Thursday, October 22, 2015

डाक टिकटों पर भी रावण

रावण को भले ही बुराई का प्रतीक माना जाता हो, पर रावण पर तमाम देशों ने डाक-टिकट भी जारी किये हैं।  यहाँ तक कि भारत में भी रावण डाक-टिकटों पर अंकित हो चुका है। भारतीय मुखौटों की श्रृंखला के तहत 15 अप्रैल, 1974 को डाक विभाग ने सूर्य, चन्द्रमा, नरसिंह और रावण पर डाक टिकट जारी किये। ये डाक टिकट क्रमश: 20 पैसे, 50 पैसे, 1 रूपये और 2 रूपये के मूल्य वर्ग में जारी किये गए। इनमें रावण पर जारी डाक टिकट सबसे महँगा है। 

भारतीय डाक विभाग ने नवरात्र और दशहरा व दीपावली पर भी डाक टिकट जारी किये हैं। भारत के त्यौहार शीर्षक से वर्ष 2008 में जारी इन डाक टिकटों में दशहरा कोलकाता, दशहरा मैसूर और शुभ दीपावली शामिल हैं। डाक टिकटों के साथ जारी प्रथम दिवस आवरण पर रावण के पुतले का चित्र भी अंकित है। 


विजयदशमी बुराई पर अच्छाई की जीत प्रतीक है। यह दर्शाता है कि बुराई के भले कितने भी सिर क्यों न हो, अच्छाई के आगे सब झुक भी जाते हैं और कट भी जाते हैं। विजय दशमी के इस पर्व पर आइए हम दसों बुराईयों (काम, क्रोध, लोभ, मोह, मद, मत्सर, अन्याय, स्वार्थ, अहंकार और क्रूरता) पर यथासम्भव विजय प्राप्त करने को संकल्पित हों ! आप सभी विजय के पथ पर अग्रसर हों और आपका जीवन उन्नति और प्रगति के पथ पर सदैव बढ़ता रहे !! 
- कृष्ण कुमार यादव @ डाकिया डाक लाया 
Krishna Kumar Yadav @ http://dakbabu.blogspot.com/
Post a Comment