Sunday, January 6, 2019

Deen Dayal SPARSH Yojana Philately scholarship in Uttar Pradesh

उत्तर प्रदेश डाक परिमंडल द्वारा 35 विद्यार्थियों को दीन दयाल स्पर्श योजना के तहत 6000 रूपये वार्षिक स्कॉलरशिप  प्रदान की गई। इनमें 14 बालक और 21 बालिकाएं हैं। बच्चों में डाक टिकट एवं फिलेटली के प्रति रूचि बढ़ाने के उद्देश्य से डाक विभाग द्वारा यह स्कॉलरशिप योजना वर्ष 2017 में आरम्भ की गई थी। इसके तहत कक्षा 6 से 9 तक के विद्यार्थियों का चयन करके उन्हें स्कॉलरशिप दी जाती है।
विभिन्न स्कूली विद्यार्थियों को यह स्कॉलरशिप और प्रमाण पत्र उत्तर प्रदेश के चीफ पोस्टमास्टर जनरल श्री विनय प्रकाश सिंह ने लखनऊ (मुख्यालय) परिक्षेत्र के निदेशक डाक सेवायें श्री कृष्ण कुमार यादव, निदेशक मुख्यालय श्री राजीव उमराव सहित तमाम अधिकारियों-कर्मचारियों की उपस्थिति में मंथन हॉल में आयोजित एक कार्यक्र्म में दिया गया। 

इस अवसर को यादगार बनाने हेतु दीन दयाल स्पर्श योजना पर उत्तर प्रदेश डाक परिमंडल द्वारा  एक स्पेशल कवर (लिफाफा) भी जारी किया गया। 





संचार मंत्रालय, भारत सरकार ने देश भर में दीन दयाल स्पर्श (रुचि के रूप में डाक टिकटों में अनुसंधान के लिए छात्रवृत्ति) योजना नामक एक छात्रवृत्ति योजना शुरू की है। यह उन स्कूली बच्चों के लिए एक पैन इंडिया छात्रवृत्ति योजना है जिन्हें डाक टिकट इकठ्ठा करने में रुचि है। इस योजना का उद्देश्य स्कूली बच्चों की डाक टिकट संग्रहण में रूचि बढ़ाना है।
दीन दयाल स्पर्श स्कीम के अंतर्गत संचार मंत्रालय ने बच्चों को वार्षिक छात्रवृत्ति प्रदान करने का प्रस्ताव दिया है। इस योजना के अंतर्गत कक्षा VI से IX तक के छात्रों को शामिल किया जाएगा। हालांकि यह योजना केवल उन छात्रों को ही उपलब्ध है जो अच्छे शैक्षिक रिकॉर्ड रखते हैं और एक शौक के रूप में टिकट इकट्ठा करते हैं। यह योजना संचार मंत्रालय द्वारा डाक विभाग के माध्यम से कार्यान्वित की जा रही है।
स्पर्श योजना के अंतर्गत 920 छात्रों को एक रुचि के तौर पर डाक टिकट संग्रहण के लिए पुरस्कार दिए जाएंगे। नोटिस के अनुसार, प्रत्येक डाक सर्किल (राज्य) में एक प्रतियोगी चयन प्रक्रिया आयोजित की जाएगी जिसमें कक्षा VI, VII, VIII और IX प्रत्येक में से 10 छात्रों अर्थात अधिकतम 40 छात्रवृत्ति उपलब्ध कराई जाएगी। छात्रवृत्ति की कुल राशि 6000/- रुपये प्रति वर्ष अथवा 500/- रुपये प्रति माह होगी।

दीन दयाल स्पर्श योजना चयन प्रक्रिया

  • निष्पादन विभाग योजना के तहत सर्कल-वार छात्रों के नामांकन के लिए अधिसूचना प्रकाशित करेगा।
  • इस योजना की अधिसूचना जारी करते हुए विभाग परियोजनाओं के विषयों की सूची भी प्रदान करेगा।
  • इसके बाद, प्राधिकरण डाक-टिकट संग्रहण की एक सर्कल-वार प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता आयोजित करेगा। प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का प्रदर्शन छात्र की योग्यता का मूल्यांकन करेगा।
  • विभाग सर्कल स्तर पर एक समिति बनायेगा जिसमें डाक अधिकारी और डाक टिकट संग्रहण करने वाले प्रसिद्ध लोग शामिल होंगे। यह समिति छात्रों द्वारा प्रस्तुत डाक टिकट संग्रहण के काम का मूल्यांकन करेगी।

दीन दयाल स्पर्श योजना के लिए योग्यता मापदंड

इच्छुक छात्र योजना का लाभ उठाने के लिए निम्न योग्यता मापदंड पढ़ सकते हैं
  • भारत में मान्यता प्राप्त विद्यालयों में पढ़ाई करने वाले क्षात्र ही योजना के लिए योग्य होंगे।
  • छात्र का चयन केवल उस स्कूल से किया जाएगा, जिसमें फिलेटली क्लब होगा और छात्र को उस क्लब का सदस्य होना चाहिए।
  • हालांकि अगर स्कूल में फिलेटली क्लब नहीं है और छात्र जिसके पास निजी पत्राचार जमा खाता है उसे भी योजना में शामिल करने पर विचार किया जाएगा।
  • छात्र को अंतिम वर्ष की परीक्षा में न्यूनतम 60% अंक प्राप्त होने चाहिए, अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति समुदाय से संबंधित छात्रों को 5% छूट दी जाएगी।
इसके अलावा प्रतियोगिता में भाग लेने वाले हर स्कूल के लिए प्रसिद्ध फिलैटेलिस्टों में से चुना गया एक फिलेटली गुरु नियुक्त किया जाएगा। ये चयनित डाक-टिकट सलाहकार स्कूल स्तरीय फिलेटीली क्लब के गठन में मदद करेंगे।
इसके अलावा वे युवा और इच्छुक फिलैटेलिस्टों को मार्गदर्शन भी प्रदान करेंगे। वे उनकी इस रुचि को आगे बढ़ाने और इच्छुक फिलैटेलिस्टों को उनकी डाक टिकट परियोजनाओं आदि पर मार्गदर्शन करेंगे।
इच्छुक उम्मीदवार नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके इस योजना के दिशानिर्देश डाउनलोड कर सकते हैं।
दिशानिर्देश जानकारी PDF दस्तावेज में अंग्रेजी और हिंदी दोनों भाषा में उपलब्ध है।
Post a Comment