna Kumar Yadav said that Vidyasagar ji Maharaj is not only a great scholar of various languages and subjects, but the work done by him in the field of social service and service to the nation is also inspiring. In such a situation, the Indian Postal Department released a Special Cover and Cancellation highlighting his merits to commemorate the Sanskriti Shasanacharya Golden Jubilee of Sant Shiromani Shri Vidyasagar Ji Mahamuniraj. This special cover will not only be a collectable for philatelists in the country and abroad, but through this the fame of this Golden Jubilee Celebration will reach abroad as well.

Highlighting the words written on Special Cover, Postmaster General Mr. Krishna Kumar Yadav said that, Acharya Shri Vidyasagar Ji Maharaj, the author of many texts including the epic Paramshradheya Antaryatri, Mookmati, the litterateur of languages like Hindi, Sanskrit, Prakrit, the spiritual guide of many seekers, motivator of cowsheds, influencer of 5 Girls Gurukul Pratibhasthali, motivator of non-violent handloom to youths of the country, motivator of handloom in jails, motivator of Bhagyoday Teerth (hospital), motivator of Poornayu Ayurveda Hospital and Research Vidyapeeth, motivator of several pilgrimages, motivator of several national heroes. In such a situation, the youth will also be encouraged by this Special Cover on him by the Postal Department.

In the program, the guest of honour, Senior Superintendent of Post Offices Rajan Rao told that the price of the said special cover has been kept at ₹ 25 including postage stamp. It can be purchased from Philatelic Bureau Varanasi Head Post Office.The sponsor of the special cover, Vijay Kumar Jain said that this initiative of the Postal Department will increase the promotion of Jain culture.

On this occasion, the General Secretary of Digambar Jain Samaj Mr. Arun Jain, Assistant Superintendent of Posts Pankaj Srivastava, Inspector of Posts Shrikant Pal, Harishankar Yadav, Shri Prakash Gupta and many other officers-employees of the Postal Department, Office bearers of Digambar Jain Samaj, Digambar Jain Mahasamiti, All India Digambar Jain Mahila Mandal, Jain Milan etc. were present.



डाक विभाग ने श्री विद्यासागर जी महाराज के संस्कृति शासनाचार्य स्वर्ण महोत्सव पर वाराणसी में जारी किया विशेष आवरण व विरूपण

वाराणसी अध्यात्म और संस्कृति की प्राचीन नगरी रही है। यहाँ की धरती विभिन्न धर्मों और उनकी समृद्ध विरासत को अपने में सहेजे हुये है। जैन धर्म के 24 में से 4 तीर्थंकरों सुपार्श्वनाथ, चंद्र प्रभु, श्रेयांस नाथ और पार्श्वनाथ की यह जन्मस्थली रही है। डाक विभाग ने भी समय-समय पर जैन धर्म से संबंधित डाक टिकट और विशेष आवरण जारी करके जैन संस्कृति को समृद्ध किया है। वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने ‘श्री विद्यासागर जी महाराज’ के संस्कृति शासनाचार्य स्वर्ण महोत्सव पर विशेष आवरण व विरूपण जारी करते हुए उक्त उद्गार व्यक्त किये। श्री पार्श्वनाथ दिगंबर जैन तीर्थ क्षेत्र, भेलूपुर में 22 नवम्बर, 2021 को आयोजित उक्त कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में प्रवर डाकघर अधीक्षक श्री राजन राव, श्री दिगंबर जैन समाज, काशी के अध्यक्ष श्री दीपक जैन, विशेष आवरण के संयोजक श्री विजय जैन और महामंत्री श्री अरुण जैन भी रहे।

पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि विद्यासागर जी महाराज न सिर्फ विभिन्न भाषाओं और विषयों के प्रकांड विद्वान हैं, अपितु समाज सेवा और राष्ट्र सेवा के क्षेत्र में उनके द्वारा किये गए कार्य भी प्रेरक हैं। ऐसे में भारतीय डाक विभाग ने संत शिरोमणि श्री विद्यासागर जी महामुनिराज के आचार्य पदारोहण के स्वर्ण जयंती के उपलक्ष्य में आयोजित संस्कृति शासनाचार्य स्वर्ण महोत्सव के अवसर पर इन खूबियों को रेखांकित करते एक विशेष आवरण व विरूपण जारी किया। यह आवरण न सिर्फ देश-विदेश में फिलेटलिस्ट के लिए संग्रहणीय होगा, बल्कि इसके माध्यम से इस स्वर्ण जयंती समारोह की प्रसिद्धि विदेशों में भी पहुँचेगी।

विशेष आवरण के संयोजक श्री विजय कुमार जैन ने बताया कि, आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज, परमश्रद्धेय अन्तर्यात्री, मूकमाटी महाकाव्य सहित अनेक ग्रन्थों के रचयिता, हिंदी, संस्कृत, प्राकृत आदि भाषाओं के साहित्यकार, अनेक साधकों के दीक्षा प्रदाता, गौशालाओं के प्रेरक, 5 बालिका गुरुकुल प्रतिभास्थली के प्रेरक, देश के युवाओं के लिए अहिंसक हथकरघा के प्रेरक, जेलों में हथकरघा के प्रेरक, भाग्योदय तीर्थ (अस्पताल) के प्रेरक, पूर्णायु आयुर्वेद चिकित्सालय एवं अनुसंधान विद्यापीठ के प्रेरक, अनेक तीर्थों के प्रेरक, अनेक राष्ट्रनायकों के प्रेरक रहे हैं। ऐसे में डाक विभाग द्वारा उन पर विशेष आवरण जारी करने से युवाओं को भी प्रोत्साहन मिलेगा।

कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि प्रवर डाक अधीक्षक श्री राजन राव ने बताया कि उक्त विशेष आवरण का मूल्य डाक टिकट सहित ₹ 25/- रखा गया है। इसे फिलेटलिक ब्यूरो वाराणसी प्रधान डाकघर से लिया जा सकता है। दिगम्बर जैन समाज।के महामंत्री श्री अरुण जैन ने कहा कि डाक विभाग की इस पहल से जैन संस्कृति के प्रचार-प्रसार में अभिवृद्धि होगी।

इस अवसर पर सहायक डाक अधीक्षक पंकज श्रीवास्तव, जाँच निरीक्षक श्रीकांत पाल, हरिशंकर यादव, श्रीप्रकाश गुप्ता सहित डाक विभाग के तमाम अधिकारी-कर्मचारीगण, श्री दिगम्बर जैन समाज, दिगम्बर जैन महासमिति, अखिल भारतीय दिगम्बर जैन महिला मंडल, जैन मिलन के तमाम पदाधिकारीगण और बुद्धिजीवी उपस्थित रहे।



बालिकाओं के सशक्तिकरण में अहम भूमिका निभा रही सुकन्या समृद्धि योजना -पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव

डाक विभाग अब सिर्फ पत्रों व मनीऑर्डर से नहीं जुड़ा है, बल्कि एक ही छत के नीचे तमाम सेवाएं उपलब्ध कराकर डाकघरों को बहुउद्देश्यीय बनाया गया है। बचत, बीमा, आधार, पासपोर्ट, कॉमन सर्विस सेंटर, इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक, वाहनों का बीमा, डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट, गंगाजल की बिक्री जैसी तमाम सुविधाएं डाकघरों में उपलब्ध हैं। उक्त उद्गार वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने वाराणसी (पूर्वी) डाक मंडल द्वारा चौबेपुर में 22 नवंबर, 2021 को आयोजित सुकन्या डाक मेले में संबोधन के दौरान बतौर मुख्य अतिथि व्यक्त किये। उन्होंने बालिकाओं के सुरक्षित भविष्य एवं नारी सशक्तिकरण के बहुमूल्य साधन के रूप में डाक विभाग की अग्रणी भूमिका को रेखांकित करते बताया कि उनके उज्जवल भविष्य के लिए अभी से उन्हें आर्थिक व सामाजिक रूप से सुदृढ़ करने की जरूरत है। इसमें 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' के तहत प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा आरंभ 'सुकन्या समृद्धि योजना' महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है। आज भी डाकघर की बचत योजनाएँ सर्वाधिक लोकप्रिय हैं और इनमें लोग पीढ़ी दर पीढ़ी सुरक्षित निवेश करते आ रहे हैं। वाराणसी परिक्षेत्र में अब तक 2.10 लाख बालिकाओं के सुकन्या समृद्धि खाते खोले जा चुके हैं, वहीं 357 गाँवों को सम्पूर्ण सुकन्या समृद्धि ग्राम बनाया जा चुका है। जिसमें वाराणसी पूर्वी मंडल के 95 सम्पूर्ण सुकन्या समृद्धि ग्राम शामिल हैं।

पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत 10 साल की उम्र तक की सभी बेटियों को चिन्हित करते हुए डाकघरों में उनके खाते खुलवाने एवं समस्त गाँवों को सम्पूर्ण सुकन्या ग्राम बनाने हेतु जोर दिया और वित्तीय समावेशन के तहत अधिकाधिक लोगों को डाकघर बचत, डाक जीवन बीमा योजना और इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक की योजनाओं से जोड़ने पर विशेष जोर दिया। सभी प्रकार के बचत खातों से आधार एवं मोबाइल संख्या लिंक करने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि किसानों सहित अन्य तमाम लाभार्थियों के बैंक खातों में आने वाली डीबीटी राशि की निकासी के लिए अब किसी को भी बैंक या एटीएम जाने की जरूरत नहीं, बल्कि घर बैठे ही सभी अपने आधार लिंक्ड बैंक खाते से डाकिया के माध्यम से निकासी कर सकते हैं। वाहनों का बीमा भी अब इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक कर रहा है। सरकार की विभिन्न योजनाओं का लाभ उठाने हेतु आधार जरूरी है, ऐसे में अब घर बैठे डाकिया के माध्यम से ही आधार से लिंक मोबाइल नम्बर भी अपडेट किया जा सकता है। श्री यादव ने बताया कि एक अन्य सुविधा के रूप में अब पेंशनरों को जीवन प्रमाणपत्र जमा करने के लिए कोषागार या बैंक जाने की जरूरत नहीं, बल्कि घर बैठे डाकिया के माध्यम से बायोमेट्रिक डिवाइस द्वारा डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट बनवा सकते है। आमजन को विभिन्न सेवाओं के लिए भटकना न पड़े और सारी सेवाएं एक ही छत के नीचे उपलब्ध हो सकें, इसके लिए अब डाकघरों में भी काॅमन सर्विस सेंटर की स्थापना की जा रही है। यहाँ एक साथ केंद्र व विभिन्न राज्य सरकारों की 73 सेवाएँ मिलेंगी।

वाराणसी पूर्वी मंडल के प्रवर अधीक्षक डाकघर श्री राजन ने कहा कि सुकन्या समृद्धि योजना से बेटियों को जोड़ने हेतु डाककर्मियों द्वारा घर-घर जाकर पहल की जा रही है। मात्र 250 रुपये में खोले जाने वाले इस खाते में एक वित्तीय वर्ष में अधिकतम डेढ़ लाख रूपये जमा किये जा सकते हैं। बालिका के 18 वर्ष की आयु प्राप्त कर लेने अथवा 10वीं कक्षा पास कर लेने के उपरांत जमा राशि का 50 प्रतिशत तक निकाला जा सकता है। खाते की परिपक्वता अवधि खाता खोलने की तारीख से 21 वर्ष है, तथापि बालिका द्वारा 18 वर्ष की आयु प्राप्त कर लेने के बाद विवाह के समय बंद किया जा सकता है।

इस कार्यक्रम में प्रवर डाकघर अधीक्षक डाकघर राजन राव, अधीक्षक डाकघर वाराणसी पश्चिमी मण्डल संजय कुमार वर्मा, ग्राम प्रधान चौबेपुर राघवेंद्र जायसवाल, ग्राम प्रधान शाहपुर श्रवण कुमार, ग्राम प्रधान कादीपुर खुर्द संजय यादव, ग्राम प्रधान गौर रामजी, ग्राम प्रधान बर्थरा खुर्द सुनील यादव, सहायक अधीक्षक डाकघर पंकज कुमार श्रीवास्तव, सुरेश चंद, निरीक्षक डाकघर बलवीर सिंह, श्रीकान्त पाल, पोस्टमास्टर चौबेपुर अनूप पाण्डेय सहित तमाम स्थानीय जनप्रतिनिधि, अधिकारी -कर्मचारी एवं सम्मानित जनता ने भागीदारी की।



Sunday, November 14, 2021

पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय नगर उपडाकघर का किया निरीक्षण

डाक विभाग नित नवाचार के साथ अपनी सेवाओं को व्यापक बना रहा है तथा एक ही छत के नीचे तमाम सेवाएं उपलब्ध कराकर डाकघरों को कस्टमर-फ्रेंडली बनाया गया है। उक्त उद्गार वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने 13 नवंबर, 2021 को पंडित दीनदयाल उपाध्याय नगर उपडाकघर, चंदौली के विजिट के दौरान व्यक्त किये। पोस्टमास्टर जनरल अचानक पंडित दीनदयाल उपाध्याय नगर उपडाकघर पहुँचे और वाराणसी पूर्वी मंडल के प्रवर अधीक्षक डाकघर श्री राजन राव के साथ वहाँ डाक सेवाओं की प्रगति का जायजा लिया। 

पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने डाक अधिकारियों व सभी कर्मचारियों से विभिन्न सेवाओं में विभागीय लक्ष्यों की प्राप्ति सुनिश्चित करने हेतु कहा। सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत 10 साल की उम्र तक की सभी बेटियों को चिन्हित करते हुए डाकघरों में उनके सुकन्या समृद्धि खाते खुलवाने एवं समस्त गावों को सम्पूर्ण सुकन्या ग्राम बनाने हेतु जोर दिया और वित्तीय समावेशन के तहत अधिकाधिक लोगों को डाकघर बचत, डाक जीवन बीमा योजना और इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक की योजनाओं से जोड़ने पर विशेष जोर दिया। सभी प्रकार के बचत खातों से आधार एवं मोबाइल संख्या लिंक करने पर बल दिया। उन्होंने यह भी कहा कि आज भी डाकघर बचत योजनाओं में ब्याज सर्वाधिक है और डाक विभाग घर बैठे भी कई सुविधाएं उपलब्ध करा रहा है। किसानों सहित अन्य तमाम लाभार्थियों के बैंक खातों में आने वाली डीबीटी राशि की निकासी के लिए अब किसी को भी बैंक या एटीएम जाने की जरूरत नहीं, बल्कि घर बैठे ही सभी अपने आधार लिंक्ड बैंक खाते से डाकिया के माध्यम से निकासी कर सकते है।दुपहिया-चौपहिया वाहनों का बीमा भी अब इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक कर रहा है।

पोस्टमास्टर जनरल श्री यादव ने कहा कि  सरकार की विभिन्न योजनाओं का लाभ उठाने हेतु आधार जरूरी है, ऐसे में अब घर बैठे डाकिया के माध्यम से ही आधार से लिंक मोबाइल नम्बर भी अपडेट किया जा सकता है। श्री यादव ने बताया कि एक अन्य सुविधा के रूप में अब पेंशनरों को जीवित प्रमाणपत्र जमा करने के लिए कोषागार या बैंक जाने की जरूरत नहीं, बल्कि घर बैठे डाकिया के माध्यम से बायोमेट्रिक डिवाइस द्वारा डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट बनवा सकते है। आमजन को विभिन्न सेवाओं के लिए भटकना न पड़े और सारी सेवाएं एक ही छत के नीचे उपलब्ध हो सकें, इसके लिए अब डाकघरों में भी काॅमन सर्विस सेंटर की स्थापना की जा रही है। यहाँ एक साथ केंद्र व विभिन्न राज्य सरकारों की 73 सेवाएँ मिलेंगी। शीघ्र ही काॅमन सर्विस सेंटर की सेवा अब सभी शाखा डाकघरों से भी प्राप्त हो सकेगी। 

पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने कर्मचारियों को जनमानस से नियमित संवाद कर एवं ग्रामीण क्षेत्रों में ज्यादा से ज्यादा डाक मेला लगाकर विभिन्न क्षेत्रों में ज्यादा से ज्यादा व्यवसाय अर्जित करने तथा गाँवों को 5 स्टार विलेज बनाने हेतु निर्देशित किया। इस अवसर पर प्रवर अधीक्षक डाकघर राजन राव, निरीक्षक डाकघर बलबीर सिंह, श्रीकान्त पाल, पोस्टमास्टर अनुज कुमार शुक्ला तथा मार्केटिंग एक्जीक्यूटिव दिनेश तिवारी सहित तमाम अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहे।








Friday, November 12, 2021

Postmaster General Krishna Kumar Yadav's blog 'Dakiya Daak Laya' included in the top Hindi blogs

The blog 'Dakiya Dak Laya' (http://dakbabu.blogspot.com) of the Postmaster General of Varanasi Region, Shri Krishna Kumar Yadav, who has given a wide dimension to his creativity through blogging and wide publicity of Hindi on the Internet in the country and abroad,  has been included in Top Hindi Blogs. A survey agency  ‘Indian Top Blogs’ has included it in the directory of best Hindi blogs on the basis of the survey done on various blogs. Till now 1226 posts have been published on 'Dakiya Dak Laya', which is read in more than a hundred countries. It has been read by more than 6.72 lakh people. Active in blogging since the year 2008 and honoured with 'Best Hindi Blogger Couple of the Decade' and 'Parikalpana Blogging SAARC Shikhar Samman', Shri Krishna Kumar Yadav has become a well-known face in the field of Hindi blogging. The 'Dakiya Dak Laya' blog, through its various posts, underlines the broadness, diversity of postal services and all the changes taking place in them in modern times. Through this, an attempt has also been made to bring to the fore all the untouched aspects related to postal services.

 Apart from being a senior administrative officer of the Indian Postal Service,  Shri Krishna Kumar Yadav is also active in literature and writing. He has authored  7 books so far - 'Abhilasha' (collection of poems), 'Abhiveyktiyon Ke Bahaane' and ' Anubhutiyan Aur Vimarsh' (Essay-Collection), 'India Post: 150 Glorious Years' (2006), 'Kranti Yagya: 1857-1947 ki Gaatha', ‘Jungle mein Cricket' (Children's Song Collection) and '16 Anae 16 Log’ (Essay-collection). So far Mr. Yadav have travelled to countries like London, France, Germany, Netherlands, South Korea, Bhutan, Sri Lanka, Nepal, in order of departmental responsibilities and promotion of Hindi. His popular blogs are 'Shabd Shrijan Ki Or' (http://kkyadav.blogspot.com) and ' Dakiya Dak Laya' (http://dakbabu.blogspot.com). He has  been honored in the International Bloggers Conference organized in  countries including Nepal, Bhutan and Sri Lanka. After working on various posts in different parts of the country- Surat (Gujarat), Kanpur, Andaman-Nicobar Islands, Allahabad, Jodhpur, Lucknow, he is currently working as Postmaster General of Varanasi Region.



टॉप हिंदी ब्लॉग्स में शामिल हुआ पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव यादव का ब्लॉग 'डाकिया डाक लाया'

 

देश-विदेश में इंटरनेट पर हिंदी के व्यापक प्रचार-प्रसार और ब्लॉगिंग के माध्यम से अपनी रचनाधर्मिता को विस्तृत आयाम देने वाले वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव के ब्लॉग 'डाकिया डाक लाया' (http://dakbabu.blogspot.com/) को टॉप हिंदी ब्लॉग्स में शामिल किया गया है। इंडियन टॉप ब्लॉग्स नामक सर्वे एजेंसी ने विश्व के हिंदी ब्लॉगों पर किये गए सर्वे के आधार पर इसे सर्वश्रेष्ठ हिंदी ब्लॉगों की डायरेक्टरी में सम्मिलित  किया है, जिसमें वर्ष 2021 में 107 हिंदी ब्लॉगों को स्थान मिला है। सौ से ज्यादा देशों में देखे-पढ़े जाने वाले 'डाकिया डाक लाया' पर अब तक 1226 पोस्ट प्रकाशित हैं। इसे 6.72 लाख से ज्यादा लोगों ने पढ़ा है। वर्ष 2008 से ब्लॉगिंग में सक्रिय एवम 'दशक के श्रेष्ठ हिंदी ब्लॉगर दम्पति' और सार्क देशों के सर्वोच्च 'परिकल्पना ब्लॉगिंग सार्क शिखर सम्मान' से सम्मानित श्री कृष्ण कुमार यादव हिंदी ब्लॉगिंग के क्षेत्र में जाना-पहचाना नाम बन चुके हैं। 'डाकिया डाक लाया' ब्लॉग अपनी विभिन्न पोस्ट के माध्यम से डाक सेवाओं की व्यापकता, विविधता और आधुनिक दौर में उनमें हो रहे तमाम बदलावों को रेखांकित करता है। इसके  माध्यम से डाक सेवाओं से सम्बंधित तमाम छुए-अनछुए पहलुओं को सामने लाने का प्रयास भी किया गया है। 

भारतीय डाक सेवा के वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी होने के साथ-साथ साहित्य और लेखन में भी सक्रिय पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव की अब तक 7 पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं- 'अभिलाषा' (काव्य-संग्रह), 'अभिव्यक्तियों के बहाने' व 'अनुभूतियाँ और विमर्श' (निबंध-संग्रह), 'India Post : 150 Glorious Years' (2006), 'क्रांति-यज्ञ : 1857-1947 की गाथा', 'जंगल में क्रिकेट' (बाल-गीत संग्रह) और '16 आने 16 लोग' (निबंध-संग्रह)। विभागीय दायित्वों और हिन्दी के प्रचार-प्रसार के क्रम में अब तक आप लंदन, फ़्रांस, जर्मनी, नीदरलैंड, दक्षिण कोरिया, भूटान, श्रीलंका, नेपाल जैसे देशों की यात्रा कर चुके हैं। 'शब्द सृजन की ओर' (http://kkyadav.blogspot.com) और  'डाकिया डाक लाया' (http://dakbabu.blogspot.com) आपके चर्चित ब्लॉग हैं। नेपाल, भूटान और श्रीलंका सहित तमाम देशों में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय ब्लॉगर्स सम्मेलन में आप सम्मानित हो चुके हैं। देश के विभिन्न भागों- सूरत (गुजरात), कानपुर, अंडमान-निकोबार द्वीप समूह, इलाहाबाद, जोधपुर, लखनऊ में विभिन्न  पदों पर कार्य करने के उपरांत सम्प्रति वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल पद पर कार्यरत हैं।