Monday, January 30, 2017

भारतीय डाक बना तीसरा पेमेंट बैंक, आरबीआई ने दिया लाइसेंस

पेटीएम, एयरटेल को पेमेंट बैंक का लाइसेंस देने के बाद रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने इंडिया पोस्ट (भारतीय डाक) को भी इसका लाइसेंस दे दिया है। अब आपका नजदीकी डाकघर भी पेमेंट बैंक का काम करना शुरू कर देगा। 

पेमेंट बैंक  कैसे करेगा कार्य 
रिजर्व बैंक ने भुगतान बैंकों को एक व्यक्ति या कारोबारी इकाई से ज्यादा से ज्यादा एक लाख रूपए तक की जमा राशियां स्वीकार करने की छूट दी है।  बैंक सेवाओं के विस्तार के इस मॉडल  में मोबाइल फोन सेवा कंपनियों और सुपर-मार्केट श्रृंखला कंपनियों  को व्यक्तियों और छोटे व्यावसायिक प्रतिष्ठानों की कारोबार की लेन-देन की जरूरतों को सुगम बनाने के लिए इस तरह के बैंक चालू करने की अनुमति देने का प्रावधान है। ये बैंक छोटी राशि की जमाएं लेने और पैसा हस्तांतरित करने जैसी सेवाएं देंगे।  ये इंटरनेट बैंकिंग और कुछ अन्य विनिर्दिष्ट सेवाएं भी दे सकेंगे। 

इस लाइसेंस के तहत इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक शुरू कर सकेगा।  पेमेंट बैंक की शर्तों के अनुसार वह आम जमाकर्ताओं और छोटे कारोबारियों से एक लाख रुपये तक का डिपॉजिट स्वीकार कर सकेगा। नए मॉडल की बैंकिंग में मोबाइल कंपनियों, सुपरमार्केट और अन्य संस्थानों को आम लोगों और छोटे कारोबारियों को बैंकिंग सेवाएं देने के लिए लाइसेंस दिये जा रहे हैं।  ये बैंक सामान्य बैंकों से अलग होगा। उन्हें सीमित डिपॉजिट लेने, रेमिटेंस यानी मनी ट्रांसफर, इंटरनेट बैंकिंग और कुछ अन्य सेवाएं देने की अनुमति दी गई है। 


पेमेंट बैंक के लिए खुलेंगी 650 नई ब्रांच
इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक का लाइसेंस मिलने के बाद पूरे देश में  650 नई ब्रांच खोलेगा। ये बैंक छोटी राशि जमा करने और उसको ट्रांसफर करने का काम करेंगे। इसके अलावा इन बैंकों में इंटरनेट बैंकिंग और कुछ अन्य सेवाएं भी मिलेंगी। भारतीय डाक के एक अधिकारी ने बताया इंडियापोस्ट की पेमेंट बैंक सर्विसेज पहले के तय कार्यक्रम के मुताबिक ही शुरू की जाएंगी। 

11 कंपनियों को मिली थी पेमेंट बैंक शुरू करने की सैद्धांतिक मंजूरी
आरबीआइ ने 2015 में इंडिया  पोस्ट समेत 11 कंपनियों और संस्थानों को पेमेंट बैंक शुरू करने के लिए अपनी सैद्धांतिक मंजूरी दी थी।  इसके तहत वे पेमेंट बैंक शुरू कर सकते थे।  सैद्धांतिक मंजूरी में ही उन्हें भविष्य में लाइसेंस देने का प्रस्ताव किया गया था।  हालांकि टेक महिंद्रा, सन फार्मा, आइडीएफसी, टेलीनोर फाइनेंशियल सर्विसेज और चोलामंडलम इन्वेस्टमेंट एंड फाइनेंस कंपनी ने बाद में पेमेंट बैंक बनने की अर्जी वापस ले लीं।  रिजर्व बैंक के अनुसार, पेमेंट बैंक एक व्यक्ति या कारोबारी इकाई से अधिकतम एक लाख रुपये तक की जमा राशि ही स्वीकार कर सकते हैं। 

एयरटेल ने शुरू किया पेमेंट बैंक
मोबाइल सेवा प्रदाता कंपनी एयरटेल ने सबसे पहले अपना पेमेंट बैंक शुरू कर दिया है। इस बैंक में पैसा जमा करने वालों को 7.25 फीसदी की दर से ब्याज मिलेगा। एयरटेल के पेमेंट बैंक से देश के किसी भी बैंक खाते में पेमेंट किया जा सकेगा। इसमें व्यक्ति का मोबाइल नंबर ही बैंक अकाउंट नंबर हो जाएगा। 
Post a Comment