Tuesday, December 3, 2013

डाक विभाग ने शुरू की 'एक्सप्रेस पार्सल' और 'बिजनेस पार्सल' सेवा

ऑनलाइन शापिंग के बढ़ते चलन को भुनाने के लिए डाक विभाग ने सोमवार को दो नई सेवाओं- एक्सप्रेस पार्सल और बिजनेस पार्सल सेवा की शुरुआत की है। यह सेवा ना केवल कैश ऑन डिलिवरी है, बल्कि पार्सल गुम होने पर डाक विभाग ग्राहक को हर्जाना भी देगा। ग्राहक पार्सल के बारे में किसी भी प्रकार की जानकारी ऑनलाइन भी हासिल कर सकेंगे। शुरू में देश के 20 शहरों में यह सुविधा उपलब्ध होगी।
प्रधान डाक घर में आयोजित कार्यक्रम में डाक विभाग की सचिव पी. गोपीनाथ ने बताया कि टीवी पर उत्पाद बेचने वाले कई चैनल चल रहे हैं। अब लोग टीवी पर उत्पाद देख आर्डर कर रहे हैं। इस कारण पिछले कुछ वर्षो में पार्सल के कारोबार में वृद्धि हुई है। ऑनलाइन शॉपिंग के चलन को भुनाने के लिए डाक विभाग ने दो नई सेवाओं-एक्सप्रेस पार्सल और बिजनेस पार्सल की शुरुआत की है।
एक्सप्रेस पार्सल सेवा खुदरा और कॉरपोरेट ग्राहकों के लिए होगी। पार्सल को भेजने के लिए हवाई सुविधा का भी प्रयोग किया जाएगा। इसके तहत खुदरा ग्राहक 35 किलो तक के पार्सल भेज सकते हैं। जबकि बिजनेस पार्सल सेवा केवल कॉरपोरेट ग्राहकों के लिए है। पार्सल पर बार कोडिंग लगाई जाएगी। बार कोडिंग की मदद से ग्राहक इसकी जानकारी हासिल कर पाएंगे कि उनका पार्सल कहां तक पहुंचा है। निजी कंपनियों से डाक विभाग की प्रतिस्पद्र्धा के बारे में पूछे जाने पर पी. गोपीनाथ ने बताया कि डाक विभाग के पास देश में 1.55 लाख से अधिक पोस्ट आफिस हैं। इसलिए निजी कंपनियों से तुलना बेमानी होगी।
इन शहरों में होगी सुविधा
आगरा, बेंगलूरू, भुवनेश्वर, चेन्नई, दिल्ली-एनसीआर, पटना, गुवाहाटी, हैदराबाद, इंदौर, जयपुर, जम्मू, कोलकाता, लखनऊ, लुधियाना, मुंबई, पुणे, परवानू, शिलांग, सूरत और तिरुवनंतपुरम।
100 करोड़ के कारोबार की उम्मीद
सचिव पी. गोपीनाथ ने एक्सप्रेस पार्सल और बिजनेस पार्सल से एक साल में 100 करोड़ रुपये के व्यवसाय की उम्मीद जताई। गोपीनाथ ने बताया कि जल्द ही और पार्सल कस्टमर हैंडल सेंटर खोले जाएंगे। फिलहाल इनकी संख्या 20 है।
एक्सप्रेस पार्सल की दर
क्षेत्र- 500 ग्राम तक - 5 किलो तक हर 500 ग्राम पर - 5 किलो से ऊपर हर 500 ग्राम पर
लोकल-30 रुपया- 8 रुपया-10 रुपया
राज्य के भीतर- 50-14-16
पड़ोसी राज्य- 60-18-20
दूसरे राज्य- 80-20-22
मेट्रो और राज्य राजधानी-70-18-20
दिल्ली-एनसीआर-40-10-12

*************************************************************************

संचार और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के डाक विभाग ने 2 दिसंबर को  'एक्सप्रेस पार्सल' और 'बिजनेस पार्सल' सेवा की शुरूआत की। नई दिल्‍ली के मुख्‍य डाक घर में आयोजित एक समारोह में डाक विभाग की सचिव श्रीमती पी. गोपीनाथ ने सेवा की शुरूआत की।

इस अवसर पर बोलते हुए श्रीमती गोपीनाथ ने कहा कि 'एक्सप्रेस पार्सल' सेवा खुदरा और थोक ग्राहकों के लिए एक प्रमुख सेवा है। यह घर पर समयबद्ध, सकुशल और सुरक्षित पार्सल सुपुर्दगी की पेशकश करती है। कम से कम पारवहन समय के लिए जहां जरूरत है पार्सल को एयरलिफ्ट दी जायेगी। थोक ग्राहकों के लिए भी 'बिजनेस पार्सल' पहुँचाना एक सस्ता विकल्प होगा। पी गोपीनाथ ने बताया कि इन सेवाओं से एक वर्ष में एक सौ करोड़ रुपये का राजस्व मिलने का अनुमान है।

इन दो नए पार्सल सेवाओं का उद्देश्य विश्वसनीय और कम लागत की सुपुर्दगी व्‍यवस्‍था की पेशकश से भारत में ई वाणिज्य बाजार को बढ़ावा देना है। जहां पर एक्‍सप्रेस पार्सल एक निश्चित समय पर पार्सल सुपुर्दगी के लिए हवाई डाक सेवा है, बिजनेस पार्सल सेवा धरातल पर तेज, सुरक्षित और सस्‍ता पारवहन उपलब्‍ध करायेगी। यह सेवाएं केश ऑन डिलीवरी सेवा हैं जोकि आज की ई वाणिज्‍य सेवा के लिए एक अपेक्षित शर्त है। 

'बिजनेस पार्सल' का राष्ट्रव्यापी क्षेत्र होगा हालांकि, 'एक्सप्रेस पार्सल' सेवा शुरू में 20 शहरों के बीच उपलब्ध होगी आगरा, बंगलोर, भुवनेश्वर, चेन्नई, दिल्ली (राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र), पटना, गुवाहाटी, हैदराबाद, इंदौर, जयपुर, जम्मू, कोलकाता, लखनऊ, लुधियाना, मुंबई, पुणे, परवानू, शिलांग, सूरत और तिरुवनंतपुरम। श्रीमती गोपीनाथ ने कहा कि इन दोनों सेवाओं का चरणबद्ध तरीके से राष्ट्रव्यापी विस्तार किया जाएगा। 
अगले एक वर्ष में एक्‍सप्रेस पार्सल सेवा से जुड़ने वाले शहरो की संख्या दोगुना करने का लक्ष्य रखा गया है।

Courtesy: http://pib.nic.in/newsite/hindirelease.aspx?relid=25478
Post a Comment