Sunday, December 27, 2015

डाक विभाग के आई. टी. मॉडर्नाइजेशन प्रोजेक्ट के तहत ग्रामीण शाखा डाकघर भी होंगे हाईटेक


राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र के अधीन सिरोही डाक मंडल के कार्य कलापों और व्यवसाय की विस्तृत समीक्षा राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र जोधपुर के निदेशक डाक सेवाएँ श्री कृष्ण कुमार यादव द्वारा 27 दिसंबर, 2015  को सामुदायिक भवन,पुलिस लाइन, सिरोही में की गई। इस दौरान डाक अधीक्षक से लेकर समस्त सहायक अधीक्षक, डाक निरीक्षक एवं समस्त डाकघरों के पोस्टमास्टर उपस्थित रहे। डाक निदेशक श्री यादव ने बदलते परिवेश में डाकघरों की कार्य प्रणाली, डाक वितरण,  बचत और बीमा सेवाओं, कोर बैंकिंग सर्विस, राष्ट्रीय स्वच्छ्ता अभियान की सिलसिलेवार समीक्षा के साथ  इस वित्तीय वर्ष में अर्जित लक्ष्यों की समीक्षा की तथा अधिक से अधिक नये बचत बैंक खाते, सुकन्या समृद्धि खाते खोलने एवं डाक जीवन बीमा/ग्रामीण डाक जीवन बीमा के व्यवसाय अर्जन बाबत  विस्तार पूर्वक रणनीति पर चर्चा की। 

राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र के निदेशक डाक सेवाएं श्री कृष्ण कुमार यादव ने इस अवसर पर कहा कि व्यवसायिकता के इस दौर में बिना स्वस्थ्य प्रतिस्पर्धा के कोई भी संगठन उन्नति नहीं कर सकता और डाक विभाग भी इस क्षेत्र में तमाम नये कदम उठा रहा है। डाक विभाग जहाँ नित् नई सेवायें लागू कर रहा है, वहीं लोगों की वर्तमान एवं भावी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिये टेक्नालाजी के स्तर पर भी कई नए कदम उठाये जा रहे हैं। डाकघरों की बचत बैंक सेवा को भी अब कोर बैंकिंग सोल्यूशन (सी.बी.एस.) से जोड़ा जा रहा है, जिससे कोई भी ग्राहक देश के किसी भी कोने में स्थित सी.बी.एस. डाकघर से अपना पैसा निकाल सकता है। इसके अलावा बीमा सेवा को भी मैककैमिश सॉफ्टवेयर के माध्यम से ऑनलाइन किया जा चुका है, इससे ग्रामीण स्तर पर भी बैंकिंग व बीमा क्षेत्रों में क्रान्तिकारी कदम का सूत्रपात होगा और डाकघरों के खाताधारक आने वाले दिनों में नेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग  एवं एटीएम सुविधाओं का लाभ उठा सकेंगे।  श्री यादव ने बताया कि सिरोही डाक मण्डल के 46 डाकघरों को कोर बैंकिग सोल्यूशन से जोड़ा जा चुका है तथा सिरोही प्रधान डाकघर, जालोर प्रधान डाकघर एवं आबूरोड उप डाकघर में शीघ्र ही एटीएम सेवा शुरू की जाएगी।

निदेशक डाक सेवायें श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि डाक विभाग का उद्देश्य समावेशी विकास के तहत शहरों के साथ-साथ सुदूर ग्रामीण अंचल स्थित लोगों को भी सेवाओं का त्वरित लाभ पहुँचाना है। इस क्रम में आई. टी. मॉडर्नाइजेशन प्रोजेक्ट के तहत ग्रामीण शाखा डाकघरों को भी ग्रामीण सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी के अंतर्गत  हाईटेक किया जायेगा और वहाॅँ पर नेटबुक व हैण्डहेल्ड डिवाइस भी दिया जायेगा ।  इसके साथ-साथ मोबाइल थर्मल प्रिन्टर , स्मार्ट कार्ड रीडर, फिंगर प्रिन्ट स्कैनर, डिजिटल कैमरा एवं सिगनेचर व दस्तावेज स्कैनिंग के लिये यन्त्र भी मुहैया कराया जायेगा ताकि ग्रामीण लोगों को इन सुविधाओं के लिये शहरों की तरफ न भागना पडे । 

डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने जिले के सभी पोस्टमास्टरों से रूबरू होते हुए कहा कि फील्ड में  उनकी और पोस्टमैन की कार्य गतिविधियाँ ही विभाग के प्रति लोगों की अवधारणा (इमेज) बनाती हैं, ऐसे में उन्हें ग्राहकों के प्रति ज्यादा संवेदनशील होने की जरुरत है। आज के प्रतियोगी दौर में यह सोचना कि  मात्र काउंटर पर सेवाएँ देकर जनता को आकर्षित किया जा सकता है, उचित नहीं है। ज्यादा राजस्व के लिए हमें खुद लोगों के पास जाना होगा, नियमित संवाद स्थापित करते हुए उन्हें सेवाओं और गुणवत्ता के बारे में जागरूक करना होगा, तभी लक्ष्यों की प्राप्ति हो सकेगी। श्री यादव ने विशेष अभियान चलकर हर घर में हर किसी के पास एक बचत/आवर्ती  खाता खोलने पर जोर दिया। जिले की 10 साल तक की सभी बालिकाओं को सुकन्या समृद्धि योजना से जोड़ने की भी बात कही।  उन्होंने सरकारी-अर्धसरकारी विभागों में डाक मेले लगाकर ”डाक जीवन बीमा” और ”ग्रामीण डाक जीवन बीमा” की लक्ष्य प्राप्ति पर भी जोर दिया। भारत सरकार द्वारा आरंभ की गयी जन सुरक्षा योजनाओं मसलन, प्रधान मंत्री सुरक्षा बीमा योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना एवं अटल पेंशन योजना से भी अधिकाधिक लोगों को जोड़ने की अपील की। 

समीक्षा बैठक के दौरान सिरोही मण्डल के डाक अधीक्षक श्री देवाराम पुरोहित ने कहा  कि डाक विभाग अपने ग्राहकों को बेहतर सेवा देने के लिए तत्पर है और इस दिशा में लोगों से समय-समय पर संवाद के साथ-साथ विभाग ने अपनी सेवाओं के व्यापक प्रचार-प्रसार पर भी जोर दिया है।  उन्होंने कहा कि सभी अधिकारीयों-कर्मचारियों को लक्ष्य प्राप्ति के लिए एकजुट होकर प्रयास करना होगा, ताकि इस वित्तीय वर्ष में अधिकाधिक राजस्व अर्जन किया जा सके। 

 बैठक के दौरान क्षेत्रीय कार्यालय, जोधपुर  से आए डाक विभाग के निरीक्षक श्री सुदर्शन सामरिया और  श्री राजेंद्र सिंह भाटी ने पावर प्वाइंट प्रजेंटेशन के माध्यम से विभाग की तमाम सेवाओं, नई परियोजनाओं और तदनुसार नित हो रहे बदलावों के बारे में जानकारी दी। 

 इस अवसर पर स्वागत संभाषण अधीक्षक डाकघर श्री देवाराम पुरोहित द्वारा, आभार ज्ञापन सहायक अधीक्षक श्री बी.एस. राजपुरोहित द्वारा एवं कार्यक्रम का संचालन श्री घनश्याम मिश्रा द्वारा किया गया।

राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र के डाक निदेशक कृष्ण कुमार यादव की सिरोही व जालोर जिले के कार्य की समीक्षा 
अधिकारी बदलें कार्यशैली 
(साभार : राजस्थान पत्रिका, 28 दिसंबर 2015)


Post a Comment