Monday, May 13, 2013

अब नई तकनीक से जुड़ेगे ग्रामीण डाकघर

(भारतीय डाक विभाग अब नई तकनीकों के माध्यम से डाक घरों को जोड़ रहा है। कम्प्यूटराइजेशन, प्रोजेक्ट एरो के बाद अब कोर बैंकिंग साल्युशंस (CBS) और फिर गाँवों में स्थित ब्रांच पोस्ट ऑफिसेज को नेट-बुक  और हैण्ड होल्ड डिवाइस के साथ और हाई-टेक बनाना। 12 मई को इन्हीं मुद्दों पर हम बनारस में रूबरू हुए  लगभग 400 ब्रांच पोस्टमास्टर्स से। उनमें उत्साह दिखा, उत्सुकता दिखी और बदलते वक़्त और नई तकनीक के साथ चलने का साहस भी ....आमीन ! अख़बारनवीसों ने भी इसे हाथों-हाथ लिया ...आभार !!)



वक्त के साथ डाक सेवाओं में तमाम बदलाव आये हैं  और अब डाक विभाग इस बदलाव को ग्रामीण स्तर तक ले जाने की प्रक्रिया में है । इसी क्रम में वाराणसी व सन्त रविदास नगर (भदोही) के ग्रामीण इलाकों के ब्रान्च पोस्टमास्टर व ग्रामीण डाक सेवकों के लिये एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन प्रधान डाकघर , वाराणसी (विशेश्वरगंज) में दिनांक 12.05.2013  को किया गया । 


कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में  श्री कृष्ण कुमार यादव निदेशक डाक सेवायें, इलाहाबाद परिक्षेत्र एवं अध्यक्षता श्री एस0 एस0 मिश्रा , प्रवर अधीक्षक डाकघर वाराणसी (पूर्व) मण्डल व विशिष्ट अतिथि के रूप में श्री ए0के0श्रीवास्तव ,अधीक्षक डाकघर वाराणसी (पश्चिम) मण्डल उपस्थित रहे।


इस अवसर पर कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुये मुख्य अतिथि निदेशक डाक सेवायें श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि आज का दौर कम्प्यूटर एवं टेक्नोलाजी का है और यदि समाज एवं राष्ट्र को उन्नतशील बनाना है तो ग्रामीण स्तर तक भी इस टेक्नोलाजी को पहुचाना होगा और डाक विभाग इस दिशा में प्रयासरत है । श्री यादव ने कहा कि आइ0 टी0 मार्डनाइजेशन प्रोजेक्ट-2012 के तहत गाँव मे स्थित शाखा डाकघरों को हाईटेक किया जायेगा और वहाँ  पर नेटबुक व हैण्डहेल्ड डिवाइस भी दिया जायेगा । यही नहीं इसके साथ-साथ मोबाइल थर्मल प्रिन्टर , स्मार्ट कार्ड रीडर, फिंगर प्रिन्ट स्कैनर, डिजिटल कैमरा एवं सिगनेचर व दस्तावेज स्कैनिंग के लिये यन्त्र भी मुहैया कराया जायेगा ताकि ग्रामीण लोगों को इन सुविधाओं के लिये शहरों की तरफ न भागना पडे । 

डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने ग्रामीण स्तर के डाकघरों में राजस्व बढ़ाने पर जोर दिया । उन्होंने कहा कि हर ब्रान्च पोस्टमास्टर यदि प्रतिमाह दो लाख रूपये का ग्रामीण जीवन बीमा कराता है और गाँव के प्रत्येक परिवार में डाक बचत खाता खुलवाता है तो इससे शाखा डाकपाल एवं विभाग दोनों की आय बढ़ेगी । श्री यादव ने ,हर डाक मण्डल में एक प्रमुख विभाग को सम्पूर्ण बीमा संगठन एवं पन्द्रह गाँवों को सम्पूर्ण बीमा गाँव बनाने पर जोर दिया । इसके लिए उन्होंने ब्रान्च पोस्टमास्टरों से सहयोग की अपील की । श्री यादव ने ग्रामीण स्तर पर डाकघरों में मनरेगा एवं बी0 पी0 एल0 से सम्बन्धित खाते खोलने की बात कही । उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में डाकघरों को कोर बैंकिंग  सोल्यूशन से जोडा जा रहा है, जिससे ग्रामीण स्तर पर भी बैंकिंग क्षेत्रों में क्रान्तिकारी कदम का सूत्रपात होगा और डाकघरों के खाताधारक नेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग  एवं ए0टी0एम0 सुविधाओं का लाभ उठा सकेंगें ।

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे प्रवर अधीक्षक डाकघर वाराणसी (पूर्व) मण्डल श्री एस0 एस0 मिश्रा ने राजस्व बढाने के लिये अभी से जुटने का आह्नवान किया ताकि इस वित्तीय वर्ष में वाराणसी मण्डल से डाक विभाग को ज्यादा राजस्व प्राप्त हो सके । डाक अधीक्षक श्री ए0के0श्रीवास्तव ने डाक सम्बन्धित कार्यों की नियमित मानीटरिंग पर जोर दिया और कहा कि इस माध्यम से ग्राहकों के प्रति हम और प्रतिबद्व हो सकेेंगे।

इस अवसर पर उत्कृष्ट कार्य करने वाले कर्मचारियों को निदेशक डाक सेवायें श्री कृष्ण कुमार यादव ने सम्मानित भी किया । पुरस्कार पाने वालों में शाखा डाकपाल श्रर्वश्री उमा सिंह, श्याम लाल,  शिवाजी दुबे ,जितेन्द्र गिरि , दीप नाथ यादव,सुश्री सीमा देवी , वन्दना दुबे व डाक वितरक विजय कुमार तथा सुश्री मन्जू  सम्मिलित थे । 

इस अवसर पर विभिन्न डाक सेवाओं के बारे में पावर प्वाइंट प्रजेन्टेशन द्वारा प्रस्तुति देकर डाक कर्मचारियों को अद्यतन व प्रोत्साहित किया गया । 

इस अवसर पर श्री एस0 एम0 राय, सीनियर पोस्टमास्टर वाराणसी प्रधान डाकघर, श्री प्रभाकर त्रिपाठी ,श्री आर0 सी0 राम ,सहायक डाक अधीक्षक, श्री दीपक कुमार ,श्री बी0 के0 शर्मा डाक निरीक्षक सहित तमाम अधिकारी एवं कर्मचारी गण उपस्थित थे । 





Post a Comment